ग्लोइंग स्किन के लिए आइस फेशियल ट्राई कर रहीं हैं, तो जानिए इसके अच्छे, बुरे और अजीब पहलू

Published on: 22 April 2022, 10:00 am IST

बर्फ का एक टुकड़ा चिलचिलाती गर्मी में आपको राहत दे सकता है। पर क्या त्वचा पर भी यह इसी तरह काम करेगा? आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से-

kya cehhere par barf ka istemaal kiya jaa sakta hai
रोजाना चेहरे पर बर्फ लगाने के फायदे और नुकसान दुष्प्रभाव. चित्र : शटरस्टॉक

आपकी बीयर के गिलास में ठंडक घोलने से लेकर त्वचा के जलने पर राहत देने तक, बर्फ बहुत कुछ कर सकती है। गर्मी में जो चीजें सबसे ज्यादा ठंडक देती हैं, उनमें से बर्फ भी एक है। यही वजह है कि आजकल सोशल मीडिया पर आइस फेशियल बहुत ट्रेंड कर रहा है। इसी ट्रेंड को फॉलो करते हुए मैंने भी चेहरे पर बर्फ लगाना शुरू किया। पर सच कहूं तो इसके फायदे के साथ, मुझे इसके कुछ नुकसान भी उठाने पड़ रहे हैं। त्वचा पर क्या हो सकते हैं बर्फ (Good and bad effects of ice on skin) लगाने के फायदे और नुकसान, जानना चाहती हैं, तो अंत तक पढ़ती रहें।

जब मैंने ट्राई किया आइस फेशियल

काफी लोगों का यह मानना है कि गर्मियों में त्वचा पर बर्फ लगाना फायदेमंद साबित हो सकता है। इतना ही नहीं, एक्ने, पिंपल और हीट रैश तक की समस्या उन्हें लगता है कि बर्फ लगाने से हल हो सकती हैं। तो इन्हीं सब सुनी – सुनाई बातों को सुनकर मैंने भी ग्लोइंग स्किन पाने के लिए चेहरे पर आइस क्यूब्स (Ice cubes for face) लगाने का फैसला किया।

रोज़ ऐसा करने पर मेरा ग्लो तो करने लगा, लेकिन साथ ही चेहरे पर रूखापन भी बढ़ने लगा। तब मम्मी ने मुझे समझाया कि बर्फ बार – बार चेहरे पर नहीं लगानी चाहिए। इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है। तो चलिये जानते हैं कि क्या होता है चेहरे पर बार-बार बर्फ लगाने का नतीजा।

क्या होता है जब आप चेहरे पर बर्फ लगाती हैं

त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ राणा के मुताबिक चेहरे पर बर्फ लगाना फायदेमंद साबित जो सकता है, लेकिन ज्यादा देर तक ऐसा करने से त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। इससे त्वचा पर खुजली और लालिमा हो सकती है। इसलिए, इसे सीधे त्वचा पर प्रयोग न करें, क्योंकि इसके नियमित उपयोग से फ्रॉस्ट बाइट (Frost Bite) हो सकते हैं। जिसके परिणामस्वरूप त्वचा में डेड स्किन सेल्स बढ़ सकते हैं। इससे चेहरे और होठों पर दाने भी हो सकते हैं।

वे सलाह देते हैं कि “बर्फ रगड़ने से सावधान रहें। इस प्रक्रिया के बाद, छिद्र संकीर्ण हो जाते हैं, जिससे पसीने और वसामय ग्रंथियों के स्राव में देरी होती है। चेहरे पर बर्फ लगाने के बाद रोमछिद्र बंद हो जाते हैं। इसलिए किसी भी तरह की फेस क्रीम का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।”

सेंसिटिव स्किन वाले लोग चेहरे पर भूल कर भी न करें बर्फ का इस्तेमाल

डॉ अजय राणा के अनुसार, आपकी त्वचा पर सीधे बर्फ लगाने से नाजुक त्वचा कोशिकाएं टूट सकती हैं। वे बताते हैं, “लोग लंबे समय तक धूप में बाहर रहने के बाद तुरंत अपने चेहरे पर बर्फ का इस्तेमाल करते हैं। मगर उन्हें इस बात का अहसास नहीं होता कि उनकी इस हरकत से सिर में बहुत तेज दर्द हो सकता है। यह सेल डैमेज के कारण होता है।”

kya chehre par lagayi jaa sakti hai ice
क्या चेहेरे पर लगाई जा सकती है बर्फ। चित्र : शटरस्टॉक

जानिए क्या है त्वचा पर बर्फ इस्तेमाल करने का सही तरीका

डॉ राणा की सलाह है, “बर्फ के टुकड़ों को एक पतले वॉशक्लॉथ या रुमाल में लपेटें, और इसे चेहरे पर लगाएं। आप चाहें तो त्वचा को पोषक तत्वों की अतिरिक्त खुराक देने के लिए एक आइस ट्रे में टमाटर का गूदा, एलोवेरा जूस और खीरे के रस जैसी सामग्री को भी फ्रीज कर सकती हैं। दिन में एक से अधिक बार त्वचा पर बर्फ न लगाएं।”

अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो बर्फ के टुकड़े सीधे चेहरे पर न लगाएं। चेहरे पर आइस क्यूब लगाने के लिए टॉवल या कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल करें। आइस पैक या क्यूब को चेहरे के किसी खास हिस्से पर एक मिनट से ज्यादा न रखें। साथ ही आंखों के आसपास बर्फ के टुकड़े लगाते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें। आंखों के नीचे ज्यादा जोर से न रगड़ें, क्योंकि यह एक संवेदनशील क्षेत्र है।

आइस क्यूब को हमेशा छोटे गोलाकार गति में दो से तीन मिनट तक रगड़ें। यदि आपको बर्फ लगाते समय जलन या कोई असुविधा महसूस होती है, तो कृपया प्रक्रिया को रोक दें और अपने त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श करें

सिर्फ इसलिए कि कोई एक्ट्रेस कुछ कर रही हैं,तो ज़िद में आकार आपकी पर आइस क्यूब न लगाएं। स्किनकेयर रूटीन में शामिल होने से पहले अपनी त्वचा को जानें और किसी विशेषज्ञ से सलाह लें। अन्यथा, यह उलटा भी पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : भद्दे लगते हैं पैरों पर सैंडल के निशान, तो ये 13 घरेलू उपाय आपको दिलाएंगे टैनिंग से छुटकारा

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।