वैलनेस
स्टोर

मम्‍मी ने दिया मुझे फि‍ट रहने का सबसे आसान नुस्‍खा, मैंने जोड़ी इसमें कुछ आयुर्वेदिक हर्ब्‍स

Updated on: 27 January 2021, 14:03pm IST
हर रोज सुबह खाली पेट गर्म पानी का सेवन मुझे बहुत सारे स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दे रहा है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 84 Likes
मेरा फिटनेस रूटीन- शटरस्टॉक।

लॉकडाउन में, दाल्गोना कॉफ़ी (Dalgona Coffee) से लेकर 40 डेज़ फिटनेस चैलेंज (40-Days Fitness Challenge) तक, लोगों ने सब ट्राई किया है। पर इन ट्रेंड्स के बीच कोई भी यह निर्णय नहीं ले पाया कि कौन सा मॉ‍र्निंग फिटनेस रूटीन सबसे अच्छा है? और मैं भी इसी की तलाश में थी..

कोविड-19 के डर से हर कोई अपने-अपने तरीके से अपने स्वास्थ्य का ख्‍याल रख रहा था। कभी रोज़ सुबह काढ़ा पीकर तो कभी रात को हल्दी वाला दूध पीकर, लेकिन मुझे इनमें से कुछ भी पसंद नहीं आया। तो मैंने अपनी मम्‍मी का कहना मानकर रोज़ सुबह खाली पेट गर्म पानी का सेवन करना शुरू किया। जल्द ही मैंने अपने हिसाब से इसमें नये-नये परिवर्तन करें, जिससे सेहत को तो लाभ पहुंचा, साथ ही मुझे मेरा परफेक्ट मॉर्निंग रूटीन (Morning Routine) भी मिल गया।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

हेल्थशॉट्स के इस आर्टिकल में, मैं आपके साथ अपना मोर्निंग रूटीन साझा कर रही हूं| जिसमे मैंने अलग- अलग जड़ी-बूटियों का गर्म पानी के साथ इस्तेमाल कर अपने स्‍वास्‍थ्‍य को दिन प्रतिदिन बेहतर पाया।

आइये क्रम वार हम इसको जानते है:

1. नीबू-शहद का पानी, इसके फायदे और बनाने की विधि:

आधा नींबू का रस, एक छोटा चम्मच शहद और हल्का गर्म पानी मिक्स करें और इसे तुरंत पी जाएं। इसको पीने के एक घंटे बाद ही चाय या कॉफी लें। अगर आप चाहें तो इसे खाली पेट पिएं, ये तुरंत आपकी बॉडी को डिटॉक्स करेगा।

यह भी पढें: आप इसे ड्रैगन फ्रूट कहें या ‘कमलम’, हमारे पास हैं इसके सेवन के 6 बेमिसाल स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

नींबू, शहद और गर्म पानी, ये तीनों मिलकर आपकी पाचनशक्ति को बढ़ाते हैं। यदि आपको एसिडिटी की समस्या है, तो नींबू और शहद पीजिए। इसमें शामिल शहद एंटी-बैक्टीरियल होता है, जो शरीर से बैक्‍टीरिया और जर्म्‍स को साफ करता है। साथ ही गरम पानी, गले से कफ (Cough) को एकदम साफ कर देता है। इसके अलावा यह शरीर से टॉक्सिन को भी निकालने का काम करता है।

2. जीरा पानी बनाने का तरीका और इसके फायदे

एक बड़ा चम्मच जीरे को, एक लीटर पानी में तब तक उबालें जब तक यह आधा न रह जाए। इस पानी को ठंडा कर छानें और रोज़ सुबह खाली पेट सेवन करें।

खाने का जायका बढ़ाने वाला जीरा स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता है। जीरे का पानी रोज़ सुबह पीने से वज़न कम करने में तो मदद मिलती है। साथ ही, जीरे में डाइजेस्टिव एंजाइम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो पाचन क्रिया को दुरुस्त रखती है। इसके अलावा, बढ़ते रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए भी जीरे का पानी का सेवन किया जा सकता है।

जीरा पानी बॉडी को डेटोक्स करने में मददगार है चित्र: शटरस्‍टॉक
जीरा पानी बॉडी को डेटोक्स करने में मददगार है । चित्र: शटरस्‍टॉक

3. दालचीनी के पानी के फ़ायदे और इसे तैयार करने की

विधिएक छोटे दाल चीनी के टुकड़े को करीबन एक लीटर पानी में अच्छे से उबालें। हल्का ठंडा होने पर आप इसका सेवन कर सकते हैं और स्वाद के लिए इसमें शहद भी मिला सकते हैं। याद रहे कि दाल चीनी को अधिक मात्रा में खाने से शरीर में टॉक्सिक प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए, सिर्फ 0.1mg ही एक दिन में खाएं।

आयुर्वेद में दालचीनी को एक बहुत ही फायदेमंद औषधि के रूप में बताया गया है। दालचीनी के सेवन से पाचनतंत्र संबंधी विकार, श्वास में बदबू, व सिर दर्द, चर्म रोग, मासिक धर्म की परेशानियां ठीक की जा सकती हैं। रोज़ सुबह दालचीनी के पानी का सेवा आपके खून को साफ़ करेगा और आपकी त्वचा अंदर से निखरेगी।

4. अजवायन के पानी के फायदे और इसे बनाने की विधि

एक लीटर गर्म पानी में एक छोटा चम्मच अजवाइन डालें और उबलने दें। इस पानी को कमसे कम आधा रह जाने तक उबालते रहें| फिर छानकर खली पेट इसका सेवन करें।

त्वचा को निखारता है अजवाइन का पानी । चित्र: शटरस्‍टॉक
त्वचा को निखारता है अजवाइन का पानी । चित्र: शटरस्‍टॉक

गर्म पानी और नमक के साथ अजवायन खाने से अपच से राहत मिल सकती है। अजवायन सर्दी-जुकाम, बहती नाक और ठंड से निजात पाने की अचूक दवा है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट और जलनरोधी तत्‍व पाए जाते हैं, जो न सिर्फ छाती में जमे कफ से छुटकारा दिलाते हैं बल्‍कि सर्दी और साइनस की समस्या में भी आराम दे सकते हैं। सुबह खाली पेट अजवायन का पानी पीने से पेट दर्द, गैस, कब्ज, डायबिटीज जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है।

यह भी पढें: फैंसी फूड के चक्‍कर में कहीं फल-सब्जियों को इग्‍नोर तो नहीं कर रहीं, आपको उठाने पड़ सकते हैं ये 7 नुकसान

कई बार बहुत सारी जड़ी-बूटियों का मिश्रण आपकी सेहत पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है। जैसे एसिडिटी का बढ़ना और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या। इसलिए एक हफ्ते एक जड़ी-बूटी को प्रयोग में लाएं और बदल- बदल कर इसका सेवन करते रहें। साथ ही इनका प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श कर लें।

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।