लॉग इन

ठंडा-ठंडा कूल-कूल अहसास देता है गुलाब का शरबत, नोट कीजिए इसकी ट्रेडिशनल और हेल्दी रेसिपी

सूरज जब आपने ताप को कंट्रोल करने के मूड में न लग रहा हो, तो शिकायत करने से बेहतर है खुद को ठंडा रखने के इंतजाम करना। गुलाब शरबत ऐसा ही कूलिंग पेय है, जो आपके पेट और ब्रेन दोनों को ठंडक देगा।
गर्मियों के दौरान हाइड्रेटेड रहना बहुत ज़रूरी है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 18 Jun 2024, 04:54 pm IST
Preparation Time 10 mins
Cook Time 20 mins
Total Time 30 mins
Serves 05
ऐप खोलें

जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती है, आपके लिए ठंडक पहुंचाने वाले किसी ताज़गी भरे ड्रिंक से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। बहुत सारे ड्रिंक के विकल्पों में से, गुलाब शरबत अपने अनोखे, सुगंधित स्वाद और ठंडक देने वाले गुणों के लिए सबसे अलग है। गुलाब की पंखुड़ियों से बना यह पारंपरिक भारतीय ड्रिंक न केवल स्वादिष्ट है, बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है। आपको बताते है कि आप गुलाब का शरबत (Gulab ka sharbat recipe) कैसे बना सकते है और ये आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंंद हो सकता है।

गुलाब शरबत, जिसे शर्बत-ए-गुलाब के नाम से भी जाना जाता है, यह गुलाब से बना एक स्वादिष्ट मिक्स है। यह न केवल हमारी प्यास बुझाता है, बल्कि बहुत हेल्दी भी है। जबकि स्टोर से खरीदे गए इस तरह के रेडीमेड शरबतों में कृत्रिम स्वाद और अत्यधिक चीनी हो सकती है, तो क्यों न घर पर ही अपना खुद का स्वस्थ गुलाब शरबत बनाने की कोशिश करें? प्राकृतिक सामग्री का उपयोग करके घर पर इस ड्रिंक को तैयार करके, आप इसके पोषण मूल्य को बढ़ा सकते हैं और गर्मियों को दूर कर सकते है।

यह ड्रिंक पाचन में सहायता करने और पाचन तंत्र को शांत करने के लिए जाना जाता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

क्या है गुलाब के शरबत के फायदे (Gulab ka sharbat peene ke fayde)

1 शरीर को ठंडक देता है

गुलाब की पंखुड़ियों में प्राकृतिक रूप से ठंडक देने वाले गुण होते हैं जो शरीर की गर्मी को कम करने में मदद करते हैं। गुलाब का शरबत पीने से गर्मी के मौसम में तुरंत राहत मिल सकती है।

2 हाइड्रेशन

गर्मियों के दौरान हाइड्रेटेड रहना बहुत ज़रूरी है। गुलाब का शरबत जैसे स्वादिष्ट ड्रिंक का आनंद लेते हुए अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाने का एक शानदार तरीका है। जिससे शरीर को हाइड्रेट रहने में मदद मिलती है।

3 एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

गुलाब की पंखुड़ियों में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर में मुक्त कणों से लड़ने में मदद करते हैं, जिससे शरीर के स्वास्थ्य को बेहतर करने और तंदुरुस्ती को बढ़ाने में मदद मिलती है।

4 पाचन में सहायक

यह ड्रिंक पाचन में सहायता करने और पाचन तंत्र को शांत करने के लिए जाना जाता है, इसलिए इसे भोजन के बाद पीना एक अच्छा विकल्प है। पेट की ख़राबी को शांत करने, एसिडिटी से राहत दिलाने और समग्र पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

5 त्वचा को हाइड्रेट करता है

गुलाब की पंखुड़ियों में मौजूद विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट के कारण गुलाब शरबत का नियमित सेवन त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है।

गुलाब की पंखुड़ियों में विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट होता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

कैसे बनाएं गुलाब का शरबत (Gulab ka sharbat recipe in hindi)

गुलाब का शरबत बनाने के लिए आपको चाहिए

ताजा या सूखी गुलाब की पंखुड़ियां 1 कप
शहद 3/4 कप
पानी 4 कप
नींबू का रस 2 बड़े चम्मच
इलायची पाउडर 1/2 चम्मच
नमक की एक चुटकी
बर्फ के टुकड़े
गार्निश के लिए ताज़े पुदीने के पत्ते

ऐसे बनाएं गुलाब का शरबत (How to make gulab sharbat at home)

  1. अगर आप ताज़ी गुलाब की पंखुड़ियां इस्तेमाल कर रहे हैं, तो उन्हें ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लें ताकि उन पर लगी गंदगी या कीटनाशक निकल जाएं।
  2. एक बड़े बर्तन में 4 कप पानी उबालें। उबलते पानी में 1 कप गुलाब की पंखुड़ियां डालें। आंच कम करें और इसे लगभग 10-15 मिनट तक उबलने दें जब तक कि पंखुड़ियां अपना रंग न खो दें और पानी गुलाबी रंग का न हो जाए।
  3. गुलाब जल को बारीक छलनी या सूती कपड़े से छानकर पंखुड़ियों को अलग कर लें। पंखुड़ियों को फेंक दें और गुलाब जल को रख लें।
  4. गुलाब जल को बर्तन में वापस डालें और 3/4 कप शहद या 1 कप नारियल चीनी डालें। तब तक अच्छी तरह मिक्स करें।
  5. मिश्रण में 2 बड़े चम्मच नींबू का रस मिलाएं। स्वाद को संतुलित करने के लिए एक चुटकी नमक मिलाएं।
  6. ठंडा होने के बाद, सिरप को एक साफ कांच की बोतल या जार में डालें और फ्रिज में रख दें।

शरबत को इस तरह परोसे (How to serve rose sharbat)

  1. गुलाब शरबत बनाने के लिए, 2-3 बड़े चम्मच गुलाब के सिरप को एक गिलास ठंडे पानी में मिलाएं।
  2. इसको ठंडा करने के लिए बर्फ के टुकड़े शरबत में मिलाएं।
  3. इसमें ताज़े पुदीने के पत्तों या कुछ गुलाब की पंखुड़ियों से गार्निश करें।

ये भी पढ़े- इन 3 स्थितियों में अच्छा नहीं है ज्यादा चावल खाना, एक्सपर्ट बता रहे हैं कारण

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख