अधूरा पोषण करता है बच्चों की ग्रोथ को प्रभावित, यहां जानिए बच्चों के लिए जरूरी फूड्स के बारे में

इस समय पूरे परिवार के भोजन में ही पोषक तत्वों की कमी होती जा रही है। जिसका असर बच्चों की ग्रोथ पर भी पड़ रहा है। जंक फूड खाने वाले पेरेंट्स के लिए बच्चों के लिए जरूरी पोषण और फूड्स के बारे में जानना और भी ज्यादा जरूरी है।
bacchon mei nutrition ki kami
सही और पर्याप्त पोषक तत्वों से बच्चे रह सकते है फिट। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 27 Jul 2023, 02:36 pm IST
  • 145

बच्चों के शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक विकास में उनके भोजन और माता-पिता का योगदान बहुत महत्वपूर्ण होता है। ज्यादातर पेरेंट्स इस समय वर्किंग हैं और वे दिन भर बिजी रहते हैं। उनके खुद के भोजन में जंक और प्रोसेस्ड फूड्स की मात्रा बढ़ती जा रही है। ऐसे में बच्चों को सही पोषण मिल पाना और भी मुश्किल हो गया है। जिससे बच्चे न केवल कमजोर और छोटे कद के हो रहे हैं, बल्कि उनके बाल, बोन्स और दांत भी कमजोर हो रहे हैं। अगर आप अपने बच्चे की बेहतर ग्रोथ होते देखना चाहते हैं, तो इन फूड्स को उनके आहार में जरूर शामिल करें।

सही आहार और बच्चों की ग्रोथ

बच्चों के सही आहार में उनके स्वास्थ्य और विकास के लिए विभिन्न पोषक तत्वों की सही मात्रा मिलना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। यूनिसेफ के अनुसार, बच्चों को 6 महीने की उम्र में उनका पहला भोजन शुरू करना चाहिए, जो पोषण से भरपूर होना चाहिए। छोटे बच्चों को दिन भर में बार-बार और पर्याप्त मात्रा में भोजन देना जरूरी है, क्योंकि उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है।

baccho ko santulit aahar de
छोटे बच्चों को संतुलित आहार दें। चित्र : शटरस्‍टॉक

बच्चों के शारीरिक विकास के लिए उन्हें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, मिनरल और फाइबर जैसे पोषक तत्वों की सही मात्रा मिलनी चाहिए। ये पोषक तत्व उनके ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने, हड्डियों, दांतों, और अंगों के विकास में मदद करते हैं। विभिन्न प्रकार के फल, सब्जियां, अनाज, दूध, डेयरी उत्पाद, मांस, और मछली जैसे खाद्य पदार्थ बच्चों को उचित पोषण प्रदान करते हैं।

इन चीजों से बनाएं दूरी

बच्चों के आहार में अधिक मीठा, नमक, चीनी और वसा वाले डिब्बाबंद स्नैक्स शामिल करने से उनके स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है। ये खाद्य पदार्थ उनके दांतों, शरीर के वजन नियंत्रण को ख़राब कर सकते हैं और उन्हें उच्च रक्तचाप, मोटापा, और सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, बच्चों को स्वस्थ और पौष्टिक आहार देने के लिए ये खाद्य पदार्थ अच्छे नहीं होते हैं।

बच्चों को बढ़ने के लिए कौन से खाद्य पदार्थ देने चाहिए ये जानने के लिए हमने बात कि न्यूट्रिनिस्ट और वेट लॉस एक्सपर्ट शिखा कुमारी से।

पोषण की कमी बच्चों में बढ़ा सकती है ये समस्याएं

1 वृद्धि और विकास में समस्या

सही और पर्याप्त पोषक तत्वों के अभाव में बच्चों के विकास में समस्या हो सकती है। खासतौर पर उन बच्चों के लिए जो बहुत कम या अनपूर्ण आहार लेते हैं या उन्हें विभिन्न पोषण संबंधी समस्याएं होती हैं। इससे उनका विकास अवरुद्ध हो सकता है और वे अपनी उम्र के अनुसार नहीं विकसित हो सकते हैं।

2 बोन हेल्थ हो सकती है प्रभावित

विटामिन, खनिज और प्रोटीन जैसे आवश्यक पोषक तत्वों के अपर्याप्त सेवन से कमी हो सकती है। उदाहरण के लिए, कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो सकती हैं और फ्रैक्चर का खतरा बढ़ सकता है, जबकि आयरन की कमी से एनीमिया हो सकता है, जिससे थकान, कमजोरी हो सकता है।

3 कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली

खराब पोषण से बच्चों के शरीर का रोग-प्रतिरोधक प्रणाली धीरे-धीरे कमजोर होती है और उन्हें संक्रमणों का सामना करने में कठिनाई होती है। विशेष रूप से विटामिन और खनिजों की कमी से इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है, जो बच्चों को विभिन्न संक्रमणों और बीमारियों से प्रभावित कर सकता है।

4 ब्रेन हेल्थ पर भी पड़ता है असर

पोषण की कमी, विशेष रूप से आयरन, आयोडीन, जिंक और ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे प्रमुख पोषक तत्वों की कमी, संज्ञानात्मक कार्य और मस्तिष्क के विकास को ख़राब कर सकती है। इससे सीखने में कठिनाई, खराब एकाग्रता और व्यवहार संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

बच्चों की ओवरऑल ग्रोथ में मददगार हो सकते हैं ये फूड्स

दूध और डेयरी उत्पाद

दूध और दूध से बने उत्पाद जैसे दही, पनीर, चास, छाछ आदि कैल्शियम के अच्छे स्रोत होते हैं। कैल्शियम मजबूत हड्डियों, दांतों, नसों, और अन्य शरीर की ढांचे के विकास और संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इससे बच्चे के हड्डे मजबूत होते हैं और उनके शारीर में रक्त उत्पादन के लिए भी मदद मिलती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
बच्चों को संतुलित आहार दें। चित्र : शटरस्‍टॉक
बच्चों को संतुलित आहार दें। ताकि उनका विकास अच्छे से हो सके। चित्र : शटरस्‍टॉक

कम वसा वाला मांस

प्रोटीन बच्चों के स्वास्थ्य के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है और मांस प्रोटीन का एक प्रमुख स्रोत है। चिकन, टर्की और मछली जैसे कम वसा वाले मांस में अधिकतर प्रोटीन और कम वसा होता है, जो बच्चों को मांसपेशियों, ऊतकों, और अवयवों के विकास और गुणवत्ता वृद्धि में मदद करता है।

फल और सब्जियां

फल और सब्जियों में आवश्यक विटामिन, खनिज और फाइबर होते हैं। अपने बच्चे को विभिन्न प्रकार के फल और सब्जियां खाने के लिए प्रोत्साहित करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उन्हें पोषक तत्वों से भरपूर अलग-अलग खाद्य पदार्थ और पोषक तत्व मिले।

साबुत अनाज

गेहूं की ब्रेड, ब्राउन चावल और दलिया जैसे खाद्य पदार्थ जटिल कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और बी विटामिन प्रदान करते हैं, जो ऊर्जा और विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं।

मेवे और बीज

बादाम, अखरोट, चिया सिड्स और अलसी के बीज पौष्टिक विकल्प हैं। वे स्वस्थ वसा, प्रोटीन और कैल्शियम और आयरन जैसे आवश्यक खनिज प्रदान करते हैं।

ये भी पढ़े- आपकी स्किन के लिए खतरनाक हो सकता है बहुत ज्यादा मीठा खाना, जानिए क्यों जरूरी है इससे बचना

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख