डेंगू-मलेरिया से बचाव और उपचार में मददगार हो सकते हैं ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्स

Published on:27 September 2021, 16:49pm IST
बारिश के मौसम में मच्छर पैदा होने से डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में चिकित्सीय उपचार के साथ - साथ आयुर्वेदिक उपायों का सहारा लेने से डेंगू और मलेरिया से बचाव किया जा सकता है।
dengue aur malaria ke liye ayurvedic herbs 1/5

नीम के पत्ते - नीम के पत्तों में चमत्कारी औषधीय गुण होते हैं। यह वायरस के विकास और प्रसार को बाधित करने में योगदान करते हैं। यह सफेद रक्त कोशिका प्लेटलेट और रक्त प्लेटलेट गिनती को बढ़ाने, प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में भी मदद कर सकते हैं। आप नीम की पत्तियों को थोड़े से पानी में उबालकर और छानकर पी सकते हैं।... अधिक पढ़ें

dengue aur malaria ke liye ayurvedic herbs 2/5

तुलसी के पत्ते - तुलसी का उपयोग आयुर्वेद में इसके विविध उपचार गुणों के लिए हजारों वर्षों से किया जाता रहा है। तुलसी में एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-कार्सिनोजेनिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एनाल ्जेसिक, एंटीपीयरेटिक और एंटी-एलर्जी गुण होते हैं। तुलसी के पौधे भी मच्छर भगाने का काम करते हैं, और मच्छरों से छुटकारा पाने के लिए इसके पत्तों के रस को मच्छरों के क्षेत्र में छिड़का जा सकता है। आप तुलसी का काढ़ा बना सकते हैं और इसके पत्तों को सुबह खाली पेट चबा सकते हैं।... अधिक पढ़ें

adrak ke fayde 3/5

अदरक पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए अच्छी होती है। चित्र : शटरस्टॉक

methi ke fayde 4/5

जानिए मेथी के फायदे। चित्र : शटरस्टॉक

dengue aur malaria ke liye ayurvedic herbs 5/5

गिलोय का जूस - गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। यह शरीर को फ्री रेडिकल्स पैदा करने वाली बीमारियों से लड़ने में मदद करती है। प्रतिदिन 5-10 मिलीलीट र गिलोय का रस लेने से रक्त में प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ जाती है, हीमोग्लोबिन बढ़ता है और आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने की शक्ति मिलती है।... अधिक पढ़ें