वैलनेस
स्टोर

माँ कहती हैं कान में दर्द से तुरंत राहत देता है लहसुन का तेल, साइंस ने भी दी है मंजूरी

Updated on: 11 December 2020, 19:31pm IST
कान में दर्द होने पर मम्मी के कुछ घरेलू नुस्खे हमेशा असरदार साबित होते हैं। लेकिन हमने पता लगाया है मम्मी के इन नुस्खों के पीछे का विज्ञान।
विदुषी शुक्‍ला
  • 83 Likes
लहसुन आपको डैंड्रफ से भी छुटकारा दिला सकता है। चित्र- शटरस्टॉक।

सर्दियों में कान का दर्द अक्सर परेशान करता है। कान के दर्द के पीछे कई कारण हो सकते हैं, बैक्टीरिया इंफेक्शन से लेकर कान में फोड़ा या दांत का दर्द भी कान के दर्द के लिए दोषी हो सकता है। कान के दर्द के लिए ईयर ड्रम पर जमा वैक्स भी जिम्मेदार हो सकता है। लेकिन ठंडी हवा में मौजूद नमी का कान में चले जाना प्रमुख कारण है। यूं तो कान का दर्द कोई गम्भीर समस्या नहीं है़, लेकिन ये दर्द चैन भी नहीं लेने देता। कान का दर्द बढ़कर गले, जबड़े और सिर में भी हो सकता है। ये बहुत असहज स्थिति होती है और हम तुरन्त राहत ढूंढते हैं।

मैं उन चुनिंदा लोगों में से एक हूं जिन्हें सामान्य से ज्यादा ठंड लगती है। जरा सी ठंडी हवा लग जाये तो कान में दर्द शुरू हो जाता है। बचपन मे जब भी मुझे कान में दर्द की समस्या होती थी, तो मम्मी अपने चमत्कारी तेल से चुटकियों में ठीक कर देती थीं। ना मैंने कभी पूछा कि क्या लगाती हैं न उन्होंने बताया।

जब दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड और घर से दूर मुझे कान दर्द ने सताया तो मैंने मम्मी से उनके सीक्रेट नुस्खे को जानने की मांग की।

ये भी पढ़ें- कानों को नुकसान पहुंचा रहे हैं ईयरफोन और हेडफोन, जानिए दोनों में से क्‍या है कम नुकसानदेह

लहसुन का तेल है मम्मी का भरोसा

मम्मी ने बताया कि वो मेरे कान के दर्द के लिए लहसुन के तेल का इस्तेमाल करती हैं। अब लाजमी सा सवाल है कि लहसुन का तेल तो बाजार में नहीं मिलता। ना इसका कोई एसेंशियल ऑयल बाजार में उपलब्ध है।

मम्मी कान के दर्द के लिए लहसुन के तेल का इस्तेमाल करती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

दरअसल इस तेल को बनाने के लिए आपको 4 से 6 लहसुन की कली लेनी हैं और उन्हें बारीक काट लेना है। अब इसे दो चम्मच नारियल या सरसों के तेल में मिलाएं और इस तेल को गर्म करें। माइक्रोवेव है तो इसे बस 30 से 40 सेकंड हीट करना है। अगर गैस पर कर रही हैं, तो धीमी आंच पर गर्म करना है। तेल में उबाल नहीं आना चाहिए।

इस तेल को छूने लायक गर्म होने दें और फिर रूई से लेकर कान के बाहर चारों तरफ लगा लें। जी हां, इस तेल को कान के अंदर नहीं डालना है, बल्कि बाहरी हिस्से में ही लगाना है। और फिर इस रूई से ही कान बन्द कर लें।
यकीन मानिए इस 10 मिनट के नुस्खे से मुझे कान दर्द से तुरन्त राहत मिली है और दोबारा दर्द शुरू भी नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें- किसी भी वजह से कान में है दर्द, तो ये घरेलू नुस्‍खे देंगे आपको इंस्टेंट रिलीफ

लेकिन क्या है इसके पीछे का विज्ञान

अब अगर आप भी मेरी तरह ही जिज्ञासु हैं तो आप भी यही सोच रहे होंगे कि इस तेल के काम करने के पीछे वैज्ञानिक सिद्धांत क्या है? ये जानने के लिए मैंने इस विषय मे की गई रिसर्च का सहारा लिया।

लहसुन में एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टी होती हैं, जो सूजन कम करता है। यही कारण है कि लहसुन कान के दर्द से राहत देने में कारगर है। लहसुन में एंटीबायोटिक प्रॉपर्टी भी होती हैं जिससे किसी भी इंफेक्शन के कारण होने वाले दर्द में आराम मिलता है।
जर्नल क्लिनिकल माइक्रोबायोलॉजी में प्रकाशित शोध में पाया गया कि लहसुन की एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टी इसे कान में बैक्टीरिया के कारण होने वाले दर्द के लिए बहुत असरदार बनाती हैं।

तो अब आप जानती हैं मम्मी के इस नुस्खे के पीछे का साइंस। कान का दर्द भगाना है तो लहसुन का तेल है रामबाण इलाज।

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।