चेहरे पर लानी है फूलों सी ताज़गी, तो इन 5 फूलों से बनाएं DIY फेस मास्क 

यदि स्किन पर एक्ने, पिंपल्स, पिगमेंटेशन की समस्या है, तो गुलाब, लेवेंडर, गेंदा, चमेली और कमल, इन पांच फूलों का प्रयोग चेहरे पर करें। ये पांचों फूल स्किन केयर के लिए बेहतरीन हैं।

skin ke liye faydemand phool
गुलाब, गेंदा, चमेली, कमल, लेवेंडर-ये सभी फूल स्किन के लिए बहुत लाभकारी हैं। चित्र: शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 21 September 2022, 19:12 pm IST
  • 129

फूलों और पत्तियों का ऑल्टरनेटिव मेडिसिन के रूप में प्रयोग हजारों वर्षाें से होता आया है। मां कहती हैं कि हमारे आसपास उगने वाले पांच फूल स्किन की हर समस्या को दूर करने में मदद करते (5 flowers benefits for skin) हैं। गुलाब, लेवेंडर, गेंदा, चमेली और कमल, ऐसे फूल हैं, जो हमारी त्वचा को बहुत अधिक फायदा पहुंचाते हैं। इन फूलों हुईं अब तक की सभी रिसर्च ये साबित करती हैं कि फूल हमारी त्वचा के सबसे अच्छे मित्र हैं। आइए जानें त्वचा के लिए फूलों के फायदे और इन्हें इस्तेमाल (How to use flowers for skin) करने का तरीका। 

फूलों में मौजूद तत्व स्किन को रिपेयर करते हैं और हाइड्रेट कर एक्ने-पिंपल्स को हमेशा के लिए खत्म कर देते हैं। यही वजह है कि इनका प्रयोग ज्यादातर ब्यूटी प्रोडक्टस में किया जाता है। 

जानिए आसानी से मिलने वाले उन 5 फूलों के बारे में जो आपकी स्किन के लिए फायदेमंद हैं 

गुलाब, लेवेंडर, गेंदा, चमेली और कमल ये ऐसे फूल हैं, जो भारत में कहीं भी आसानी से मिल जाते हैं। इनका अगर त्वचा के लिए इस्तेमाल किया जाए तो वे त्वचा संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा दिला सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में और भी विस्तार से- 

1 गुलाब (Rose)

रोज पाउडर, रोज वाटर, फेसमास्क, लोशन, नाइट क्रीम। ये सभी ब्यूटी प्रोडक्ट्स हैं, जिनका प्रयोग हम आम तौर पर रोजाना किया करते हैं। यदि गुलाब की पंखुड़ियों को हम अपनी स्किन पर सीधे प्रयोग करें, तो वे ये सभी फायदे दे सकती हैं। 

पबमेड सेंट्रल के फूड साइंस एंड न्यूट्रीशन में वर्ष 2018 में शोध पर आधारित एक आलेख प्रकाशित हुआ। के सर्बतली और नित्यानंद, कुमार भंडारी सिंह, मसेक लाटोस, चेजिजंसका और जबोरस्की की टीम ने गुलाब की पंखुड़ियों पर स्टडी की। इसके आधार पर उन लोगों ने यह निष्कर्ष निकाला कि गुलाब की पंखुड़ियों के सत्व में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। 

साथ ही इनमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी माइक्रोबायोलॉजिकल एक्टिविटी भी होती हैं। जब आपकी त्वचा अल्ट्रावायलेट किरणों के संपर्क में आती है, तब गुलाब की पंखुड़ियों में मौजूद  एंटी इनफ्लेमेटरी तत्व उसकी रक्षा करते हैं। 

कैसे करें प्रयोग

4-5 टेबलस्पून डिस्टिल वॉटर में 1 गुलाब की पंखुड़ियों को कुछ देर के लिए भिगो कर छोड़ दें।

कुछ देर बाद पानी में पंखुड़ियों को अच्छी तरह मसल लें। इसमें 2 टीस्पून हनी मिला दें।

इस मिक्सचर को चेहरे पर लगाएं।

आधे घंटे बाद चेहरा धो लें।

 2 लेवेंडर (Lavender)

आमतौर पर लेवेंडर का प्रयोग एसेंशियल ऑयल के तौर पर किया जाता है। इसके  चिकित्सकीय गुण इसे त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में मददगार बनाते हैं। 

पबमेड सेंट्रल की एक स्टडी पीर होसन कूलिवैंड, मरयम घडिरी और अली गोरजी द्वारा की गई। इसमें बताया गया कि लेवेंडर ब्रेन पर काम करने के साथ-साथ स्किन पर भी काम करता है। इसमें लिनालूल, लिनालाइल एसीटेट, सिनोल, टर्पिनेन और कपूर जैसे तत्व मौजूद होते हैं, जो स्किन के लिए बेहद फायदेमंद हैं। 

इससे सीबम प्रोडक्शन बैलेंस होता है। स्किन पर एक्ने पिंपल्स नहीं हो पाते हैं। यह एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टी का होता है।

कैसे करें प्रयोग

लेवेंडर की पंखुड़ियों को उबाल लें।

इसमें 2 चम्मच ओट्स मिलाकर पीस लें।

इसे चेहरे पर लगा लें।

आधे घंटे बाद चेहरा धो लें।

3 गेंदा (Marigold)

कोरिया के रिसर्चर चुल हो कांग ने गेंदे के फूलों पर स्टडी की। इसके आधार पर उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला कि गेंदे में मीथेनॉल एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। यह एंटी एजिंग इफेक्ट वाला होता है। इसमें मौजूद पॉलीफेनॉलिक और फ्लेवनॉयड कंटेंट कोलेजन सिंथेसिस को बढ़ा देता है। इससे फोटो एजिंग, ऑक्सीडेटिव डेमैज से स्किन बची रहती है।

कैसे करें प्रयोग

गेंदे के 1फूल की पंखुड़ियों को पीस कर इसमें 1 चम्मच चावल का आटा मिक्स कर दें।

gende ke phool se balon ko fayda
एक्ने पिंपल्स से छुटकारा दिला कर नेचुरल ग्लो लाता है गेंदे का फूल।
चित्र : शटरस्टॉक

इसमें 1 टीस्पून नींबू का रस मिला लें।

चेहरे पर अच्छी तरह लगाएं।

आधे घंटे बाद इसे साफ कर सकती हैं।

4 चमेली (Jasmine)

वर्ष 2010 में वनस्पति विज्ञानी जे.के. श्रीवास्तव, ईश्वर शंकर और संजय गुप्ता ने स्किन पर चमेली के प्रभावों पर स्टडी की। चमेली में टरपीनॉयड्स और फ्लेवनॉयड्स मौजूद होते हैं। ये तत्व फ्री रेडिकल्स को खत्म कर स्किन एजिंग को रोकते हैं। स्किन पर हुए बैक्टीरियल इंफेक्शन, हाइपर पिगमेंटेशन को खत्म कर स्किन को शाइनी बनाते हैं।

कैसे करें प्रयोग

चमेली के फूलों को 1 कप पानी में उबाल कर जैस्मिन टी तैयार कर लें।

इसमें 1 टीस्पून ऑलिव ऑयल और 1 टीस्पून शुगर मिला लें।

इस मिश्रण को अंगुलियों के पोरों से चेहरे पर धीरे-धीरे लगाएं।

यह स्क्रब का काम करेगा।

आधे घंटे बाद ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।

5 कमल (Lotus)

महाराष्ट्र के आर. जी. एस. फार्मेसी कॉलेज की वनस्पति विज्ञानी वी नमिता, स्वाति पगारे के अनुसार, कमल की पंखुड़ियों में एंटी रिंकल, एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए इसका प्रयोग एंटी एजिंग कॉस्मेटिक्स में खूब होता है। इसमें मौजूद अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड स्किन को एक्सफोलिएट करता है, जिससे स्किन साफ और स्वस्थ दिखती है।

kamal ke phool
कमल का फूल एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुणों वाला होता है। चित्र:शटरस्टॉक

कैसे करें प्रयोग

कमल के 1 छोटे फूल में 1 टेबलस्पून कच्चा दूध और 1 टीस्पून शहद मिला लें।

इस मिक्सचर को चेहरे पर लगा लें।

आधे घंटे बाद चेहरे को धो लें।

यह भी पढ़ें:-बेल की पत्तियों के ये 4 DIY हैक्स बालों को जड़ाें से मजबूत बनाकर उनकी ग्रोथ बढ़ाएंगे 

  • 129
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory