अदरक और काली मिर्च की चाय दे सकती है पीरियड क्रैम्प्स में राहत, जानिए ऐसे ही कुछ आसान नुस्खे

Updated on:20 November 2023, 15:37pm IST

हर महीने होने वाली महावारी दर्द, बेचैनी और असहजता लेकर आती है। इसके चलते पीठ और पेट के निचले हिस्से में दर्द महसूस होने लगता है। हर दम थकान का अनुभव रहता है। दरअसल, इस दौरान प्रोस्टाग्लैंडीन कंपाउंड का स्तर यूट्रस की लाइनिंग में बढ़ने लगता है। इन रेमिडीज़ से आप भी पीरियड क्रैम्प्स से राहत पा सकते है।

essential oil ke fayde 1/5

पेट की मसाज करें- एसेंशियल ऑयल की मदद से कुछ देर पेट की समाज करने से दर्द से राहत मिलने लगती है। इसके लिए एक कटोरी में नारियल या जोजोबा ऑयल डालें और उसमें कोई भी एसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदे मिलाकर पेट पर उससे 5 से 10 मिनट तक मसाज करें। इससे पेट की मांसपेशियों को आराम मिलता है। इसके लिए सर्कुलर मोशन में पेट पर दोनों हाथों से मसाज करें।... अधिक पढ़ें

Hydrate rehne ke liye peeyein paaani 2/5

खुद को हाइड्रेटेड रखें- शरीर में पानी की कमी के चलते एबडॉमिनल क्रैम्प्स बढ़ने लगते हैं। जो पीरियड साइकिल के दौराप पेट में दर्द का कारण बनने लगते हैं। इसके लिए दिनभर में करीबन आठ गिलास पानी अवश्य पीएं। इससे पेट में दर्द कम होता है और शरीर में ब्लड फ्लो भी नियमित बना रहता है। हेल्दी बॉडी के लिए हर थोड़ी देर में पानी पीएं। साथ ही कैफीन से भी दूरी बनाकर चलें।... अधिक पढ़ें

Tea combination to avoid 3/5

4/5

हीटिंग पैड अपने साथ रखें- पेट के निचले हिस्से में होने वाले कै्रम्प्स से मुक्ति पाने के लिए हीटिंग पैड को अपने पास करें। कुछ देर पेट की सिकाई करने से आपको काफी राहत महसूस होने लगतीहै। इसके अलावा आप हॉट वॉटर बॉटल का भी प्रयोग कर सकती है। इसे पेट के निचले हिस्से पर कुछ देर लगाए रखने के बाद ब्लैंकिट से खुद को कवर कर लें। इसके अलावा हॉट बाथ लेना भी आपको राहत पहुंचा सकता है। इससे पेट, पेल्विक और बैक मसल्स को राहत मिलती है।... अधिक पढ़ें

5/5

योग से होगा दर्द दूर- कुछ देर योग करने से भी पेट में दर्द की समस्या दूर होने लगती है। इसके लिए आप वृक्षासन, जानू शीर्षासन, भुजंगासन और बालासन भी कर सकती है। इससे पेट की मांसपेशियोंको राहत मिलने लगती है और उनमें होने वाली ऐंठन भी दूर हो जाती है। दिनभर में 10 से 15 मिनट के लिए किया गया योगासन आपको पीरियड कै्रम्प्स से राहत दिला सकता है। इसके अलावा आप कुछ एक्सरसाइज़ और वॉक भी अपने वर्कआउट रूटीन में शामिल कर सकते हैं।... अधिक पढ़ें