ऐप में पढ़ें

#मम्मी कहती हैं कि मुल्तानी मिट्टी से मुंहासे गायब हो जाते हैं

Published on:6 May 2020, 14:39pm IST
लेडीज, मुल्तानी मिट्टी के गुणों को कम न समझें, इसमें आपके मुंहासों को गायब करने की ताकत है। इसे आप एंटी एजिंग रेमेडी भी मान सकती हैं।
मुल्तानी मिट्टी त्वचा के लिए मम्मियों का चमत्कारिक नुस्खा भी है। चित्र: शटरस्टॉक

आखिरकार, चेहरे पर मौजूद अत्यधिक तेल गंदगी और धूल के लिए एक चुंबक की तरह काम करता है। यह गंदगी जब चेहरे पर इकट्ठी होती है तो त्वचा के रोम छिद्रों को बंद कर देती है। मुंहासों के कारण आपका लुक ही नहीं आत्मविश्वास भी प्रभावित होता है।

कम से कम, मेरी  पिछले एक महीने तक यही स्थिति थी। मैं तो सचमुच इससे बहुत परेशान थी क्योंकि मुझे इसी महीने एक वेडिंग होस्ट करनी थी।

स्किन ड्रायंग फेस वॉश, पिंपल ड्रायंग लोशन और मॉइश्चराइजर को पूरी तरह से बंद करने के बाद भी कुछ फायदा नहीं हो रहा था।

और फि‍र चले आओ मम्मी और मिट्टी की शरण में

मुल्तानी मिट्टी भारत में ज्यादातर घरों में खासी लोकप्रिय है और यह मम्मियों का चमत्कारिक नुस्खा भी है। मम्मी ने यह वादा किया कि मुल्तानी मिट्टी से न सिर्फ तुम्हें ऑयली स्किन से निजात मिलेगी, बल्कि चेहरे पर मौजूद मुंहासों से भी छुटकारा मिलेगा। साथ ही स्किन का ग्लोस भी बढ़ेगा।

उन्होंने इसकी इतनी तारीफ की कि मैंने भी इसे एक बार ट्राय करने का फैसला कर लिया। थोड़ी सी मुल्ता।नी मिट्टी में पानी मिलाकर उसे इस तरह घोला कि वह फेस पैक जैसा बन जाए।
मैंने इसे हर दूसरे दिन अपने चेहरे पर लगाया। 10 से 15 मिनट लगाने के बाद जब यह चेहरे पर सूख जाती है, तो इसे सादा पानी से धो लेना चाहिए।

परिणाम?

यह तो मुझे पहले ही दिन से नजर आने लगा। जब मैंने इसे पहली बार अपने चेहरे पर लगाया और लगाने के बाद धोया तो मेरी स्किन में ग्लोब महसूस हो रहा था, वह पहले की तरह ऑयली भी नहीं थी।

तैलीय त्वचा की बात करें तो यह न सिर्फ आपके चेहरे पर ग्रीसी लुक देती है, बल्कि ढेर सारे मुंहासों का भी कारण बनती है। चित्र: शटरस्टॉक

वॉटर बेस्ड मॉइश्चराइजर से ड्रायनेस कम हुई और ऑयल पर कंट्रोल के साथ ही मुंहासों में भी सुधार हुआ। मम्मी की रेमेडी ने वे सारे इफैक्ट दिखाए, जिसका उन्होंने वादा किया था।
मम्मी के नुस्खे को साइंस भी मान रहा है।

जी नहीं, मुल्तानी मिट्टी ने मम्मी के दबाव में या उनसे डर कर कोई कमाल नहीं किया बल्कि यह इसके प्राकृतिक गुण हैं।

क्‍या कहते हैं शोध

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ आयुर्वेद एंड फार्मेसी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार मुल्तानी मिट्टी विटामिन और खनिजों का भंडार होती है। जो त्वचा को भीतर से पोषण देती है, जिससे वह मुंहासे पैदा करने वाले कीटाणुओं से मुकाबला करने में ज्यादा सक्षम हो जाती है।

ऑयल कंट्रोलिंग

सिर्फ इतना ही नहीं। मुल्तानी मिट्टी में प्राकृतिक रूप से तेल को अवशोषित करने वाले गुणों मौजूद रहते हैं। जो इसे वास्तव में एक हानिरहित, प्राकृतिक तेल नियंत्रक बनाता है। जिससे यह आपके चेहरे को ग्रीस फैक्टरी बनने से रोकता है।

कहने की जरूरत नहीं है कि, चेहरे पर जितना कम ऑयल होगा, धूल और प्रदूषण के कण त्वचा पर उतना कम चिपकेंगे। जिससे रोम छिद्र बंद नहीं होंगे और त्वचा को मुंहासों से छुटकारा मिलेगा और वह तरोताजा बनी रहेगी।

अगर आपकी त्वचा भी मेरी तरह ऑयली है तो आपके इसे जरूर यूज करना चाहिए।
हालांंकि मैंने इसे पानी में मिलाकर बहुत ही साधारण तरीके से चेहर पर लगाया। पर आप इसे और भी बेहतर तरीके से लगा सकते हैं। ओपन डर्मेटोलॉजी जर्नल में प्रकाशित एक शोध में मुल्तानी

मिट्टी, ग्रीन टी, केसर जैसे अवयवों को मिलाकर घर पर हर्बल पैक बनाने की सलाह दी गई है। इसके लिए आप इसमें बेसन, हल्दी, श्वेत चंदन और दूध पाउडर भी मिला सकती हैं।
तो, भविष्य में कोई भी परेशानी हो तो मुल्तानी मिट्टी उसका हल कर सकती है।

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।