Cashew Day : आपका अपना घरेलू एंटीडिप्रेंसेंट है काजू, जानिए ये कैसे करता है ब्रेन हेल्थ के लिए काम

काजू में मौजूद पोषक तत्व मस्तिष्क के लिए हेल्दी हैं। काजू ट्रिप्टोफैन का सोर्स है। यह एक न्यूरोकेमिकल है, जो तनाव और अवसाद दूर कर ब्रेन हेल्थ को बूस्ट करता है।
zinc ke liye kaju ka sevan roj karen.
प्रतिदिन यदि कोई व्यक्ति हेल्दी तरीके से काजू का सेवन करता है, तो यह एक प्रभावी नेचुरल एंटीडिप्रेसेंट हो सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 22 Nov 2023, 07:05 pm IST
  • 125
मेडिकली रिव्यूड

ड्राई काजू या काजू सीड्स कई इंडियन डिशेज, क्रीम और दूध तैयार करने में इस्तेमाल किया जाता है। काजू पोषक तत्वों का भंडार है। इसलिए काजू का प्रयोग भोजन में किया जाता है। इससे ओवरऑल हेल्थ को फायदा पहुंचता है। यह बोन हेल्थ के लिए भी जरूरी है। पर शायद आप नहीं जानती कि काजू आपकी ब्रेन हेल्थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है। अगर आपकी दिनचर्या ऐसी है, जहां अकसर प्रेशर और स्ट्रेस रहता है, तो आपको आज ही से काजू को अपनी डाइट में शामिल कर लेना चाहिए। 23 नंवबर को मनाया जाने वाला काजू दिवस (Cashew Day-23 November), एक और मौका है जब आप इस सुपरफूड के स्वास्थ्य लाभों (Health benefits of cashew) के बारे में और ज्यादा जान सकते हैं।

नेशनल कैशयू डे या राष्ट्रीय काजू दिवस (National Cashew Day-23 November)

नेशनल कैशयू डे या राष्ट्रीय काजू दिवस (National Cashew Day 2023) केवल संयुक्त राज्य अमेरिका में ही मनाया जाता है। यह प्रतिवर्ष 23 नवंबर को मनाया जाता है। इस दिवस के माध्यम से हेल्दी तरीके से काजू को डाइट में शामिल करने का सन्देश दिया जाता है। काजू एंटीऑक्सीडेंट और खनिजों के उत्कृष्ट स्रोत भी प्रदान करते हैं।

गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है (Cashew for Good Cholesterol)

काजू के बारे में आमतौर पर माना जाता है कि इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है। इससे मोटापा भी हो सकता है। यह सिर्फ भ्रान्ति है। काजू में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। काजू में मौजूद पोषक तत्व पावरहाउस का काम करते हैं। ये इंस्टैंट एनर्जी देते हैं और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ाते हैं। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। काजू में हार्ट हेल्दी गुण होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कम कर सकते हैं। अगर काजू का सेवन कम मात्रा में किया जाए, तो यह वजन घटाने में भी मदद कर सकता है।

ब्रेन हेल्थ को कैसे फायदा पहुंचाता है काजू (How Cashew helps Brain)

मैग्नीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, जिंक, विटामिन बी6 और विटामिन के से भरपूर होता है। काजू ट्रिप्टोफैन का भी स्रोत है। यह एक न्यूरोकेमिकल है, जिसे हमारा शरीर सेरोटोनिन और मेलाटोनिन में बदल देता है। मैग्नीशियम और विटामिन बी 6 समग्र स्वास्थ्य और मूड स्विंग को नियंत्रित करने के लिए जरूरी है। एनर्जी प्रोडक्शन और मूड को नियंत्रित करने के लिए भी यह जरूरी है। काजू टोकोफेरॉल, फाइटोस्टेरॉल, फेनोलिक लिपिड और कई बायोएक्टिव कंपाउंड से भरपूर होता है। ये सभी कंपाउंड ब्रेन हेल्थ को मजबूती देते हैं।

brain health ko fayda pahunchata hai.
काजू ट्रिप्टोफैन का स्रोत है। यह एक प्रभावी नेचुरल एंटीडिप्रेसेंट हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

एंटीडिप्रेसेंट है यह सीड (antidepressants cashew)

प्रतिदिन यदि कोई व्यक्ति हेल्दी तरीके से काजू का सेवन करता है, तो यह एक प्रभावी नेचुरल एंटीडिप्रेसेंट हो सकता है। दरअसल, काजू में मौजूद ट्रिप्टोफैन होते हैं। इस न्यूरोकेमिकल को हमारा शरीर सेरोटोनिन में बदल देता है। सेरोटोनिन को एंटीडिप्रेसेंट हॉर्मोन भी कहा जाता है। इससे हमारा मूड बूस्ट होता है। तनाव और अवसाद दूर होते हैं।

ओमेगा-6 फैटी एसिड का स्रोत (Cashew for Omega Fatty Acid)

काजू में ओमेगा-3 फैटी एसिड भी मौजूद होते हैं। यह अखरोट की तुलना में कम हो सकता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड के अलावा ओमेगा-6 फैटी एसिड भी होता है, जो ब्रेन हेल्थ को मजबूती देते हैं। यह हार्ट हेल्थ, हेल्दी फैट और प्लांट बेस्ड प्रोटीन का एक बड़ा स्रोत है।काजू में कैलोरी कम होती है। अखरोट के एक औंस में 185 कैलोरी की तुलना में काजू के एक औंस में 157 कैलोरी होती है। अखरोट की तुलना में काजू में लो फाइबर होता है। अखरोट की तुलना में काजू में प्रोटीन अधिक लेकिन फैट कम (Health benefits of cashew) होता है।

kaju lo calorie wala superfood hota hai.
अखरोट की तुलना में काजू में लो फाइबर होता है।  इसे भिगोकर खाना अधिक फायदेमंद होता है। चित्र : अडॉबी स्टॉक

कितना काजू खाएं (Cashew for brain)

प्रतिदिन केवल एक मुट्ठी काजू पर्याप्त (Health benefits of cashew) है। दिन भर में 8-10 काजू खाए जा सकते हैं। अधिक लाभ पाने के लिए पानी में कुछ घंटे भिगोये काजू खाने चाहिए। जब भी प्रयोग करें, अनसाल्टेड नट्स का उपयोग करें। बड़े पैकेज काजू खाने से बचें। स्नैकिंग के लिए अनसाल्टेड या बिना तेल-घी के भुने या बिना छाने हुए काजू खाना चाहिए। रोस्ट करके खाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :- बाजरे की चकली है विंटर सीजन का हेल्दी स्नैक्स, नोट कीजिए रेसिपी और स्वास्थ्य लाभ

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख