वैलनेस
स्टोर

मेरी मम्‍मी देती हैं हर रोज सौंफ खाने की सलाह, यहां है उनकी बात का वैज्ञानिक आधार

Updated on: 26 February 2021, 14:59pm IST
सौंफ का सेवन न केवल आपको ताजगी देता है,बल्कि यह आपको पाचन संबंधी समस्‍याओं से भी बचाता है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
सौंफ है सेहत के लिए बेहद फायदेमंद. चित्र : शटरस्टॉक

मेरी मम्‍मी हमेशा डायनिंग टेबल पर सौंफ की शीशी रखती हैं। वे मानती हैं कि सौंफ मुंह का स्‍वाद दुरुस्‍त करने के साथ ही पाचन तंत्र को भी बेहतर रखती है। घर हो या रेस्तरां, खाना खाने के बाद सौंफ देना एक परंपरा बन गई है। जबकि यह सुगंधित मसाला सब्‍जी का स्‍वाद बढ़ाने में भी कारगर है। पर क्‍या आप जानती हैं कि आयुर्वेद में इसे औषधीय माना गया है। आइए जानते हैं क्‍यों जरूरी है आहार में सौंफ को शामिल करना।

सौंफ के फायदों को विज्ञान भी मानता है

नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल इनफार्मेशन (NCBI) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में सामने आया कि सौंफ एक महत्वपूर्ण औषधीय पौधा है। जिसका उपयोग कई तरह के घरेलू, आयुर्वेदिक और एलोपथिक उपचारों के लिए किया जाता है। जैसे: पेट दर्द, कब्ज़, अपच, दस्त, मरोड, बुखार, पेट फूलना, अनिद्रा, चिड़चिड़ापन और गुर्दे की बीमारी आदि। सौंफ का बिना किसी गंभीर प्रतिकूल प्रभाव के लंबे समय से उपयोग किया जाता रहा है। वर्तमान में किए गए अध्ययनों से संकेत मिलता है कि सौंफ के कई स्वास्थ्य लाभ हैं और ये भोजन का एक महत्वपूर्ण घटक है।

सौंफ को आहार में शामिल करने के स्वास्थ्य लाभ

दूर होती है सांस की बदबू

सौंफ को लोग आमतौर पर खाने के बाद खाते हैं, क्योंकि यह माउथ फ्रेशनर का काम करती है। सौंफ के कुछ दानों को चबाने से ही सांसों की दुर्गंध दूर हो जाती है। सौंफ चबाने से मुंह में लार ज्यादा मात्रा में बनती है, जो बैक्टीरिया को दूर करने में मददगार हैं।

सौंफ खाने से दूर होती हैं साँस की बदबू । चित्र: शटरस्‍टॉक
सौंफ खाने से दूर होती हैं साँस की बदबू । चित्र: शटरस्‍टॉक

पाचन को दुरुस्त करती है सौंफ

सौंफ का उपयोग सबसे ज्यादा पाचन संबंधी समस्याओं से निजात पाने के लिए किया जाता है। आहार में सौंफ का प्रयोग करने से इरिटेबल बाउल सिंड्रोम जैसी पेट की गंभीर समस्याओं का खतरा कम होता हैं। इसके अलावा, ये पेट दर्द और गैस जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करती है। साथ ही अल्सर, दस्त और कब्ज आदि से राहत दिलाती है।

वजन कम करने में सहायक

फाइबर से भरपूर सौंफ बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में मददगार है। ये वजन तो कम करती ही है और शरीर में अतिरिक्त वसा को बनने से भी रोकती है। रोज़ सुबह एक बड़ा चम्मच सौंफ को एक लीटर पानी में उबाल कर पीने से वज़न भी कम होगा और बॉडी भी नेचुरली डिटॉक्स हो जाएगी।

अस्थमा और अन्य श्वास संबंधी समस्याओं में देती है राहत

सौंफ का इस्तेमाल आयुर्वेद में सदियों से श्वास संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जा रहा है। यह श्वास क्रिया को दुरुस्त रखती है और सौंफ में पाए जाने वाले पाइथोन्यूट्रिएंट्स अस्थमा से राहत देने में भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

आँखों की रौशनी बढाती है सौंफ । चित्र : शटरस्टॉक
आँखों की रौशनी बढाती है सौंफ । चित्र : शटरस्टॉक

आंखों की रोशनी बढ़ाती है

आंखों की छोटी-मोटी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सौंफ कारगर साबित हो सकती है। सौंफ में विटामिन-A और C मौजूद होते हैं, जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि किसी की आंखों में जलन या फिर खुजली हो रही है, तो सौंफ की भाप आंखों पर लेने से राहत मिलती है।

तो गर्ल्‍स, मेरी मम्‍मी की सलाह को मैंने तो हर रोज फॉलो करना शुरू कर दिया है। इतने सारे फायदे जानने के बाद मुझे उम्‍मीद है कि आप भी इसे जरूर ट्राय करेंगी।

यह भी पढ़ें : मम्‍मी कहती हैं बदलते मौसम में और भी ज्‍यादा जरूरी है पर्याप्‍त पानी पीना, यहां जानिए क्‍यों

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।