गैस, अपच या कब्ज… कोई भी हो समस्या, ये 5 योगासन दे सकते हैं आपको राहत

Updated on:3 June 2022, 13:28pm IST

पाचन संबंधी हर समस्या का उपचार झाग वाले पेय नहीं हैं और न ही हर बार कैप्सूल खाना आपकी सेहत के लिए सही होगा। इन सबसे पहले आपको योगाभ्यास पर भरोसा करना चाहिए।

1/6

2/6

अधो मुख श्वानासन (Downward-Facing Dog) - अपने हाथों और पैरों को सेट करने के लिए प्लैंक पोज़ में आएं। फिर, कूल्हों को ऊपर उठाएं, घुटनों और कोहनियों को सीधा करते हुए, शरीर के साथ एक उल्टा वी-आकार बनाएं। अब अपने हाथों को जमीन में दबाएं। इस मुद्रा को होल्ड करें और लंबी गहरी सांसें लें। नाभि की ओर देखें। सांस छोड़ते समय घुटनों को मोड़ें और प्लैंक पोज़ में लौटें।

3/6

सेतु बंध सर्वांगासन (Bridge Pose) - अपने पैरों को उठाकर ज़मीन पर रखें। सांस छोड़ें और अपने घुटनों को आगे की ओर खींचते हुए अपने भीतर के पैरों और बाहों को फर्श पर दबाएं। 10 गहरी सांसें लें, फिर धीरे-धीरे अपनी रीढ़ को नीचे की ओर झुकाएं और छोड़ें।

4/6

पद्मासन (Padmasana) - एक क्रॉस लेग स्थिति में चटाई पर बैठें और अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें। अपने दोनों हाथों को ज्ञान मुद्रा में लाएं। साथ ही, अपने अंगूठे के सिरे और तर्जनी को मिलाकर एक छोटा गोला बनाएं और उन्हें अपने घुटनों पर रखें। कुछ मिनटों के लिए इस मुद्रा में रहते हुए श्वास लें और छोड़ें।

5/6

बालासन (Child Pose) - इस आसान को करने के लिए योगा मैट पर पेट के बल लेट जाएं। अपने पैर की उंगलियों को एक साथ रखें और घुटनों को एक दूसरे से थोड़ा अलग रखें। श्वास लें और उसी समय अपने धड़ को आगे की ओर ले जाएं, अपने पेट को अपनी जांघों पर टिकाएं। आपका सिर चटाई को छूना चाहिए। अब चटाई को छूने के लिए अपने दोनों हाथों को सामने की ओर फैलाएं। कुछ देर इस पोजीशन को होल्ड करें और फिर प्रारंभिक स्थिति में वापस आ जाएं।

6/6

शलभासन (Locust Pose) - अपने पेट के बल लेट जाएं, अपने हाथों को अपनी तरफ करके और पैरों को फैला लें। आपके पैरों के बड़े पैर की उंगलियां एक साथ होनी चाहिए। अपने दोनों हाथों को पीचें रखें। सांस भरते हुए अपनी छाती और पैरों को जमीन से ऊपर उठाएं।

NEXT GALLERY