Menstrual Hygiene Day: इस स्लाइड से सिखाइए बेटी को पीरियड हाइजीन मैनेज करने का तरीका

Updated on:24 May 2024, 19:05pm IST

पहला पीरियड संभालना किसी के लिए भी चुनौती भरा हो सकता है। खासतौर से तब, जब उसके बारे में पहले से कुछ बताया न गया हो। तो आप ऐसी गलती न करें, क्योंकि यहां हैं आपकी बेटी के लिए पहले पीरियड को मैनेज करने की फुल प्रूफ गाइड।

early puberty ke baare mein myths 1/6

पहले पीरियड की आदर्श उम्र - पहले पीरियड के लिए औसत आयु 10 से 12 वर्ष के बीच है। अगर आपकी बेटी का बॉडी मास इंडेक्स औसत से अधिक है या उसे हार्मोनल असंतुलन की परेशानी है, तो पहली माहवारी जल्दी भी शुरू हो सकती है।

Period blood se kayi tarah ki badbu aa sakti hai 2/6

जब शुरू होंगे पीरियड्स - पीरियड शुरू होने के एकदम पहले योनि स्राव में वृद्धि, पेट के निचले हिस्से में ऐंठन, मुंहासे, पेट फूलना और मूड स्विंग्स हो सकते हैं। पहली माहवारी का रंग गहरेभूरे से चमकीले लाल से गहरे लाल तक हो सकता है।

Period clot hai chinta ka kaaran 3/6

पीरियड्स में कितना खून बहता है- पहले पीरियड में खून के हल्के धब्बे से लेकर हैवी फ्लो तक हो सकता है। पीरियड्स की अवधि 2 से 7 दिनों के बीच हो सकती है। पीरियड्स शुरू होने के बाद पहले3 वर्षों के लिए, फ्लो के दिनों की संख्या कम अधिक भी हो सकती है। कभी-कभी ये 2-3 महीनों में एक बार भी आ सकते हैं।

ye zaruri hai ki pads badalti rahen 4/6

क्या करें जब पहली बार दिखे पीरियड ब्लड- जब शौचालय का उपयोग करने के बाद खून देखते हैं या कपड़ों पर दाग लग जाते हैं, तो टिशू पेपर जैसी चीज़ तलाश करें और अपने अंडरवियर में अस्थायी रूपमें रखें। घर में मौजूद अपने से बड़े किसी ऐसे विश्वसनीय व्यक्ति को इस बारे में बताएं, जो आपको सैनिटरी नैपकीन लेने में मदद कर सके। पर्सनल हाइजीन के आधार पर, पीरियड हाइजीन प्रोडक्ट्स की रेंज पीरियड अंडरवियर, सैनिटरी नैपकिन और टैम्पोन से लेकर मेंस्ट्रुअल कप तक होती है।

zaruri nahi ki sabhi ladkiyon ko ek hi umra me periods aaye 5/6

क्या करें जब हों पीरियड क्रैम्पस- पेट के निचले हिस्से पर गर्म पानी की थैली का प्रयोग करें, गर्मा-गर्म लिक्विड पिएं दर्द से राहत के लिए पेरासिटामोल या मेफेनेमिक एसिड जैसे पेन किलर का उपयोग करें।

पीरियड मिथ को अपने दिमाग से निकाल दें। चित्र: शटरस्‍टॉक 6/6

कब है डॉक्टर से सलाह लेने की जरूरत - आपको गायनोकोलॉजिस्ट से सलाह लेनी चाहिए अगर 7 दिनों से अधिक समय तक लगातार खून बह रहा है। दो पीरियड्स के बीच का अंतर 20 दिनों से कम है, चक्कर आना/ थकान महसूस होने जैसी शिकायत है। आपको पीरियड्स के दौरान असहनीय दर्द का अनुभव होता है लेट पीरियड्स के साथ 45-60 दिन से अधिक अंतराल हो, तो डॉक्टर की सलाह लें ।