वैलनेस
स्टोर

#ProudToBleed : पीरियड्स में हर बार काम आते हैं मम्‍मी के बताए ये 5 नुस्‍खे

Published on:24 May 2021, 14:54pm IST
माहवारी और उसके साथ आने वाली समस्‍याओं से हम बच नहीं सकते। पर शुक्र है कि मां के खजाने में कुछ ऐसे उपाय हैं, जो हमें इन परेशानियों को बेहतर तरीके से संभालना सिखाते हैं।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
आजमाइए पीरियड्स में इन नुस्खों को. चित्र : शटरस्टॉक

मां के बताए हुए नुस्खे हर समस्या का इलाज कर सकते हैं, फिर चाहें छोटा सर्दी-जुकाम हो या पीरियड्स। यकीन मानिए मम्‍मी ने मुझे पीरियड्स के उन मुश्किल भरे दिनों को संभालले के जो नुस्‍खे बताए, वे अब भी मेरे काम आ रहे हैं। सबसे जरूरी बात कि ये सभी वैज्ञानिक तौर पर प्रमाणित भी हैं। तो आप भी अगर पीरियड्स में किसी तरह की परेशानी से जूझ रही हैं तो, इन नुस्खों को ज़रूर अपनाएं।

1 क्रैम्प्स में सिंकाई करना

”गर्भाशय एक मांसपेशी है, इसलिए हीट मांसपेशियों को आराम देने में मदद करती है। इसलिए पीरियड्स क्रैम्‍प्‍स में भी जैसे हीट देना फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, एविडेंस-बेस्ड नर्सिंग में प्रकाशित शोध में पाया गया कि गर्माहट देना या सिंकाई करना ऐंठन के लिए इबुप्रोफेन की तरह ही प्रभावी है।

द जर्नल ऑफ फिजियोथेरेपी में मार्च 2014 में प्रकाशित एक समीक्षा में यह भी पाया गया कि सिंकाई पीरियड्स के दर्द को कम करने में काफी मददगार है।

2 निचले पेट पर गर्म तेल की मालिश

पुराने समय से ही दर्द में तेल मालिश करने का उपाय बड़ा ही कारगर रहा है। आज भी मासिक धर्म की ऐंठन को दूर करने के लिए गर्म तेल से मसाज करना एक बेहतरीन उपाय है।

काद जर्नल ऑफ ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनेकोलॉजी रिसर्च में प्रकाशित शोध के अनुसार, सुगंधित एसेंशियल ऑयल से निचले पेट की मालिश करने से ऐंठन में राहत मिलती है। आप मालिश करने के लिए अपना मनपसंद कोई भी तेल चुन सकती है।

अजवाइन का सेवन करने से पीरियड्स में मदद मिल सकती है । चित्र: शटरस्‍टॉक

3 इर्रेगुलर पीरियड्स के लिए अजवाइन का पानी

मम्मी हमेशा अजवाइन का पानी पीने की सलाह देती हैं जब भी मेरे पीरियड्स लेट हो जाएं। अजवाइन पीरियड्स को नियमित करने के लिए काफी कारगर है और दर्द से भी राहत दिलाती है। बस जब भी आपको लगे कि आपके पीरियड्स लेट हो गये हैं, तो कुछ दिन सुबह खाली पेट अजवाइन का पानी पिएं। इसके लिए आपको एक चम्मच अजवाइन को दो गिलास पानी में उबालना है और आधा रह जाने पर छानकर पीना है।

4 ताकत के लिए बादाम का हलवा

मां हमेशा पीरियड्स में बादाम का हलवा बनाकर देती हैं। उनका कहना है कि इसे खाने से ताकत आती है और कमजोरी नहीं रहती। बादाम में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम होता है, जो आपकी मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूती देता है। इसे खाने से मस्तिष्क भी तेज़ होता है और पेट भी भरा रहता है।

5 देसी घी और सोंठ

अदरक की तरह ही सोंठ भी महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होती है। मां एक चम्मच देसी घी के साथ सोंठ और मिश्री डालकर खिलाती हैं, जिससे तेज़ दर्द में राहत मिलती है। सोंठ एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो पीरियड्स में आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकती है। यह एक पुराना नुस्खा है जो ताकत भी देता है और तुरंत आराम भी।

ध्‍यान रहे

ये सभी घरेलू उपाय हैं, जिन्‍हें मैंने अपनी मां से और उन्‍होंने अपनी मां से सीखा। पर जरूरी नहीं कि यह सभी पर एक जैसा काम करें। इसलिए किसी भी चीज के सेवन से पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श जरूर कर लें

यह भी पढ़ें : अपच, गैस और पेट की चर्बी : तीनों से छुटकारा दिला सकता है भुना हुआ जीरा और काला नमक

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।