सांसों की बदबू दूर कर गट हेल्थ को भी बेहतर बनाते हैं घर के बने माउथफ्रेशनर्स, नोट कीजिए 4 रेसिपीज

यहां हैं 4 खास माउथ फ्रेशनर की रेसिपी जो मुंह मे मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया का खात्मा करते हुए आपकी सासों को तरोताजा रखने के साथ साथ आपके समग्र ओरल हेल्थ का भी ध्यान रखती है।
mouth freshener
आपको तरोताजगी प्रदान करती हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 25 Jul 2023, 07:07 pm IST
  • 120

हम सभी माउथ फ्रेशनर के नाम पर माउथ वाश या बाजार में मिलने वाले तरह तरह के पैकेज्ड माउथ फ्रेशनर और फ्लेवर्ड गम का इस्तेमाल करते हैं। यह सभी विकल्प बिल्कुल भी हेल्दी नहीं हैं, इन्हें बनाने में आर्टिफिशियल फ्लेवर्स और प्रेसर्वेटिव्स का इस्तेमाल किया जाता है। जब आप अपने स्वाद और ओरल हेल्थ को ध्यान में रखते हुए घर पर आसानी से माउथ फ्रेशनर तैयार कर सकती हैं, फिर क्यों इन्हें बाजार से खरीदा जाए।

आज हेल्थ शॉट्स आपके लिए लेकर आया है ऐसे कुछ खास माउथ फ्रेशनर की रेसिपी जो मुंह मे मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया का खात्मा करते हुए आपकी सासों को तरोताजा रखने के साथ साथ आपके समग्र ओरल हेल्थ का भी ध्यान रखती है। वहीं यह आपके पाचन क्रिया के लिए भी बेहद फायदेमंद होती है साथ ही पेट दर्द से राहत प्रदान करते हुए आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में प्रभावी रूप से कार्य करती है। तो चलिए जानते हैं इन्हें किस तरह तैयार करना है (mouth fresheners recipes)।

यहां हैं 4 बेहतरीन माउथ फ्रेशनर की रेसिपी (mouth fresheners recipes)

1. पारंपरिक मुखवास

मुखवास गर्मी से राहत पाने के लिए बनाया जाता है। यह आपके शरीर को ठंडा रखता है और पाचन संबंधी समस्यायों में बेहद प्रभावी रूप से काम करता है। इसका स्वाद भी बेहद कमाल का है। इसे बनाने में इस्तेमाल होने वाली सभी आवश्यक सामग्रियां आपकी रसोई में मौजूद होंगी। इन सभी सामग्रियों में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी पाई जाती हैं जो इसे मुंह में मौजूद गंध फैलाने वाले बैक्टीरिया और जर्म्स का खात्मा कर आपको तरोताजगी प्रदान करती हैं।

mouth freshener
जानें 4 खास माउथफ्रेशनर्स की रेसिपी। चित्र : एडॉबीस्टॉक

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

धनिये के बीज – 2 कप
जीरा – 3/4 कप
सौंफ़ – 1 कप
सूखा अदरक पाउडर – 1 कप
अजवाइन – 1/2 कप
इलायची – 15-20
जायफल पाउडर – 2 बड़े चम्मच
गोंद क्रिस्टल – 1 कप
खसखस – 1/2 कप
काली मिर्च – 1/4 कप
केशर के धागे – 5 से 6
घी या मक्खन – 4 बड़े चम्मच
खांड – 1 कप

इस तरह तैयार करें

धनिया के बीज, जीरा, सौंफ, अजवाइन और खसखस को सूखा भून लें। सभी को अलग-अलग भूनें।

पैन में घी गर्म करें और उसमें गोंद डालकर भूनें।

सभी सामग्री को मिक्सर जार में डालकर एक साथ पीस लें। इसे थोड़ा मोटा पीसें।

अब इस फ्रेशनर को एयर टाइट कंटेनर में स्टोर कर लें। इसे रूम टेम्प्रेचर पर रखें, यह एक महीने तक ताजा रहेगा।

इसे एक चम्मच लें और फिर पानी पी लें।

amla-candy
2 टुकड़ों को निकालकर चबाएं और इसकी तरोताजगी को एन्जॉय करें। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. मसाला आंवला

एंटीऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर आंवले से आप अपने सांसो की बदबू को कम कर सकती हैं। यह मसूड़ों को स्वस्थ रखता है और ओवरऑल ओरल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। आंवला में मौजूद फाइटोन्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल से लड़कर मेमोरी पॉवर को बढ़ाने में मदद करते हैं। आंवला विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है जो इसे त्वचा, बाल एवं इम्युनिटी के लिए बेहद फायदेमंद बनाते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

इसे तैयार करने के लिए आपको चाहिए

आंवला – 500 ग्राम
गुड़ – 50 ग्राम
काली मिर्च पाउडर – 1 चम्मच
लाल मिर्च पाउडर – ½ चम्मच
काला नमक – 1 चम्मच
चुटकी भर हींग

यह भी पढ़ें : Sawan Fasting Diet Tips : सावन में उपवास कर रहीं हैं, तो जानिए इस दौरान क्या खाना है और क्या नहीं

इस तरह तैयार करें

प्रेशर कुकर में आंवला डालकर इसे 15 मिनट तक पकाएं।

अब इसे पानी से निकालें और ठंडा हो जाने के बाद इसके बीज को निकाल लें।

आंवला के छोटे टुकड़ें कर लें और इसे एक बाउल में निकाल लें।

अब आंवले में गुड़ डालें और इसे 4 से 5 घंटे के लिए ढककर रख दें।

फिर इसे निकालें और इसमें काल मिर्च पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हींग और काला नमक मिलाएं और इसे किसी जार में बंद करके रख दें।

आपका मसाला आंवला बनकर तैयार है इसे सुरक्षित रखने के लिए रेफ्रिजेटर में रखें।

माउथ रिफ्रेशमेंट के लिए आंवले के 1 से 2 टुकड़ों को निकालकर चबाएं और इसकी तरोताजगी को एन्जॉय करें।

til aapke swaasthy ke liye faydemand hain
तिल आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद हैं। चित्र: शटरस्टॉक

3. तिल से बना माउथ फ्रेशनर

रिसर्चगटे द्वारा तिल के पोषक तत्वों को लेकर प्रकाशित डेटा के अनुसार तिल में आयरन, फाइबर और ओमेगा 6 फैटी एसिड की भरपूर मात्रा मौजूद होती है। यह सभी पोषक तत्व सेहत के लिए काफी फायदेमंद मने जाते हैं। तिल और हल्दी के गुणों से बना यह माउथ फ्रेशनर गंध फ़ैलाने वाले जर्म्स का सफाया करता है और ओरल हेल्थ को बनाये रखता है। साथ ही यह पाचन क्रिया के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है।

इसके लिए आपको चाहिए

तिल – 250 ग्राम
हल्दी – ¼ चम्मच
काला नमक (स्वादानुसार)
नींबू का रस – ½ चम्मच

इस तरह तैयार करें

सबसे पहले तिल को 3 से 4 मिनट तक रोस्ट करें फिर इसे प्लेट में निकाल कर ठंडा होने दें।

जब यह थड़ा हो जाये तो इसमें हल्दी, काला नमक और नींबू का रस डालें सभी को एक साथ मिलाएं और इसे लगभग 2 घंटे के लिए रख कर छोड़ दें।

अब 2 घंटे बाद पैन को गैस पर चढ़ाएं और गर्म होने दें, उसमें तैयार किये गए इस मिश्रण को डालें और इसे तबतक रोस्ट करें जब तक की यह क्रिस्पी न हो जाए।

अब इसे किसी एयर टाइट कंटेनर में बंद करके रख दें और खाने के बाद या जब भी आपको फ्रेशनेश चाहिए हो तब ½ चम्मच तिल निकालकर खाएं।

mixed seed jar
अपनी वीकेंड डाइट के लिए इन 5 सुपरसीड्स के साथ तैयार करें अपना मिक्स सीड्स फ्रेशनर. चित्र शटरस्टॉक।

4. मल्टीसीड्स मुखवास

मिक्स्ड सीड्स में पर्याप्त मात्रा में मिनरल और विटामिन पाए जाते हैं जो शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने में मदद करते हैं। यह आपको लंबे समय तक तरोताजा रखते हैं। मिक्स सीड्स का सेवन पेट को पूरी तरह से साफ रखता है और कॉन्स्टिपेशन जैसी समस्याओं में असरदार होता है। साथ ही यह ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल लेवल से लेकर ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने में मदद करता है। वहीं इज त्वचा से जुड़ी समस्याओं में भी असरदार होता है।

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

अलसी के बीज – 1/4 कप
काले तिल के बीज – 1/4 कप
सफेद तिल के बीज – 1/4 कप
सौंफ – 1/4 कप
नींबू का रस – 1 बड़ा चम्मच
सेंधा नमक – 1/2 छोटा चम्मच
खांड – 1/2 छोटा चम्मच

इस तरह तैयार करें

अलसी के बीज, काले तिल के बीज, सफेद तिल के बीज, सौंफ, नींबू का रस और सेंधा नमक को एक साथ अच्छी तरह मिला लें।

अब इसे 2 घंटों के लिए साइड में रख दें। फिर एक पैन को गैस पर चढ़ाये इसे पैन में डालें और ड्राई रोस्ट करें।

इसे तब तक रोस्ट करती रहें जबतक की ये क्रिस्पी न हो जाए। गैस बंद करें और इसे ठंडा होने दें।

अब इसे किसी जार में निकालें फिर इसमें खांड डालें और जार को एयर तिघटत पैक करके रखें।

इसके अलावा, आप इसमें कद्दू के बीज, तरबूज के बीज और सूरजमुखी के बीज को थोड़े से हल्दी पाउडर के साथ भूनकर भी मिला सकती हैं।

यह भी पढ़ें : डायबिटीज के सभी मरीजों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करनी चाहिए मिलेट्स के ये 4 प्रकार

  • 120
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख