ये 3 ट्रेडिशनल सुपरफूड्स हैं सर्दियों में आपका रक्षा कवच, जानिए इनके फायदे

फैंसी फूड्स के इस ट्रेंड में पौष्टिक सुपरफूड्स की गुणवत्ता कहीं पीछे रह गयी है, हम बता रहे हैं ऐसेही कुछ अंडररेटेड विंटर सुपर फूड्स के बारे में।
Winter diet mein add kare turnip
इस ठंडी अपनी डाइट में शामिल करें शलजम। चित्र:शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 26 Dec 2023, 04:00 pm IST
  • 123

सर्दियां सभी को पसंद होती हैं, क्योंकि यह मौसम त्योहारों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के सुपर फूड्स को अपने साथ लेकर आता है। कई ऐसे खास सुपर फूड्स हैं, जो केवल ठंड के मौसम में ही मिलते हैं। ऐसे तो आप सभी बहुत से खाद्य पदार्थों के नाम जानती होंगी परंतु कुछ ऐसे विंटर सुपर फूड्स (Winter Superfoods) भी हैं, जिन्हें कहीं न कहीं लोग नजरअंदाज कर देते हैं। ये खाद्य पदार्थ अंडररेटेड रह जाते हैं, जिसका सबसे बड़ा कारण है, लोगों के बीच इन खाद्य पदार्थों के पोषक तत्वों से जुड़ी जानकारी की कमी।

तो चलिए आज हेल्थ शॉट्स के साथ जानते हैं, ऐसे ही कुछ अंडररेटेड खाद्य पदार्थों के नाम, जिनका सेवन सर्दियों में समग्र सेहत को बनाए रखने में आपकी मदद कर सकता है। न्यूट्रीफाई बाई पूनम डाइट एंड वैलनेस क्लिनिक एंड अकेडमी की डायरेक्टर पूनम दुनेजा ने ऐसे ही कुछ सुपरफूड्स के फायदे बताए हैं। तो चलिए जानते हैं, यह कौन से विंटर सुपरफूड्स हैं (Underrated Winter Superfoods) और यह सेहत के लिए किस तरह से फायदेमंद हो सकते हैं।

यहां जानें कुछ अंडर रेटेड विंटर सुपरफूड्स के नाम (Winter Superfoods)

1. शलगम

शलगम एक विंटर सुपरफूड है, जो कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत है। इसमें विटामिन सी और विटामिन के की भरपूर मात्रा मौजूद होती है। विटामिन सी आपके इम्यूनिटी को बढ़ावा देता है, और शरीर में आयरन के अवशोषण को बूस्ट करता है। वहीं विटामिन के ब्लड क्लॉटिंग को रोकते हैं, और हड्डियों की सेहत को बनाए रखते हैं।

turnip recipe
ग्लायसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण यह प्री डायबिटिक और डायबिटिक दोनों के लिए फायदेमंद होती है। चित्र : शटरस्टॉक

इसके साथ ही शलगम फाइबर से भरपूर होता है, और इसमें कैलरी की सीमित मात्रा पाई जाती है, जो इसे वेट लॉस के लिए बेहद खास बना देती है। इसके सेवन से व्यक्ति लंबे समय तक संतुष्ट रहता है और बार-बार भूख नहीं लगती।

इतना ही नहीं शलगम में मौजूद फाइबर पाचन क्रिया के लिए बेहद प्रभावी रूप से कार्य करते है और गट बैक्टीरिया को बढ़ावा देते है। इससे सर्दियों में कांसेपशियन की समस्या नहीं होती, साथ ही आंत में हल्दी बैक्टीरिया का ग्रोथ भी बढ़ जाता है। वहीं इसमें मौजूद विटामिन सी जैसे एंटीऑक्सीडेंट और अन्य फाइटोन्यूट्रिएंट फ्री रेडिकल्स के कारण होने वाले सेल डैमेज से बचाव में मदद करते हैं।

शलगम को डाइट में शामिल कर आप पोटैशियम की मात्रा को बनाए रख सकती हैं, जिससे कि ब्लड प्रेशर का स्तर स्वस्थ और सामान्य रहता है। वहीं पोटेशियम युक्त डाइट हृदय संबंधी समस्याओं के खतरे को कम कर देती हैं।

GOND KATERE KE FAYEDE
गोंद में कई गुण होते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक

2. गोंद

गोंद एक प्राकृतिक गम रेसिन है, जिसे एस्ट्रैगलस नामक एक पेड़ की छाल से प्राप्त किया जाता है। इसके उचित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए इसे आमतौर पर भारत और अन्य एशियाई देशों में खाया जाता है। गोंद कतीरा में कूलिंग और सूदिंग प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं, जो इसे पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद बनाती हैं।

इसका उपयोग अक्सर दस्त, कब्ज और पेट में सूजन जैसी स्थितियों के इलाज के तौर पर किया जाता है। इसके अतिरिक्त, गोंद यूरिन संबंधी समस्या और रेस्पिरेट्री प्रॉब्लम्स से राहत दिलाने में मदद करता है। गोंद में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा पाई जाती है जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में आपकी मदद करते हैं मजबूत इम्यूनिटी सर्दियों में होने वाले संक्रमण से बचाव में मदद करती है।

यह भी पढ़ें : लो फैट और शुगर फ्री हलवे की ये 2 रेसिपीज घोल सकती हैं आपके फैमिली टाइम में मिठास

इसके अलावा गोंद कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है, जो आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हुए सर्दी के मौसम में भी इसे फुर्तीला रहने में मदद कर सकती हैं। वहीं इसमें मौजूद फाइबर ब्लड शुगर लेवल को भी मेंटेन रखते हैं, इस प्रकार डायबिटीज के मरीज भी इसे अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

शरीर पर इसके गर्म प्रभाव के कारण सर्दियों में गोंद कतीरा का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसे विंटर सुपरफूड भी कहा जाता है। ठंड के महीने में, हमारा मेटाबोलिज्म धीमा हो जाता है, ऐसे में गोंद का सेवन शरीर को गर्मी और ऊर्जा प्रदान करता है। यह खांसी और सर्दी जैसी सामान्य बीमारियों को रोकने में भी मदद करते हैं।

green garlic
हरी लहसुन में सल्फर कंपाउंड पोषक तत्व पाया जाता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. ग्रीन गार्लिक

ग्रीन गार्लिक को स्प्रिंग गार्लिक के नाम से भी जाना जाता है यह वैसे लहसुन होते हैं जो पूरी तरह से बच्चे और नहीं हुए होते हैं लहसुन को जब क्लोव्स बनने के पहले ही जमीन से निकाल दिया जाता है तो हमें स्प्रिंग गार्लिक प्राप्त होता है यह सुपर फूड आम तौर पर सर्दियों में पाया जाता है और इसमें एक बेहतरीन फ्लेवर होता है साथ ही साथ ग्रीन गार्लिक स्वाद में भी कमाल के होते हैं

लहसुन में एलिसिन नामक एंटीऑक्सीडेंट कंपाउंड पाया जाता है। यह एक एक्टिव इनग्रेडिएंट है, जो कोलेस्ट्रॉल और इन्फ्लेमेशन के स्तर को कम करने के साथ ही सर्दी-खांसी और फ्लू के लक्षण पर नियंत्रण पाने में आपकी मदद करते हैं।

स्प्रिंग गार्लिक में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट इम्यूनिटी को बढ़ावा देते हुए ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण हुए सेल डैमेज को वापस से रीजेनरेट होने में मदद करते हैं। इसके अलावा लहसुन में मौजूद एलिसिन कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के खतरे को भी बहुत हद तक सीमित कर सकती हैं।

आप इन्हें सलाद, रायता, चटनी और सब्जी के साथ तरह-तरह के व्यंजनों में शामिल कर सकती हैं। इसका इस्तेमाल तरह-तरह के व्यंजनों में पोषण भी जोड़ता है, जिससे कि खाद्य पदार्थ अधिक खास हो जाते हैं। वहीं सर्दियों में स्प्रिंग अनियन से बना सूप पीना आपकी सेहत के लिए कमाल कर सकता है।

यह भी पढ़ें : Law of Attraction: आने वाले साल में खुद को पॉजीटिव और प्रोडक्टिव रखना है, तो समझें आकर्षण का सिद्धांत

  • 123
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख