क्या डायबिटीज में संतरा खाना सुरक्षित है? एक्सपर्ट दूर कर रहीं हैं सारी कन्फ्यूजन

डायबिटीज के मरीजों के मन में फलों के सेवन को लेकर गंभीर चिंतन बनी रहती हैं। परंतु एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर संतरा डायबिटीज की स्थिति में आपके लिए एक स्वस्थ विकल्प हो सकता है।

orange in diabetes
जानिए डायबिटीज में संतरा खाना चाहिए या नहीं। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 20 November 2022, 12:30 pm IST
  • 148

डायबिटीज के मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। इसका एक सबसे बड़ा कारण है खराब लाइफ़स्टाइल और गलत खानपान। डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिससे पूरी तरह रिकवर कर पाना नामुमकिन है। हालांकि, इसपर शोध जारी है, परंतु अभी तक इसके रिकवरी का कोई उचित इलाज नहीं आया। अपनी जीवन शैली में बदलाव लाकर इसके लक्षण और प्रभाव को नियंत्रित रख सकती है परंतु इसे पूरी तरह से खत्म कर पाना मुश्किल है। इसलिए एक सही डाइट लें और शारीरिक रूप से सक्रिय रहते हुए इस समस्या से दूरी बनाए रखें।

डायबिटीज के मरीज अक्सर अपनी डाइट को लेकर चिंतित रहते हैं। जैसे की कौन सा फल खाएं और कौन सा नहीं! साथ ही हमारे पास संतरे को लेकर कई सवाल आएं। क्या डायबिटीज में संतरे का सेवन करना चाहिए? क्या संतरा ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकता है? तो आज हम आपके इन सभी सवालों का उचित जवाब लेकर आए हैं। हमने एक्सपर्ट से बात करने के साथ ही कई शोध का अध्ययन किया। तो चलिए जानते हैं इस विषय के बारे में थोड़ा विस्तार से।

जानें इस पर क्या कहती हैं एक्सपर्ट

हेल्थ शॉट्स ने इस पर न्यूट्रीफाई बाई पूनम डाइट एंड वैलनेस क्लिनिक एंड अकेडमी की डायरेक्टर पूनम दुनेजा से बातचीत की। बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि संतरे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है ऐसे में वह आपके ब्लड शुगर लेवल को धीमी गति से बढ़ाता है।

Orange khane se kayi fayde hote hn
संतरे का सेवन डायबिटीज में रहेगा फायदेमंद। चित्र : शटरस्टॉक

यदि आपको डायबिटीज की समस्या है तो इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। इसके साथ ही संतरे में मौजूद फाइबर ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखते हैं। ऐसे में मीडियम साइज के संतरे का सेवन आपके शरीर में ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने के साथ ही हिमोग्लोबिन A1C जो ब्लड शुगर को रेगुलेट करता हैं, यह उसे भी नियंत्रित रखती है।

डायबिटीज के मरीज हैं तो शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा होना जरूरी है। यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को नियंत्रित रखता है। साथ ही संतरे में फोलेट की मात्रा पाई जाती है जो इंसुलिन रेजिस्टेंस को कम करने में मदद करती है साथ ही आंखों की रोशनी को बनाए रखती है। आमतौर पर डायबिटीज की स्थिति आंखों की सेहत को प्रभावित कर सकती है। वहीं शरीर में पोटेशियम की कमी इंसुलिन रेसिस्टर का कारण होती है, इसलिए पोटेशियम से युक्त संतरे को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। वहीं फ्लेवोनॉयड और एंटीऑक्सीडेंट इन्फ्लेमेशन, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस, इन्सुलिन रेजिस्टेंस, जैसी समस्याओं में फायदेमंद होती है और इन्सुलिन सेंसटिविटी को भी बढ़ाती हैं।

यहां जानें डायबिटीज में किस तरफ फायदेमंद है संतरा का सेवन

1. फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है संतरा

फाइबर हमारी पाचन तंत्र के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है। वहीं नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा संतरे और डायबिटीज को लेकर किए गए एक अध्ययन में टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों के बढ़ते ब्लड शुगर लेवल में गिरावट देखने को मिला साथ ही हिमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता नजर आया। इसलिए यदि आप डायबिटीज से पीड़ित हैं तो आपकी इस स्थिति को संतुलित रखने में संतरा आपकी मदद कर सकता है।

2. लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन के अनुसार ग्लाइसेमिक इंडेक्स ब्लड शुगर लेवल को काफी ज्यादा प्रभावित कर सकता है। यदि आप हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करती हैं तो यह आपके ब्लड शुगर लेबल को तेजी से ट्रिगर करता है।

faydemand hai khatta fal
संतरे हो होता है लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स। चित्र:शटरस्टॉक

वहीं लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन ब्लड शुगर लेवल को स्थिर रखता है। संतरे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है। इसलिए डायबिटीज की स्थिति में इसका सेवन आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

3. महत्वपूर्ण विटामिन एंड मिनिरल्स का एक बेहतरीन स्रोत है संतरा

पब मेड सेंट्रल द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार संतरे में कई प्रकार के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं जैसे की विटामिन सी, जो एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है। शरीर में ब्लड शुगर लेवल की बढ़ती मात्रा ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को भी बढ़ा देती है।

जिस वजह से सेल्स डैमेज होने लगते है और विभिन्न प्रकार की बीमारियों की संभावना बनी रहती है। इसलिए यदि आप डायबिटीज से पीड़ित है, तो शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा बनाये रखें।

वहीं इसमे फोलेट मौजूद होता है, और की गई उपयुक्त स्टडी के अनुसार यह इंसुलिन लेवल को संतुलित रखता है साथ ही साथ इंसुलिन रेजिस्टेंस को भी बढ़ाता है।

यह भी पढ़ें :  पाव भाजी को दें हेल्दी ट्विस्ट इस ग्रीन भाजी रेसिपी के साथ, हम बता रहे हैं इसके फायदे

  • 148
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory