Temple hair loss : प्रेगनेंसी के कारण भी हो सकता है टैंपल हेयर लॉस, जानिए इसे कैसे रोकना है

सेंटर पार्टिंग, बालों को गलत तरीके से टाई करना और हार्मोंस में आने वाले बदलाव बालों के झड़ने का कारण साबित होने लगते हैं। जानते हैं बालों के झड़ने की समस्या को कैसे रोका जा सकता है।
Hair growth ke liye remedies
जानते हैं बालों के झड़ने की समस्या को कैसे रोका जा सकता है (Ways to treat hair loss at temples)। चित्र अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 23 Jun 2023, 12:59 pm IST
  • 142

बालों का झड़ना एक आम समस्या है। मौसम बदलने, डाइट में चेंजिज़ और हार्मोनल इंबैलेंस के चलते बालों का झड़ना शुरू हो जाता है। कई बार हेयरफॉल इस कदर बढ़ने लगता है कि सिर में गंजेपन की शिकायत होने लगती है। फिर चाहे महिलाएं हों या पुरूष कोई भी इस समस्या का शिकार हो सकता है। उस समस्या से बचने के लिए हम बाज़ार में बिकने वाले कई प्रोडक्टस का प्रयोग करते हैं। सेंटर पार्टिंग, बालों को गलत तरीके से टाई करना और हार्मोंस में आने वाले बदलाव बालों के झड़ने का कारण साबित होने लगते हैं। जानते हैं बालों के झड़ने की समस्या को कैसे रोका जा सकता है (Ways to treat hair loss at temples)।

टैंपल हेयरलॉस क्या है

एनसीबीआई के मुताबिक विटामिन्स और मिनरल्स कमी के चलते बालों की समस्याएं उत्पन्न होती है। इनकी मदद से सेलग्रोथ नॉर्मल होती है और वो पूर्ण रूप से फंक्शन करते हैं। एक व्यक्ति के स्कैप्ल पर 100,000 हेयर फॉलिकल्स पाए जाते हैं। 30, 40 और 50 की उम्र के नज़दीक अगर आप रोज़ाना 100 बाल कंघी करने के दौरान खो रही हैं, तो इसका मतलब है कि आप हेयरलॉस की समस्या का शिकार हैं। पतले बाल अक्सर बालों के झड़ने का सबसे प्राथमिक लक्षण हैं। बाल झड़ने की समस्या धीरे धीरे टैम्पल्स तक फैलने लगती है।

बालों के झड़ने के सामान्य कारण

प्रेगनेंसी और मेनोपॉप के दौरान हार्मोंनल इंबैलेंस
तनाव में रहना
स्मोकिंग करना
विटामिन डी और बी की कमी
बालों को टाई करने का गलत तरीका
मेडिकेशंस के साइड इफ्ेक्टस

जानते हैं वो घरेलू नुस्खे जिनसे बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है

1. ऑलिव ऑयल

हल्के पीले रंग का ऑलिव ऑयल एंटीऑक्सीडेंटस से भरपूर होता है। हेयर फॉलिकल्स को मज़बूत करने के अलावा रूखे बालो की समस्या का भी एक आसान समाधान है। इससे बचने के लिए ऑलिव ऑयल में कोकोनट या फिर कोई भी कैरियर ऑयल मिलाकर बालों में चंपी करें। ऐसा करने से जड़ों से लेकर सिरों तक सभी को पोषण प्रदान होता है। अगर आपके बालों में चिपचिपाहट रहती है और वो ज्यादा टूटते हैं, तो ऑलिव ऑयल में अंडा मिलाकर बालों में 10 से 15 मिनट तक रखें और फिर बालों को धो लें।

olive oil ke fayde
ऑलिव ऑयल हेयर फॉलिकल्स को मज़बूत करने के अलावा रूखे बालो की समस्या का भी एक आसान समाधान है। चित्र: शटरस्टॉक

2. एलोवेरा

बालों को लंबा और घना बनाने के लिए एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर एलोवेरा बालों को मज़बूती प्रदान करता है। इसके लिए एंटी इंफ्लामेंटरी और माइश्चराइजिंग गुणों से भरपूर एलोवेरा को स्कैल्प पर मसाज करने से राहत मिल जाती है। इसके लिए एलोवरा जेल में समाज मात्रा में नीम की पत्तियों का पाउडर मिलाकर एक मास्क तैयार कर लें। ध्यान रखें कि इसकी कंसिस्टेंसी ज्यादा थिक न हो। अन्यथा ये बालों की गहराई में पहुचकर काम करने में असमर्थ होगा। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के मुताबिक नीम स्कैल्प इन्फेक्शन से हमारा बचाव करता है। इसे बालों में लगाकर बालों का रूखापन दूर किया जा सकता है।

3. राइज वॉटर

चावल का पानी बालों कह ग्रोथ में सहायक साबित होता है। दरअसल, इसमें पाया जाने वाला इनोसिटोल तत्व एक प्रकार का कार्बोहाइड्रेट होता है। इससे न केवल बालों के टैक्सचर में बदलाव आता है बल्कि हेयरफॉल की समस्या से भी बचा जा सकता है। साइंस डायरेक्ट की मानें, तो चावल के पानी में 80 फीसदी स्टार्च पाया जाता है। विटामिन्स और मनरल्स से भरपूर स्टार्च बालों की ग्रोथ को फायदा पहुंचाता है।

चावल के पानी का बालों में लगाने के लिए सबसे पहले 1 कप चावल को 3 कप पानी डालकर भिगो दें। अब 2 से 3 घंटे तक चावल भीगे रहने के बाद उससे चावलों को अलग कर दें। अब बालों पर चावल का पानी स्प्रे कर सकते हैं। इसके अलावा बालों को चावल के पानी में डालकर भी रख सकते हैं। उसके बाद माइल्ड शैम्पू से बालों को धो लें।

4. प्याज का रस

प्याज के रस में सल्फर पाया जाता है, जो बालों को होने वाले नुकसान से बचाने में सहायक साबित होता है। अनियन जूस से बालों को सॉफ्ट और हेल्दी बनाने के लिए 1 से 2 चम्मच प्याज के रस से स्कैल्प की मसाज करें। स्कैप्ल पर सर्कुलर मोशन में इसे पूरी तरह से लगाएं। बालों में 15 मिनट के लिए लगा रहने दें। उसके बाद बालों को स्लफेट फ्री शैम्पू से धो दें। इससे बालों का रूखापन और हेयर डैमेज की समस्या दूर होने लगती है। इसे सप्ताह में 2 से 3 बार अवश्य लगाएं।

Onion for hair care
प्याज के रस में सल्फर पाया जाता है, जो बालों को होने वाले नुकसान से बचाने में सहायक साबित होता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

5. ग्रीन टी

ग्रीन टी एंटिआक्सीडेंट से भरपूर होती है। एक कप गर्म पानी पानी में 30 मिनट तक 2 ग्रीन टी के बैग्स को डालकर रखें। उसके बाद उस पानी से बालों को धो लें और 30 मिनट तक बालों को यूं ही रखें। इसके अस्तेमाल से बालों में सीबम प्रोडक्टशन कम होने लगता है। इससे ग्रीसी बालों की समसया भी हल हो जाती है।

ये भी पढ़ें- घरेलू सामग्री से बनाएं हर्बल हेयर मास्क और बालों को दें नेचुरल शाइनी लुक

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 142
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख