शुरू हो रहा है महापर्व छठ, पूजा प्रसाद में शामिल गन्ना है आपकी सेहत के लिए लाजवाब

छठ पूजा के प्रसाद के रूप में चढ़ाये जाने वाले गन्ने सिर्फ मिठास ही नहीं, बल्कि औषधीय गुणों का भी खजाना है। इसके सेहत लाभ सुनेंगी तो आप भी इसकी दीवानी हो जाएंगी।

ganne ke fayde
गन्ना एंटी इन्फ्लामेट्री, एनाल्जेसिक, एंटीहाइपरग्लाइसेमिक और हेपेटोप्रोटेक्टिव प्रभाव वाला है। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 28 October 2022, 08:00 am IST
  • 125

छठ पूजा के प्रसाद के रूप में गन्ना जरूर चढ़ाया जाता है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी गन्ना बेहद महत्वपूर्ण है। आज भी उत्तर भारत में जौंडिस होने पर गन्ने का रस पिलाया जाता है। भारत में पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली के तहत पीलिया, रक्तस्राव अधिक होने और कई तरह के यूरिन प्रॉब्लम में गन्ने के रस का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। कई शोध भी बताते हैं कि स्वास्थ्य के लिए गन्ना बेहद फायदेमंद (sugarcane benefits) है।

विज्ञान भी मानता है गन्ने के सेहत लाभ

भारत के फार्माकोग्नोसी रिव्यु जर्नल में वर्ष 2015 में एक शोध आलेख प्रकाशित हुआ। यह आलेख पबमेड सेंट्रल में भी शामिल हुआ। अमनदीप सिंह, उमा रंजन लाल और रवि कुमार धीमान की शोध विशेषज्ञों की टीम ने गन्ने के रस के फायदों पर एक शोध किया। इसके अनुसार भारत की आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में गन्ने का जो उपयोग दवा के रूप में किया जाता रहा है, जो रोगों को दूर करने में प्रभावी हो सकता है।
यूनानी चिकित्सा पद्धति के अनुसार, पीलिया के रोगियों के लिए गन्ने का रस अच्छा माना जाता है। शोध में इन पारंपरिक भारतीय औषधीय प्रणालियों की मान्यताओं को आधुनिक औषधीय अध्ययनों द्वारा समर्थन दिया गया है। शोध में यह संकेत दिया गया है कि गन्ने में विभिन्न बायो एक्टिव कंपाउंड्स हैं।

गन्ने में मौजूद हैं महत्वपूर्ण पोषक तत्व 

गन्ना एंटी इन्फ्लामेट्री, एनाल्जेसिक, एंटीहाइपरग्लाइसेमिक और हेपेटोप्रोटेक्टिव प्रभाव वाला है। गन्ने के रस में एपिजेनिन, ट्राइसीन, और ल्यूटोलिन ग्लाइकोसाइड्स जैसे ओरिएंटिन, विटेक्सिन, स्कैफ्टोसाइड, और स्वर्टिसिन जैसे घटक पाए जाते हैं।

sugarcane fayde
गन्ने के रस में एपिजेनिन, ट्राइसीन, और ल्यूटोलिन ग्लाइकोसाइड्स जैसे ओरिएंटिन, विटेक्सिन, स्कैफ्टोसाइड, और स्वर्टिसिन जैसे घटक पाए जाते हैं। चित्रःशटरस्टॉक

गन्ने के रस, गन्ने के मोम, पत्तियों और उसके अन्य प्रोडक्ट की फाइटोकेमिस्ट्री में विभिन्न प्रकार के फैटी एसिड, अल्कोहल, फाइटोस्टेरॉल, हाई टेरपेनोइड्स, फ्लेवोनोइड्स, ग्लाइकोसाइड्स और फेनोलिक एसिड भी पाया जाता है।
इसलिए गन्ने का रस शारीरिक समस्याओं को कम करने में मददगार है। हालांकि इसे दवा के साथ लिया जाना फायदेमंद है न कि दवा के रूप में लिया जाना फायदेमंद है।

यहां हैं गन्ने से स्वास्थ्य को मिलने वाले फायदे

1 किडनी के लिए लाभकारी

आयुर्वेदाचार्य डॉ. दीनाक्षी राणा बताती हैं, ‘गन्ने के रस के नियमित उपयोग से यूरीन फ्लो साफ और तेज होता है। इससे किडनी को अपना कार्य ठीक से करने में मदद मिलती है। यदि आप और बेहतर परिणाम चाहती हैं, तो गन्ने के रस में नींबू के रस और अदरक के रस को भी मिला कर पी सकती हैं।

2 लीवर के लिए मददगार

गन्ने का रस लीवर के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। पीलिया के रोगी को अधिक मात्रा में गन्ने के रस का सेवन करने से राहत मिलती है।

3 सेक्स के लिए एनर्जी टॉनिक है गन्ने का रस

सेक्सुअल डिजायर को भी बढ़ता है गन्ने का रस। यह एंटीसेप्टिक गुणों वाला होता है।

Sugarcane juice healthy hota hai
गन्ने का जूस समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंदहै। चित्र: शटरस्टॉक।

यदि थकान का अनुभव कर रही हैं, तो गन्ने का रस पीयें। यह एनर्जी टॉनिक के रूप में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

4 रोज किया जा सकता है गन्ने के जूस का सेवन

गन्ने के जूस का सेवन रोज किया जा सकता है। एक कप गन्ने का जूस किसी भी समय लिया जा सकता है। यदि किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन किया जा सकता है। साथ ही, इसके अधिक मात्र में सेवन से स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें : पान सिर्फ चबाइए नहीं, बालों पर पर भी लगाइए, हम बता रहे हैं 3 तरीके

  • 125
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें