रूप ही नहीं, स्किन की हेल्थ भी संवारती है मेहंदी, आयुर्वेद के हवाले से जानिए इसके फायदे

हरतालिका तीज के अवसर पर आपने भी जरूर मेहंदी से अपनी हथेलियां सजाई होंगी। मानसून के दौरान आपकी स्किन पर होने वाली बहुत सारी समस्याओं से निजात दिलाने का ये बरसों पुराना उपचार है।

mehndi on skin
मानसून के दौरान आपकी स्किन पर होने वाली बहुत सारी समस्याओं से निजात दिलाने का ये बरसों पुराना उपचार है। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 30 August 2022, 17:17 pm IST
  • 147

मेरी मम्मी अकसर हरितालिका तीज का व्रत रखती हैं। इस दिन हमारे घर में खासी चहल पहल होती है। अपनी मम्मी को सजते-संवरते देखना भी एक अलग ही आनंद देता है। तीज हो और मम्मी मेहंदी न लगाएं, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। वे अपनी सहेलियों और परिवार की अन्य महिलाओं के साथ मिलकर बड़े चाव से मेहंदी लगाती हैं। पर मेरी लॉजिकल मम्मी जो कभी, कोई भी काम बिना लॉजिक के नहीं करतीं, उनका मानना है कि मेहंदी मानसून में होने वाली स्किन प्रोब्लम्स से निजात दिलाती है। पर क्या वाकई ऐसा है? इसे जानने के लिए मैंने भी अपनी खोज शुरू कर दी है।

मेहंदी के बारे में क्या कहता है आयुर्वेद

आयुर्वेद के अनुसार मानसून में आपकी त्वचा को जिन समस्याओं से गुजरना पड़ता है, मेहंदी उन सबका उपचार है। कॉस्मेटिक्स को बनाने में इस्तेमाल होने के अलावा यह हर प्रकार की त्वचा से जुड़ी समस्याएं जैसे की खुजली, एलर्जी, स्किन रैशेज और घाव का एक उचित उपचार हो सकती है। इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी त्वचा के लिए प्रोटेक्टर के तरह काम करती हैं। इसके साथ ही मेहंदी बालों के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। यह बालों के लिए एक प्राकृतिक हेयर कलर के तौर पर इस्तेमाल की जाती है। इसके साथ ही हेयर ग्रोथ को प्रमोट करती है और बालों को शाइनी और सिल्की बनाए रखती है।

mehendi hair conditioner
स्कैल्प इन्फेक्शन से राहत के साथ नेचुरल हेयर कलर के तौर पर मेहंदी और रीठा इस्तेमाल करें। चित्र शटरस्टॉक।

आयुर्वेद के अनुसार मेहंदी की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसे त्वचा से जुड़ी समस्याओं में इस्तेमाल कर सकते हैं। इतना ही नहीं मेहंदी स्कैल्प स्किन के लिए भी फायदेमंद होती है। यह स्कैल्प से एक्सेस ऑयल को बाहर निकालती है और इसे ड्राई रखती है ताकि डैंड्रफ न हो।

मेहंदी की ताजी पत्तियों को इस्तेमाल करें। हालांकि, बाजार में कई प्रकार के मेहंदी पाउडर उपलब्ध है, परंतु इनमें कहीं न कहीं केमिकल्स की मात्रा मौजूद होती है। इसलिए इन्हें अप्लाई करने से पहले सावधानी बरतना जरूरी है।

इसमें मौजूद औषधीय गुण त्वचा से जुड़ी कई समस्यायों का एक प्रभावी उपचार हो सकते हैं। आपके मन में यह सवाल आना बिल्कुल उचित है कि मेहंदी का इस्तेमाल त्वचा पर कैसे किया जाए? तो आपको बता दें कि मेहंदी का तेल भी काफी प्रभावी होता है। आप त्वचा पर इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। चलिए जानते हैं आखिर किस तरह मेहंदी आपकी त्वचा की सेहत के लिए फायदेमंद होती है।

यहां जानें त्वचा के लिए किस तरह फायदेमंद है मेहंदी

1. एंटी एजिंग प्रॉपर्टी

मेहंदी में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसके साथ ही इसमें मौजूद एस्ट्रिजेंट एजिंग और रिंकल्स होने से रोकते हैं। यह त्वचा पर होने वाले दाग-धब्बों को भी कम करती है। इसके साथ ही इसमें मौजूद एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल इफेक्ट त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

skin ke liye faydemand hai mehandi ka tel
त्वचा के लिए फायदेमद है मेहंदी का तेल. चित्र : शटरस्टॉक

2. स्किन इंफेक्शन को रोके

आयुर्वेद की मानें तो मेहंदी में मौजूद एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी त्वचा से जुड़ी समस्याएं जैसे कि खुजली, एलर्जी और स्किन रैशेज में फायदेमंद हो सकती हैं। यह त्वचा की हेल्थ को बनाए रखने में मदद करती है।

3. स्कैल्प स्किन हेल्थ को बनाये रखे

आयुर्वेद के अनुसार मेहंदी में मौजूद प्रॉपर्टी और इसकी शीतलता स्किन के लिए मेडिसिन की तरह काम करती है। स्कैल्प से एक्सेस ऑयल को रिमूव करती है और ईसमय मौजूद एस्ट्रिजेंट स्कैल्प को ड्राई रखती है। यह स्कैल्प पर डेंड्रफ को जमा नही होने देता। इसके साथ ही स्कैल्प को इनफेक्शन और एलर्जी से बचाता है।

skin problem
केमिकल युक्त मेहंदी का इस्तेमाल करने से बचें। चित्र: शटरस्टॉक

4. घाव भरने में मदद करे

मेहंदी त्वचा पर हुए घाव को भरने और सूजन कम करने में मदद करती है। इसकी तासीर ठंडी होती है तो स्किन बर्न में भी इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। आयुर्वेद के अनुसार यह त्वचा पर होने वाले जलन को कम करने के लिए प्राकृतिक रूप से प्रयोग में लाइ जाती है।

यह भी ध्यान रखें

आयुर्वेद के अनुसार मेहंदी में कई औषधीय गुण होते हैं। जो बरसात के मौसम में होने वाली त्वचा संबंधी समस्याओं से निजात दिलाते हैं। पर ये लाभ आपको तभी मिल पाएंगे जब आप शुद्ध मेहंदी का प्रयोग करें। मिलावटी और केमिकल युक्त हिना कोन आपको लाभ की बजाए नुकसान दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें :  ये 5 लक्षण बताते हैं कि आपके बालों में है पोषण की कमी, जानिए इसके लिए क्या करना है 

  • 147
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें