अगर आपका स्लीपिंग पैटर्न बिगड़ गया है, तो मेरी मम्मी करती हैं इन आदतों को बदलने की सिफारिश

अच्छा नींद बेहतर दिन के लिए जरूरी है। पर अगर आपका स्लीपिंग पैटर्न ही बिगड़ गया है, तो आपको मेरी मम्मी की यह सलाह जरूर माननी चाहिए।
अपने स्लीपिंग पैटर्न को न बिगाड़ें। चित्र:शटरस्टॉक
अदिति तिवारी Published on: 23 January 2022, 14:00 pm IST
ऐप खोलें

जब बात नींद की आती है, तो सबका अपना समय और सोने का तरीका है। कोई अपने आहार पर फोकस करता है, तो कोई अपने कमरे के वातावरण पर जोर डालता है। क्वॉलिटी स्लीप के लिए वन साइज फिट्स ऑल वाली तरकीब काम नहीं करती है। आप बेहतर नींद के लिए अनंत प्रयोग करते हैं- मेडिटेशन, स्लीपिंग पिल्स, गुनगुने पानी से हाथ-पैर धोना और अन्य बेडटाइम रिचुअल्स। लेकिन क्या इतने प्रयत्नों के बाद भी आप अच्छे नींद के लिए जूझ रहें हैं? तो मेरी मम्मी का मानना है कि अब आपके डेली रूटीन हेबिट्स को बदलने का समय आ गया है।

मम्मी और साइंस दोनो मानते हैं कि बेहतर नींद स्वस्थ जीवन की कुंजी है

काम की व्यस्तता या तनाव की वजह से अगर मेरा स्लीपिंग पैटर्न बाधित होता है, तो मेरी मम्मी इसकी निंदा करती हैं। उनके अनुसार स्वस्थ आहार के साथ पर्याप्त नींद व्यक्ति के सम्पूर्ण विकास के लिए आवश्यक है। साइंस भी इस बात का समर्थन करता है। रात की अच्छी नींद लेना आपके स्वास्थ्य के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है। वास्तव में, यह उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि संतुलित, पौष्टिक आहार खाना और व्यायाम करना।

नींद की कमी हो सकता है स्वास्थ्य जोखिमों का कारण। चित्र:शटरस्टॉक

हालांकि नींद की जरूरत हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। अधिकांश वयस्कों को प्रति रात 7 से 9 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है। नींद की कमी आपके स्वास्थ्य और सुरक्षा को खतरे में डाल सकती है। NCBI के शोध के अनुसार नींद की कमी मोटापा और अन्य सामान्य मृत्यु दर का कारण है। इसलिए यह आवश्यक है कि आप अपनी नींद को दैनिक आधार पर प्राथमिकता दें और उसकी रक्षा करें।

मम्मी कहती हैं, “इन आदतों को सुधारों तो नींद खुद सुधर जाएगी!”

1. सोने से ठीक पहले न नहाएं

अक्सर दिनभर के काम के बाद रात को नहाने से आप रिलैक्स महसूस करते हैं। लेकिन मेरी मम्मी सोने से पहले स्नान करने के खिलाफ है। निश्चित रूप से आपका स्टीम बाथ सोने से पहले आराम देता है लेकिन यह शरीर के तापमान को बढ़ा सकता है। साइंस भी इस बात की पुष्टि करता है कि अधिक तापमान में नींद की गुणवत्ता बिगड़ जाती है।

इसलिए मेरी मम्मी यह सलाह देती हैं कि स्वस्थ नींद के लिए सोने से एक या दो घंटे पहले स्नान करना होगा। ऐसा करने से आपके शरीर को वापस ठंडा होने के लिए पर्याप्त समय मिलता है।

2. देर तक सोने से बचें

एक और सामान्य आदत जिसका आप सब अभ्यास करते हैं। यदि आपकी रात की नींद बिगड़ती है, तो आप अगले दिन देर तक सोकर घंटो को पूरा करने की कोशिश करते हैं। मेरी मम्मी इस आदत के सख्त खिलाफ है। आपको लग सकता है कि आप अपने नींद की भरपाई कर रहें हैं, लेकिन रात में फिर से सोना मुश्किल हो जायेगा। रात की नींद आवश्यक होती है। लेकिन यदि आप हर दिन एक ही समय पर उठते हैं, तो यह आपके स्लीपिंग साइकिल को प्रभावित कर सकता है।

वास्तव में जब सोने का समय आता है तो आपकी नींद बिगड़ जाती है और आप फिर से नींद के लिए भूखे हो जाते हैं। आपके सोने का सही समय वास्तव में आपको ऊर्जा देता है। यह अगले दिन की फ्रेश शुरुआत का नींव है।

3. हाइड्रेटेड रहना है जरूरी

हाइड्रेशन बहुत आवश्यक है। दिनभर पर्याप्त पानी का सेवन रात में अच्छी नींद का कारण बन सकता है। मम्मी कहती हैं कि बहुत्बसे लोग रात में कई बार बाथरूम जाने के लिए जागते हैं। यह नींद में खलल पैदा करता है। ऐसे लोगों को अपने तरल पदार्थों के सेवन पर ध्यान देने की आवश्यकता है। बहुत से लोग दिन के दौरान पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं। इसलिए वे रात को अधिक प्यासे रहते हैं। सोने से पहले अधिक पानी का सेवन किडनी पर दबाव डालने के साथ आपको रात में जगा सकती है।

रात को ज्यादा पानी पीने से बचें।चित्र : शटरस्टॉक

इसका मतलब यह नहीं है कि अगर आपको प्यास लग रही है तो आपको पानी नहीं पीना चाहिए। लेकिन आपको केवल रात में ही नहीं बल्कि पूरे दिन हाइड्रेटेड रहना चाहिए। इसीलिए मेरी मम्मी पूरे दिन हाइड्रेटेड रहने के लिए प्रोत्साहित करती हैं ताकि रात में बैकलॉगिंग न हो।

4. सक्रिय रहना सीखें

एक सक्रिय और थका शरीर जल्दी सोता है। इसके लिए आप व्यायाम से लेकर घर के काम तक कर सकते हैं। जब तक आप अपने शरीर को पूरी तरह घुमा नहीं लेते और यह थक नहीं जाता, आपको सुकून भरी नींद मिलना मुश्किल है। यदि आप पूरा दिन एक ही चेयर या बिस्तर के एक कोने में निष्क्रिय बैठे रहते हैं, तो नींद न आना स्वाभाविक है। यह स्लीपिंग पैटर्न के साथ आपकी भूख को भी प्रभावित कर सकता है।

सोने से 4-5 घंटे पहले आप कार्डियो कर सकते हैं। यह हृदय गति को बढ़ाता है और फिर कुछ घंटे बाद आपका शरीर ठंडा होने लगता है। यह कूलिंग डाउन प्रक्रिया आपके मस्तिष्क में मेलाटोनिन रिलीज करने में मदद करता है।

तो लेडीज, अपने दैनिक आदतों में मेरी मम्मी द्वारा बताई इन बातों का ध्यान रखें और अपने स्लीपिंग पैटर्न को सुधारें।

यह भी पढ़ें: क्या आपकी उंगलियां भी सर्दियों में सूजने और जाम होने लगी हैं? मेरी मम्मी के पास है इसका उपचार

लेखक के बारे में
अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story