रसोई के किसी कोने में रखी कलौंजी कब्ज से राहत दिलाने में कर सकती है आपकी मदद

Published on: 1 April 2022, 21:00 pm IST

वज़न कम करने से लेकर कब्ज से राहत दिलाने तक सभी पाचन समस्याओं का रामबाण इलाज है कलौंजी। जानिए यह कैसे फायदेमंद है।

constipation mein kaise faydemand hai kalonji
जानिए कैसे कब्ज में फायदेमंद है। चित्र : शटरस्टॉक

कलौंजी (Nigella sativa) एक ऐसा मसाला है, जो अक्सर किचन के किसी कोने में रखा रहता है। क्योंकि इसका इस्तेमाल रोजाना के खानपान में नहीं हो पता है। या तो यह आचारों में डलती है या फिर बालों में तेल चंपी करने में इस्तेमाल की जाती है। भोजन में एक अलग स्वाद जोड़ने से लेकर बाल, त्वचा और अन्य स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने तक, यह छोटा सा मसाला यह सब कर सकता है।

पारंपरिक रूप से विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए हर्बल दवा का उपयोग किया जाता रहा है। कलौंजी (Kalonji) का प्रयोग यूनानी और आयुर्वेद जैसी पारंपरिक चिकित्सा में एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में किया जाता है। कलौंजी के कई चिकित्सीय प्रभाव हैं जो इसके घटकों जैसे nigellicine, nigellidine, thymoquinone के लिए जिम्मेदार हैं।

मगर क्या आप जानती हैं कि यह कब्ज से भी राहत दिला सकती है? जी हां… कलौंजी कब्ज की समस्या में भी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। चलिये पता करते हैं कैसे?

सबसे पहले जानते हैं कलौंजी के बीजों का पोषण मूल्य

कलौंजी छोटे काले बीज होते हैं जिनमें उच्च पोषण मूल्य होता है। कलौंजी के बीज पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा और तेल होता है। कलौंजी का तेल अन्य तेल की तुलना में काफी बेहतर होता है और इसमें आवश्यक फैटी एसिड होते हैं।

ये विटामिन में भी समृद्ध है जिसमें शामिल हैं – विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी 2, नियासिन और विटामिन सी। इसमें कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, जिंक, मैग्नीशियम और सेलेनियम जैसे विभिन्न खनिज भी शामिल हैं। काले बीज के सक्रिय तत्व हैं – लिनोलिक एसिड, ओलिक एसिड, थाइमोक्विनोन और निगेलोन।

kalonji ke fayde
कलौंजी में मौजूद खास तत्‍व कब्ज की समस्या से राहत दिलाते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

कब्ज दूर करने में कैसे मददगार है कलौंजी?

कब्ज और बवासीर आज की दुनिया में सबसे आम पाचन विकार हैं, और वह भी सभी आयु समूहों में। कब्ज आपको पूरे दिन थका हुआ और असहज महसूस कराता है। यह आपकी भूख को भी प्रभावित कर सकता है। यह सबसे प्रमुख गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोग है जो हमारे पाचन तंत्र को खराब करता है। कलौंजी के बीज आपकी कब्ज की समस्या को आसानी से और अधिक कुशलता से ठीक करने में आपकी मदद कर सकता है।

एनसीबीआई के अनुसार इन समस्याओं के लिए आजमाया हुआ घरेलू उपाय कलौंजी है। कब्ज के लिए आप कलौंजी के तेल का एक कप गरम पानी के साथ मौखिक रूप से कर सकती हैं। इसके अलावा, बवासीर के इलाज के लिए कलौंजी के तेल और सिरके के मिश्रण को प्रभावित जगह पर कुछ मिनट के लिए ठंडा होने तक लगाएं।

चयापचय दर को बढ़ाए

कलौंजी आपके शरीर के चयापचय को तेज करने और तेजी से वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। बस आधा चम्मच कलौंजी के तेल में दो चम्मच शहद मिलाकर गुनगुने पानी में मिला लें। जल्दी और असरदार वजन घटाने के लिए इस घोल को दिन में तीन बार पिएं।

मोटापा कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देता है। अध्ययनों से साबित होता है कि कलौंजी के बीजों को गर्म पानी के साथ सेवन करने से वजन घटाने में मदद मिलती है। यह अतिरिक्त वसा को कम करने में मदद करता है और आपको पतला और ट्रिम दिखता है।

यह भी पढ़ें : सिर्फ स्वाद ही नहीं, आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद है कच्चा आम, यहां जानिए कैसे

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।