शरीर में जब बढ़ने लगता है कोलेस्ट्रॉल लेवल, तो पैरों में भी नजर आते हैं उसके लक्षण

Published on:7 September 2022, 22:35pm IST

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना आपकी हार्ट हेल्थ के लिए जोखिम कारक हो सकता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप इसकी दस्तक पहचानें। विशेषज्ञ मानते हैं कि शरीर के अन्य अंगों के अलावा कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के संकेत आपके पैरों में भी नजर आ सकते हैं।

1/7

बढ़ता कोलेस्ट्रॉल - शरीर में कोलेस्ट्रॉल का सामान्य होना दर्शाता है कि आपका हार्ट हेल्दी है। लेकिन अगर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई है, तो यह हृदय रोग के जोखिम को बढ़ाने वाला कारक है। बैड कोलेस्ट्रॉल का ज्यादा बढ़ना खराब खानपान और जीवनशैली का परिणाम हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

2/7

क्यों बढ़ जाता है कोलेस्ट्रॉल लेवल - अधिक वजन, पीसीओएस, डायबिटीज, ऑटोइम्यून डिजीज, एचआईवी, किडनी रोग, ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल भी बढ़ सकता है। शरीर के कई अंगों में हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल होने के संकेत नजर आते हैं, जिसमें चेहरा, सीना, हार्ट के साथ पैर भी शामिल हैं। जी हां, पैरों में भी हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण नजर आते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

3/7

हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत है पैरों में दर्द होना - हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर आपके पैरों के निचले भाग में दर्द रह सकता है। आपको जांघों या पिंडली (calves) में भी दर्द रह सकता है। यह दर्द मुख्य रूप से चलने-फिरने के दौरान महसूस होता है। उच्च कोलेस्ट्रॉल लेवल से ग्रस्त ज्यादातर लोग निचले अंगों में जलन की शिकायत महसूस करते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

4/7

सोते समय पैरों में ऐंठन होना - सोते समय क्या आपके पैरों में बार-बार ऐंठन या क्रैम्प की शिकायत होती है? यदि हां, तो यह हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के लक्षण हैं। इसका मतलब है कि यह आपके निचले लिम्ब्स की धमनियों को नुकसान पहुंचा रहा है। ये क्रैम्प अधिकतर एड़ी, पैर की उंगलियों में होता है। रात में सोते वक़्त यह परेशानी ज्यादा तकलीफदेह हो जाती है।

5/7

पैरों की स्किन और नाखूनों के रंग में बदलाव - पैरों में ब्लड सर्कुलेशन की कमी होने से नाखूनों और स्किन के रंग में बदलाव नजर आ सकता है। यह मुख्य रूप से इसलिए होता है, क्योंकि खून ले जाने वाले पोषक तत्वों और ऑक्सीजन के प्रवाह में कमी के कारण कोशिकाओं को उचित पोषण नहीं मिल पाता है। ऐसी स्थिति में स्किन और पैर के नाखून सख्त हो सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

6/7

पैरों का हमेशा ठंडा रहना - सर्दियों के मौसम में पैरों का ठंडा होना आम बात है, लेकिन अगर गर्मी और बारिश के मौसम में भी पैर ठंडे रहते हैं, तो यह हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत हो सकता है। इस परेशानी को बिना नजरअंदाज किए डॉक्टर को बताएं। कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने पर कुछ लोगों के पैर सुन्न भी रह सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

7/7

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचने के उपाय - हाई कोलेस्ट्रॉल इन दिनों बेहद कॉमन समस्या होती जा रही है। इसे सही वक़्त पर कंट्रोल नहीं करने से हार्ट से संबंधित बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। हेल्दी डाइट के सेवन, नियमित रूप से एक्सरसाइज करके, वजन को कंट्रोल में रखकर, एल्कोहल और स्मोकिंग से परहेज करके हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल से बचा जा सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

NEXT GALLERY