महिलाओं के लिए वरदान है काली किशमिश का पानी, आयुर्वेद विशेषज्ञ बता रहीं हैं इसके बारे में सब कुछ

Kali Kishmish paani ke fayde : भिगोये गए काली किशमिश में मौजूद विटामिन और कई मिनरल्स पानी में आ जाते हैं। इससे महिलाओं की कई समस्याओं जैसे कि इनफर्टिलिटी, गर्भधारण करने में समस्या, पीसीओएस, स्किन की समस्या को दूर करने में मदद मिलती है।
kali kishmish mahilaon ke swasthya ko fayda pahunchata hai.
काली किशमिश में अमीनो एसिड मोजूद होता है, जो सेक्सुअल हेल्थ में सुधार करता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 29 Oct 2023, 08:31 pm IST
  • 125

किशमिश स्वाद में लाजवाब, आसानी से उपलब्ध, स्वास्थ्यवर्धक और विभिन्न तरीकों से सेवन की जा सकती है। लाल किशमिश की तरह काली किशमिश भी स्वास्थ्य को कई तरह के लाभ देती है। यदि पानी में भिगोकर सही तरीके से इसका सेवन किया जाए, तो इससे कई स्वास्थ्य समस्याएं दूर (black raisin water benefits) हो सकती हैं।

जानिए क्यों इतना खास है काली किशमिश का पानी (black raisin water benefits)

काली किशमिश का पानी काली किशमिश को रात भर भिगोकर अगले दिन छानकर बनाया जाता है।भिगोने से किशमिश के सभी विटामिन और खनिज पानी में आ जाते हैं, जबकि चीनी की मात्रा सीमित हो जाती है। यह प्रक्रिया शरीर, बालों के विकास और त्वचा के लिए लाभों को कई गुना बढ़ा देती है। काली किशमिश का पानी काली किशमिश या मुनक्का से बनाया जाता है।

कौन-कौन से मिलते हैं लाभ (black raisin water benefits)

आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ. नीतू भट्ट बताती हैं, ‘यह आयरन, कॉपर और विटामिन से भरपूर होता है, जो रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाता है। यह शरीर को डिटॉक्स करता है। यह ब्लड प्यूरीफायर के रूप में काम करता है। यह पीसीओएस, अनियमित पीरियड और पीरियड के दौरान ब्लड के थक्के जमने जैसी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। यह एनीमिया को भी रोकने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से एनीमिया से बचा जा सकता है। यह हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखता है।

महिलाओं के स्वास्थ्य को कैसे लाभ पहुंचाता है (Black Raisin for Female Health)

डॉ. नीतू भट्ट के अनुसार, काली किशमिश में अमीनो एसिड मोजूद होता है, जो सेक्सुअल हेल्थ में सुधार करता है। अमीनो एसिड गर्भधारण की संभावना को भी बढ़ा सकता है। इसमें मौजूद एल-आर्जिनिन गर्भाशय और अंडाशय में ब्लड फ्लो को बेहतर बनाता है। सेक्स से दो से तीन घंटे पहले इसका सेवन करने से यह कामोत्तेजक के रूप में भी काम कर सकता है।

स्किन के लिए फायदेमंद (Black Raisin benefits skin)

काली किशमिश में मौजूद विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट स्किन को स्वस्थ करते हैं। इसके डिटॉक्सिंग और एंटी-एजिंग गुण स्किन को साफ़, चमकदार और टाइट बनाते हैं। इसमें मौजूद विटामिन सी मुंहासों को रोकने में भी मदद कर सकता है। नियमित सेवन से मुंहासे भी कम हो सकते हैं। स्किन के लिए 8-10 भिगोये हुए किशमिश के एक कप पानी को खाली पेट पिया जा सकता है।

Kali kishmish ka pani skin ke liye badhiya hai.
काली किशमिश में मौजूद विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट स्किन को स्वस्थ करते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

फर्टिलिटी के लिए कैसे पीयें काली किशमिश का पानी (Black Raisin benefits fertility)

हार्मोनल असंतुलन के कारण कम अंडे बनना और इनफर्टाइल अंडे बन सकते हैं। फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए 150 ग्राम अच्छी गुणवत्ता वाली काली किशमिश लें। इनमें 2 कप पानी मिलाएं। इसे ढककर रात भर छोड़ दें। इसे अगले दिन छान लें। किशमिश को भी कुचलकर उसका रस पानी से निकाल लें। इसे पियें। गर्भावस्था के दौरान पानी में भिगोई हुई काली किशमिश कब्ज से प्रभावी रूप से राहत दिलाती है। यह महिलाओं को मल त्याग करते समय दबाव डालने से राहत देता है, जो बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है

गर्भावस्था के लिए कैसे करें सेवन? (How to take black raisin water for Pregnancy)

लगभग दस काली किशमिश को 10-15 मिनट के लिए पानी में भिगो दें। इसके बाद इन किशमिश को एक गिलास दूध में उबाल लें। इसका असर देखने के लिए 2-3 दिन तक सोने से पहले इस ड्रिंक का सेवन करें। गर्भवती महिलाओं के लिए किशमिश पानी का दैनिक सेवन 1.5 कप है। यदि डायबिटीज़ है, तो स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह लेना सबसे अच्छा है

Black Raisins water se skin chamakdar ho jati hai.
गर्भवती महिलाओं के लिए किशमिश पानी का दैनिक सेवन 1.5 कप है। चित्र : शटर स्टॉक

पीसीओएस के लिए (Black Raisin benefits for PCOS)

काली किशमिश के पानी में बहुत कम शर्करा होती है। यह हॉर्मोन बैलेंस में सुधार कर पीसीओएस समस्याओं को प्रबंधित करने में मदद कर सकता है। इसके फाइबर वेट मैनेजमेंट ( Black Raisins Fibre for Weight Management) में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-Kali Mirch ke fayde : हाई बीपी और ब्लड शुगर दोनों कंट्रोल करती है काली मिर्च, जानिए इसके फायदे

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख