और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

मम्मी कहती हैं हमेशा साथ में खानी चाहिए सौंफ और मिश्री, मैंने साइंस में ढूंढा इसका कारण 

Updated on: 19 October 2020, 16:07pm IST
डायनिंग टेबल पर सौंफ और मिश्री यूं ही नहीं रखते,  बल्कि यह आपके खाने को पचाने मे मदद करता है। साथ ही इसमे मौजूद है कई चौकाने वाले गुण।
प्रेरणा मिश्रा
  • 69 Likes
सौंफ के साथ मिश्री का सेवन करने से

अक्सर मम्मी डायनिंग टेबल पर सौंफ और मिश्री रखती हैं और खाना खाने के बाद इसे खाने की सलाह देती हैं। हालांकि मुझे इसका फ्लेवर काफी पसंद है। पर मैं डाइट कॉन्शियस हूं, इसलिए मैं इसे हर बार नहीं खाती। अब जब नवरात्रि के दौरान मम्‍मी ने प्रसाद में भी सौंफ और मिश्री देना शुरू कर दिया, तो मुझे इस पर खोज बीन करनी ही पड़ी-  कि आखिर हमारी सेहत पर सौंफ और मिश्री का क्‍या असर होता है। 

मॉम असल में सबसे स्मार्ट होती हैं। उन्‍हें वो सब पहले ही पता होता है, जिसके लिए हम गूगल के समंदर छलांगें लगाते रहते हैं। सौंफ और मिश्री के सेहत पर असर जानने के लिए मैंने जितना भी टाइम रिसर्च में लगाया, उससे मैं इसी नतीजे पर पहुंची। मम्‍मी की छोटी से छोटी हरकत भी अपने आप में काफी लॉजिकल होती है। खासतौर से उनकी रसोई में मौजूद खजाने। 

असल में सौंफ और मिश्री का सेवन एक साथ करने से यह आपको पाचन तंत्र दुरुस्‍त करने से लेकर आपकी आवाज को बेहतर बनाने तक बहुत सारे लाभ मिलते हैं। 

सौंफ ( fennel seeds) क्यों जरूरी है खाने के बाद?

जर्नल ऑफ मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग प्रैक्टिस एंड रिसर्च में यह बताया गया है कि खाना खाने के बाद सौंफ का सेवन करने से आपका पाचन तंत्र  दुरुस्‍त रहता है। सौंफ का उपयोग पारंपरिक चिकित्सा के रूप में बहुत पहले से ही किया जाता आ रहा है। यह पाचन,एंडोक्राइन,रिप्रोडक्टिव और रेस्पिरेट्री सिस्टम सभी के लिए फायदेमंद है। इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड, फेनोलिक कंपाउंड, फैटी एसिड और अमीनो एसिड इसकी खूबियों को और बढ़ाते है।

आइए जानते हैं सौंफ के सेहत लाभ 

सौंफ का साइंटिफिक नाम फोएनिकुलम वलगेर ( Foeniculum Vulgare) है। सौंफ महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का एक भंडार है। यह कैलोरी में कम और विटामिन सी में बहुत समृद्ध है। सौंफ का सेवन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत बनाता है। साथ ही यह कोलेजन उत्पादन को उत्तेजित करता है। एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करते हुए यह मुक्त कणों को नष्ट कर देता है।

अब जानिए मिश्री के फायदे 

मिश्री (Mishri) को रॉक शुगर (Rock Sugar) भी कहा जाता है। रॉक शुगर पाचन को बढ़ावा देने के लिए सौंफ के साथ भोजन के बाद हम आम सामग्री में इसका सेवन करते है। यह एक अद्भुत माउथ फ्रेशनर के रूप में भी काम करता है।

मिश्री एक बचावकर्ता के रूप में कार्य करता है, क्योंकि यह न केवल हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है, बल्कि शरीर में रक्त परिसंचरण में भी सुधार करती है।

तो क्‍या है अंतिम निर्णय 

इन दोनों की खूबियां खुद में एक अद्भुत है। पर इन दोनों का मिश्रण आपको कई फायदे पहुंचा सकता है। सौंफ को जब आप मिश्री के साथ खाते हैं तो यह आपके गले में खराश से भी आराम दिलाती है। 

तो नवरात्रि प्रसाद में जब आपको सौंफ और मिश्री मिल रही हो, तो उसे मना मत कीजिएगा। क्‍योंकि अब तो आप जान ही गईं हैं कि यह आपकी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद हैं। 

प्रेरणा मिश्रा प्रेरणा मिश्रा

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं।