ऑफ सीजन में लेना है सीजनल फूड्स का मज़ा, तो मेरी मम्मी के ट्रेडिशनल तरीके से करें उन्हें स्टोर

Published on: 16 October 2021, 08:00 am IST

क्या आपको भी पूरे साल अपने फेवरिट फूड्स खाने का मन करता हैं? अगर ऐसा है तो खुश हो जाइए क्योंकि मेरी मम्मी के पास हैं बरसों पुराने नुस्खे जो इन फूड्स को स्टोर करने में मदद करेंगे।

store karne ke tarike
खाद्य पदार्थ स्टोर करने के लिए अपनाएं ये नुस्खे। चित्र: शटरस्टॉक

ऐसा अक्सर होता हैं जब आपको मौसम बीतने के बाद अपने फेवरिट फूड की याद आती हैं। यह क्रेविंग आपको मजबूर कर देती हैं क्योंकि उस वक्त इन फूड्स का मौसम जा चुका होता है। अपना मन मारने और अगले सीजन का इंतजार करने के अलावा आपके पास कोई विकल्प नहीं बचता। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा! जी हां, आप किसी भी मौसम में अपनी मनचाही डिश का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि मेरी मम्मी के पास हैं ‘बेस्ट स्टोरेज हैक्स’। आप भी इन हैक्स के साथ कुछ विशेष खाद्य पदार्थों को पूरे साल बिना खराब हुए स्टोर कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं इन लाजवाब तरीकों के बारें में। 

कुछ विशेष सब्जियों और फलों को स्टोर करने का मॉम्स मैजिक    

मेरी मम्मी पूरे साल मुझे हर तरह के फल और सब्जियों से बना स्वादिष्ट व्यंजन बनाकर खिलाती हैं। मुझे किसी विशेष मौसम आने तक नहीं रुकना पड़ता हैं। अगर आप भी ऐसी सुविधा का आनंद लेना चाहते हैं, तो जल्दी देखिए ये सुपर ईजी मॉम्स तकनीक को। 

1. जामुन (Berries)

स्वादिष्ट खट्टी-मीठी बेरीज से कभी मन नहीं भरता। यह पूरे साल खाओ तो भी कम लगता हैं। नाश्ते से लेकर हेल्दी स्नैक्स तक, बेरीज आपके डाइट का महत्वपूर्ण आइटम हैं। इसलिए अपने ताजे ब्लूबेरी को थोड़े से नारियल के तेल के साथ जमा दीजिए। जरूरत पड़ने पर उसे निकालें और मॉर्निंग स्मूदी का हिस्सा बनाएं।

Har mausam berries ka maja lene ke liye use store kare
हर मौसम बेरिज का मजा लेने के लिए उसे स्टोर करें। चित्र : शटरस्टॉक

अपने गर्मियों के फलों जैसे खुबानी (apricots), आड़ू (peaches), आलूबुखारा (plums), आदि का स्वाद सर्दियों में लेने के लिए आप इन्हें मीठे जैम की तरह बनाकर स्टोर कर सकती हैं। 

बेरीज को डिहाईड्रेट करके रखना भी एक अच्छा विकल्प हैं। पूरे साल इन बेरीज को खाने योग्य रखने के लिए मेरी मम्मी यह तरीका आजमाती हैं। बेरीज को अच्छे से धोकर सुखा लें। अब इसे ठंडे पानी के कटोरे में नींबू के रस के साथ छोड़ दें (ब्राउनिंग को रोकने के लिए)। उन्हें एक कटोरे में रखें। उन्हें पूरी तरह से सूखने तक सबसे कम सेटिंग पर डिहाइड्रेटर करें। 

2. ब्रोकली 

ब्रोकली एक हेल्दी डाइट का जरूरी हिस्सा हैं। लेकिन यह पूरे साल बाजार में उपलब्ध नहीं होती। आप इसे स्टोर करने के लिए उसे तब तक फ्रीज कर सकते हैं, जब तक कि आप इसे पकाने के लिए तैयार न हों। इस्तेमाल करने से पहले इसे उबलते पानी में जल्दी से ब्लैंच किया जाए। ताकि इसका हरा रंग वापस मिल सके। 

3. हरी बीन्स 

वेजी-पैक सूप या सलाद के लिए हरी बीन्स को संरक्षित करना जरूरी हैं। इसके लिए मेरी मम्मी उन्हें 30 सेकंड के लिए उबलते पानी में ब्लैंच करती हैं, और फिर उन्हे बर्फ वाले ठंडे पानी में डूबा देती हैं। इसके बाद अपने माइक्रोवेव में डाल देती हैं। एक बार सख्त होने के बाद, वो उन्हें बैग में रखकर फ्रीजर में स्टोर कर देती हैं। 

hari beans ko aap store kar sakte hai
हरी बीन्स को भी कर सकते हैं स्टोर।चित्र: शटरस्‍टॉक

4. हरे पत्तेदार साग 

हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत नाजुक होती हैं और यह जल्दी खराब हो सकती है। मेरी मम्मी का कहना है कि आप वास्तव में इन्हें भी डिहाईड्रेट करके बाद में इस्तेमाल कर सकते है। पत्तों को डिहाईड्रेट करने के बाद एक बॉक्स में रखकर स्टोर करें। बाद में उनका उपयोग करने के लिए, उन्हें स्मूदी में क्रम्बल करें या सूप के रूप में सेवन करें। 

5. टमाटर 

एक बार जब देसी टमाटर पूरी तरह पक जाते हैं, तो उनके स्वाद को स्टोर करने के लिए बस उन्हें धो लें , सुखा लें और उन्हें पूरी तरह से फ्रीज कर दें। फिर उपयोग करने से पहले उन्हें पिघला दें। मेरी मम्मी इन स्वादिष्ट टमाटरों के स्वाद को पूरे साल इस्तेमाल करने के लिए उन्हें सॉस के रूप में तैयार करके स्टोर कर लेती हैं। 

टमाटर के इस सॉस को ज्यादा दिन तक रखने के लिए इसे केवल पका कर पेस्ट बना लें और फ्रिज में रख दें। कुछ महीनों बाद इसे बाहर निकालें और कुछ मिर्च, प्याज और पसंदीदा हर्ब्स मिलाकर खाएं। 

Tamatar store karne ke liye banaye unka sauce
टमाटर को स्टोर करने के लिए बनाएं उनका सॉस। चित्र : शटरस्टॉक

तो लेडीज, अपने परिवार को हर मौसम फेवरिट फूड्स का स्वाद देने के लिए जल्दी अपनाएं मेरी मम्मी के नुस्खे। 

यह भी पढ़ें: फेस्टिवल सीजन में मेरी मम्मी का पसंदीदा मसाला है काली मिर्च, क्या आप जानते हैं इसके फायदे

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !