इम्यूनिटी बूस्ट करने वाले अनार का सेवन बारिश में करें जरूर

Published on: 12 July 2022, 20:29 pm IST

बारिश के मौसम में अनार न सिर्फ इम्यूनिटी बूस्ट करता है, बल्कि डायजेस्टिव सिस्टम को भी ठीक रखता है।

anar ke fayde
अनार न सिर्फ इम्यूनिटी बूस्ट करता है, बल्कि डायजेस्टिव सिस्टम को भी दुरुस्त करता है। चित्र:शटरस्टॉक

एक अनार सौ बीमार वाली कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी। मां कहती है कि अनार फलों का डॉक्टर कहलाता है। यह बारिश के मौसम में होने वाली कई स्वास्थ्य समस्याओं से शरीर का बचाव करने के अलावा, पीरियड स्टार्ट होने और मेनोपॉज के दौरान होने वाली खून की कमी को भी ठीक करता है।

क्यों खाने कहती है मां अनार

मां कहती है कि ग्रामीण इलाकों में ब्लड जैसे लाल दिखने वाले अनार को शरीर में खून की मात्रा बढ़ाने वाला माना जाता है। इसलिए किसी भी प्रकार की सर्जरी के बाद हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए आज भी मरीज को फलों में सबसे अधिक अनार खिलाया जाता है, क्योंकि अनार में आयरन प्रचूर मात्रा में मौजूद होता है।

प्यूबर्टी गेन करने पर पीरियड स्टार्ट होने और मेनोपॉज फेज के दौरान ज्यादातर महिलाओं को रक्तस्राव अधिक होता है। इससे एनीमिया होने की भी संभावना होने लगती है। ऐसी स्थिति में ग्रामीण इलाकों में स्त्रियों को हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने वाले अनार के सेवन की सलाह दी जाती है।

पोषक तत्वों से भरपूर अनार

आयरन के अलावा, अनार में विटामिन ए, कैल्शियम, विटामिन डी, मैग्नीशियम और पोटैशियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए नियमित तौर पर अनार का सेवन करने से संपूर्ण स्वास्थ्य लाभ मिलता है।

बारिश के मौसम में क्यों अधिक खाया जाता है अनार

बारिश में सबसे अधिक खतरा संक्रमण का होता है। अनार एंटी बैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लैमेटरी गुणों वाला होता है। यह हर तरह के संक्रमण से शरीर का बचाव करता है।

बारिश में हमारा डायजेस्टिव सिस्टम भी प्रभावित होता है। जब हम अनार के बीजों को चबाते हैं, तो हमारी आंत को पर्याप्त मात्रा में रफेज मिलता है। इससे बॉवेल मूवमेंट सही तरीके से हो पाता है। इसमें मौजूद अनसैचुरेटेड फाइबर डायजेस्टिव सिस्टम को पूरी तरह ठीक कर देते हैं।

अनार का जूस बालों को भी लाभ पहुंचाता है। इसके जूस को नियमित तौर पर लगाने से बाल जड़ से मजबूत होते हैं और इनका झड़ना-टूटना बंद हो जाता है।

अनार के रस में मौजूद टैनिन एंटीऑक्सीडेंट फ्री रैडिकल्स को खत्म कर देते हैं और शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकाल देते हैं। इससे स्किन पर रिंकल्स कम होने में मदद मिलती है। यह दाग-धब्बों को भी मिटाता है।

anar ke laabh
खून की कमी को दूर करता है अनार का जूस। चित्र:शटरस्टॉक

 अनार के रस के प्रतिदिन सेवन से बल्ड में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ जाती है। इससे खून की कमी दूर हो जाती है। एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण ब्लड फ्लो ठीक करते हैं और इससे ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल होता है। इससे हार्ट भी सुरक्षित रहता है।

यदि आपको या आपके परिवार में किसी को ऑस्टिओआर्थराइटिस की समस्या है, तो अनार के जूस का जरूर सेवन करें। यह कार्टिलेज को नुकसान पहुंचाने वाले एंजाइम को निष्क्रिय बना देता है। ऑस्टिओआर्थराइटिस में हड्डियों को जोड़ने वाले कार्टिलेज प्रभावित हो जाते हैं। अनार कैल्शियम का भी बढ़िया स्रोत है। इसलिए इसके नियमित सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं।

यहां पढ़ें :-क्या मांसाहार का वीगन ऑप्शन हो सकता है प्लांट बेस्ड मीट? जानते हैं एक्सपर्ट की राय 

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।