मेरी मम्मी कहती हैं घुटनों और जोड़ों के दर्द से राहत दिलाती है तेल की मालिश! जानिए साइंस क्या कहता है

Published on: 22 October 2021, 12:35 pm IST

सर्दियों का मौसम एजिंग पेरेंट्स के लिए परेशानी भरा हो सकता है। खासतौर से उनके घुटनों और जोड़ों के लिए। पर क्या तेल की मालिश उन्हें इस स्थिति में आराम दिला सकती है?

joint pain 40 ki age ke baad
बढ़ती उम्र में जोड़ों का दर्द आम है। चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों ने दस्तक दे दी है और कुछ दिनों में ठंड बढ़ जाएगी। यह मौसम मेरी दादी मां के लिए काफी परेशानी भरा होता है। इस मौसम में उनकी पुरानी चोटें उभरने लगती हैं और जोड़ों में दर्द भी बढ़ जाता है। जिन लोगों के घुटनों में कोई समस्या नहीं होती, उनके भी ज्वाइंट्स में दर्द रहने लगता है या उनमें सूजन आने लगती है। मेरी दादी मां गठिया की रोगी हैं, इसलिए उनके लिए दर्द और भी गंभीर हो जाता है। पर मम्मी का भरोसा है तेल की मालिश पर। वे हर रोज रात को उनकी तेल से मालिश करना नहीं भूलती। दादी मां को तो इससे बड़ा आराम मिलता है। पर क्या साइंस भी इसका समर्थन करता है? आइए पता करते हैं।

घुटनों और जोड़ों के दर्द पर तेल की मालिश के असर के बारे में बात करने से पहले आइए जानते हैं कि ये सभी दर्द सर्दियों में ही क्यों ज्यादा परेशान करते हैं?

आखिर क्यों बढ़ जाता है सर्दियों में घुटनों का दर्द

सर्दियों के मौसम में जोड़ों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। ठंड स्वाभाविक रूप से मांसपेशियों को अधिक तनावग्रस्त और तंग महसूस कराती है। इस तनाव से जोड़ों की गतिशीलता और लचीलेपन में कमी आ सकती है।

ghutnon ke dard mein karein tel maalish
घुटनों के दर्द में करें तेल मालिश। चित्र: शटरस्‍टॉक

ठंड में शरीर अधिक गर्मी को बचाने की कोशिश करता है। इसके लिए यह शरीर के मध्य भाग में हृदय, फेफड़े और पाचन अंगों को अधिक रक्त भेजता है। नतीजतन, पैरों, घुटनों, बाहों, कंधों और अन्य जोड़ों में कम खून होता है।

जिससे जोड़ों में रक्त वाहिकाएं संकुचित हो जाती हैं। रक्त का कम प्रवाह उन क्षेत्रों को सख्त और ठंडा बना देता है, जिसके परिणामस्वरूप दर्द और परेशानी हो सकती है।

क्या तेल मालिश आपको घुटनों के दर्द से राहत दिला सकती हैं?

मेरी मम्मी आयुर्वेद की समर्थक हैं और उनका मानना है कि गुनगुने तेल की मालिश शरीर के किसी भी प्रकार के दर्द में राहत दे सकती है। असल में तेल मालिश एक पारंपरिक चिकित्सा है। वे इसे आसान, आरामदेह, किफायती और हानिरहित मानती हैं।

वैज्ञानिक रिसर्च भी कहती हैं कि तेल मालिश जोड़ों में दर्द को शांत करने में मदद करती है और थकावट से छुटकारा दिलाती है। मसाज थेरेपी हमारे शरीर को गर्म करती है और हमारी मांसपेशियों को आवश्यक परिसंचरण प्रदान करने में मदद करती है।

तो चलिये जानते हैं उन तेलों के बारे में, जो आपको जोड़ों के दर्द से राहत दिला सकते हैं

1. सरसों का तेल

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार सरसों का तेल – घुटने के दर्द सहित आपके शरीर की सभी तरह की बीमारियों को ठीक करने में बहुत फायदेमंद है। यह घुटने के आसपास की नसों में रक्त के प्रवाह को प्रोत्साहित करने और मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द को कम करने में मदद करता है। आप सरसों का तेल नियमित तौर पर गर्म करके लगाएं।

ghutnon ke dard ke liye faydemand hai mustard oil
घुटनों में दर्द के लिए फायदेमंद है मस्टर्ड ऑयल.। चित्र : शटरस्टॉक

2. नारियल का तेल

घुटने के दर्द के इलाज के लिए नारियल का तेल फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुणों के साथ-साथ लॉरिक एसिड का उच्च स्तर होता है। जो आपके घुटने के दर्द को कम कर सकता है।

3. जैतून का तेल

यह तेल मांसपेशियों में तनाव और जोड़ों में सूजन से राहत दिलाने के लिए अच्छा है। गर्म जैतून के तेल की मालिश दर्द को कम करने में मदद करती है और गठिया जैसे रोगियों के लिए राहत प्रदान करती है।

यह भी पढ़ें : आपके दिल और मांसपेशियों को कमजोर कर देती है एक्सरसाइज न करने की आपकी आदत, यहां हैं एक्सरसाइज न करने के नुकसान

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।