हेयर फॉल से निजात पाने के लिए आजमाएं 6 आयुर्वेदिक हर्ब्स से बना ये खास हेयर टॉनिक

कुछ खास सामग्रियां हैं, जिनके लिए मेरी मम्मी दीवानी हैं। हेयर फॉल हो या ड्राई हेयर, मेरी मम्मी सिर्फ आयुर्वेद की हर्ब्स पर भरोसा करती हैं। मुझे खुशी है कि अब एक्सपर्ट भी बालों के लिए इनसे बने हेयर टॉनिक की सलाह दे रहे हैं।
आयुर्वेदिक हर्ब्स बालों के लिए फायदेमंद है। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 2 November 2022, 20:00 pm IST
ऐप खोलें

बदलते मौसम में बालों का झड़ना आम परेशानी है। शुष्क हवाएं आपके बालों से नमी छीन लेती हैं। जिससे बाल ड्राई हो जाते हैं और झड़ने लगते हैं। मेरी मम्मी इन समस्याओं के लिए अपनी पुरानी हर्ब्स को अपनाने की सलाह देती हैं। वे मानती हैं कि आयुर्वेद में इन हर्ब्स को बालों के लिए संजीवनी बताया गया है। हालांकि मुझे अभी तक उनके इस ओल्ड फॉर्मूला पर ज्यादा भरोसा नहीं था। पर एक दिन इंस्टाग्राम स्क्रॉल करते हुए मुझे एक आयुर्वेदिक एक्सपर्ट मिलीं। जो इन्हीं हर्ब्स से बने हेयर टॉनिक के इस्तेमाल की सलाह दे रहीं थीं। आइए जानते हैं बालों के लिए कौन सी हैं वे खास हर्ब्स।

आयुर्वेद में कई वर्षों से जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया जाता रहा है। जिसके कोई साइड इफ्फेक्ट नहीं होते है और ये काफी प्रभावी भी होती हैं। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो आप भी अपनी रसोई में रखी कुछ चीजों को इस्तेमाल करके हेयर फॉल से निजात पा सकती हैं। तो चलिए बिना देर किए जानते हैं मम्मी और एक्सपर्ट के इस ट्रस्टेड हेयर टॉनिक के बारे में।

हेयर सीरम बालों को नमी प्रदान करता है। चित्र शटरस्टॉक

डॉ सोनल गर्ग, आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर हैं। वे कहती हैं कि मौसम के बदलने से मेरे बाल काफी झड़ रहे थे और मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं गंजा होने वाली हूँ। लेकिन कुछ जड़ी बूटियों से बने सीरम ने मेरी मदद की है जो आज में आपको भी बताने वाली हूं।

यहां हैं वे 6 आयुर्वेदिक हर्ब्स जो बदलते मौसम में आपके बालों को प्रोटेक्ट करती हैं

1. मेथी के बीज (Fenugreek Seeds)

मेथी के बीज में भरपूर मात्रा में प्रोटीन शामिल होता है, जो बालों के लिए बेहद आवश्यक होता है। इसके इस्तेमाल से गंजेपन, बालों का पतला होना और हेयर फॉल से राहत मिल सकती है। इसके अतिरिक्त, इसमें लेसिथीन भी होता है, जो बालों को नेचुरली मजबूत बनाने के साथ ही मॉइस्चराइज करने का भी कार्य करता है।

2. आंवला (Amla)

हेयर फॉलिकल्स में पाई जाने वाली डर्मल पैपिला सेल्स की कम होती संख्या हेयर फॉल का कारण बन सकती है। आंवले का अर्क पैपिला सेल्स की संख्या को बढ़ाकर हेयर ग्रोथ को बेहतर बनाता है।

यह भी पढ़े- शुरू हो रहा है महापर्व छठ, पूजा प्रसाद में शामिल गन्ना है आपकी सेहत के लिए लाजवाब

3. मुलेठी (Licorice)

मुलेठी की जड़ से प्राप्त हाइड्रो-अल्कोहलिक अर्क में बालों को बढ़ाने के गुण होते हैं। यह बालों को झड़ने से रोकता है और हेयर ग्रोथ को बढ़ावा देता है।

भृंगराज बालों के लिए आयुर्वेदिक उपाय है। चित्र:शटरस्टॉक

4. भृंगराज (Bhringraj)

भृंगराज को केशराज के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इसका इस्तेमाल बालों के लिए लाभदायक होता है। भृंगराज में मौजूद मेथनॉल नामक पोषक तत्व हेयर ग्रोथ में सहायता करता है।

5. जटामांसी (Jatamansi)

जटामांसी में हेयर फॉलिकल्स को मजबूत करने और हेयर फॉल को रोकने की भी क्षमता होती है।

6. सोंठ पाउडर (Ginger Powder)

सोंठ में एंटीमाइक्रोबियल गुण मौजूद होते हैं। बैक्टीरियल इन्फेक्शन की वजह से भी बाल झड़ने की परेशानी होने लगती है। ऐसे में सोंठ का इस्तेमाल काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

सीरम के लिए आवश्यक सामग्री और बनाने का तरीका

मेथी के बीज का पाउडर- 1 चम्मच
आंवला- 1 चम्मच
मुलेठी- 1 चम्मच
भृंगराज- 1 चम्मच
जटामांसी- 1 चम्मच
सोंठ पाउडर- 1 चम्मच
पानी- 1 गिलास

  • इन सभी जड़ी-बूटियों को रात भर के लिए पानी में भिगो दें।
  • सुबह इस मिश्रण को लगभग 8-10 मिनट तक मीडियम फ्लेम पर उबाल लें।
  • अब इसे टॉनिक को ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  • जब ये ठंडा हो जाए तब इसे छानकर स्प्रे बोतल या ड्रॉपर में स्टोर करें।
  • इस हेयर टॉनिक को फ्रिज में रखना न भूलें।
  • कम से कम 21 दिनों तक नियमित रूप से पूरे स्कैल्प पर लगाएं।

यह भी पढ़े- डायबिटीज कंट्रोल कर सकती हैं इस मौसम में आने वाली ये 7 सब्जियां, एक्सपर्ट बता रहीं हैं कैसे

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story