अमरूद ही नहीं इसके पत्ते भी हैं फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें कब और कैसे करना है इनका सेवन

अमरूद में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं। जो समग्र स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं। इसके सेवन से शरीर को आवश्यक तत्व प्राप्त होते हैं।
अमरूद में है भरपूर विटामिन सी । चित्र: शटरस्‍टॉक
निशा कपूर Published on: 27 November 2022, 15:30 pm IST
ऐप खोलें

भागदौड़ भरी लाइफ में जब हम अपनी डाइट का ख्याल नहीं रख पाते हैं तो हमारे शरीर में कई पोषक तत्वों की पूर्ति भी नहीं होती है। इन पोषक तत्वों को सरलता से पूरा करने के लिए फल एक बेहतरीन उपाय हैं। मौसम में आने वाले फलों का सेवन हेल्थ के लिए हमेशा अच्छा माना जाता है। इसलिए आज हम बात करेंगे अमरुद की। अमरुद का सेवन बॉडी को हेल्दी रखने के साथ-साथ कई सारी बीमारियों से बचाने का कार्य भी करता है।

पहले जानते हैं अमरूद के औषधीय गुण

अमरूद में कई औषधीय गुण शामिल होते हैं। अमरूद और इस पेड़ के अन्य उत्पादों में एंटीडायबिटिक, एंटीमाइक्रोबियल, एंटी डायरियल और एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं। इसका इस्तेमाल गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल इंफेक्शन, मलेरिया, श्वसन संक्रमण, मुहं /दांत का संक्रमण, त्वचा संक्रमण, मधुमेह, हृदय और कुपोषण से संबंधित परेशानियों में लाभकारी होता है।

अमरूद पाचन तंत्र की ज्यादातर समस्याओं को ठीक करता है। चित्र: शटरस्टॉक

डॉक्टर दीक्सा भावसार सावलिया एक आयुर्वेदिक एक्सपर्ट हैं। वह कहती हैं कि अमरूद प्रकृति में ठंडे होते हैं और स्वाद में कसैले, मीठे और खट्टे होते हैं। वे त्रिदोष शामक हैं (सभी 3 दोषों- वात, पित्त और कफ को संतुलित करते हैं) जो उन्हें अद्वितीय बनाते हैं। अमरूद फाइबर, विटामिन ए और सी, फोलिक एसिड, और आहार खनिज, पोटेशियम, तांबा और मैंगनीज से भरपूर होते हैं।

इसमें कैरोटेनॉयड्स और पॉलीफेनोल्स दोनों मौजूद होते हैं जो उन्हें एंटी-एजिंग और एंटी-कैंसर गुणों के साथ त्वचा और बालों के लिए सबसे अच्छा बनाते हैं। अमरूद के सभी भाग (फल, पत्ते और छाल) औषधि के रूप में उपयोगी होते हैं

यह भी पढ़े- क्या डायबिटीज के मरीजों को चाय के साथ करनी चाहिए अपने दिन की शुरुआत? चलिए जानते हैं एक्सपर्ट की राय

डायबिटीज को करें कंट्रोल

मधुमेह में बिना छिलके वाले अमरूद का सेवन ब्लड शुगर को कम करने में सहायता करता है। इसमें मौजूद पॉलीसैकराइड तत्व टाइप-2 मधुमेह को कम करने में सहायता करता है। अमरूद के पत्ते के अर्क में भी एंटी-हाइपरग्लिसमिक गुण शामिल होते हैं, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं। इसलिए, डायबिटीज के मरीजों को अपने आहार में अमरूद को शामिल करना चाहिए।

कैंसर से बचाव करते हैं

अमरूद प्रोस्टेट कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है। असल में, इसमें लाइकोपीन नामक तत्व शामिल होता है, जो प्रोस्टेट कैंसर सेल्स के विरूद्ध कीमोप्रीवेंटिव प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है और इसके जोखिम से राहत दिला सकता है।

पाचन शक्ति बढ़ाने में मददगार

अमरूद का सेवन पाचन तंत्र को सुधारने के लिए किया जा सकता है। इसमें डाइटरी फाइबर की अच्छी मात्रा मौजूद होती है। फाइबर की कमी की वजह से ही कब्ज की होती है। ऐसे में अमरूद का सेवन इस समस्या से निजात दिला सकता है, और पाचन तंत्र को दुरुस्त रख सकता है।

इम्युनिटी बनाएं रखने के साथ वजन कंट्रोल करें। चित्र: शटरस्टॉक

इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार

अमरूद में पाए जाने वाले विटामिन शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। विटामिन-सी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने और रोग पैदा करने वाले रोगजनकों से लड़ने में सहायता करता है। ऐसे में इसका सेवन इम्युनिटी को बढ़ा सकता है।

स्वस्थ ह्रदय के लिए

एक्सपर्ट कहती हैं अमरूद का सेवन दिल के लिए भी लाभकारी होता है। इसमें पाए जाने वाला पोटेशियम रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने का कार्य करता है, जिससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। अमरुद में शामिल फाइबर खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और हार्ट को हेल्दी रखता है।

आंखों के लिए भी हैं फायदेमंद

पौष्टिक तत्वों की कमी के कारण आंखों से संबंधित परेशानी होने लगती है। अमरुद में मौजूद विटामिन-ए, सी, फोलेट, जिंक और कॉपर जैसे गुण आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायता करते हैं।

अब जानिए कैसे करना है अमरूद के पत्तों का इस्तेमाल

1 काढ़े के रूप में अमरूद के पत्ते

4 कप पानी में 7 से 10 अमरुद के पत्ते तब तक उबाले जब तक यह आधा न रह जाए।

मासिक धर्म की ऐंठन, एसिडिटी, मधुमेह के लिए इस काढ़े को खाली पेट दिन में 1-2 बार लें।
इस काढ़े से गरारे करने से मुंह के छाले, मसूड़ों से खून आना और मुंह के स्वास्थ्य में मदद मिलती है।
बालों को धोने से बालों के झड़ने को रोकने और प्रबंधित करने में सहायता मिलती है और स्वस्थ बालों के विकास को बढ़ावा मिलता है।

अमरूद आपकी त्वचा में प्राकृतिक निखार ला सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

2 पेस्ट के रूप में अमरूद के पत्ते

अमरूद के ताजे पत्तों का पेस्ट सूजन, बुखार, सिरदर्द और जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है।

अमरूद खाने का सबसे अच्छा समय

चूंकि अमरूद की प्रकृति ठंडी होती है, इसलिए इसे तब लेना सबसे अच्छा होता है जब सूरज ऊपर हो (दोपहर के घंटों में- दोपहर के भोजन से एक घंटे पहले या दोपहर के भोजन के 2 घंटे बाद)। देर शाम, सुबह जल्दी या रात में इसे खाने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़े- तांबे के बर्तन में पी रहीं हैं पानी, तो सेहत से जुड़ी इन चीजों का जरूर रखें ध्यान

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story