Heat Rash Home Remedies : घमौरियों की छुट्टी कर सकते हैं ये 6 घरेलू नुस्खे, जानिए कैसे करते हैं काम

हिट रैशेज त्वचा पर नजर आने वाले लाल रंग के छोटे-छोटे दाने होते हैं, जिनकी वजह से उन पर और उनके आसपास की त्वचा पर अत्यधिक खुजली और जलन महसूस होता है।
सभी चित्र देखे Skin par rashes ka prabhav badhne lagta hai
स्किन पर बढ़ने वाली स्वैटिंग से घमोरियां और रेडनेस बढ़ने लगती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 28 May 2024, 15:29 pm IST
  • 111

बढ़ता तापमान, चिलचिलाती धूप और पसीने के साथ शरीर पर चिपकी धूल और गंदगी त्वचा के लिए कई समस्याएं पैदा कर सकती हैं। उन में से एक है “हिट रैशेज” जिसे हम आम भाषा में घमौरी (Heat Rashes) कहते हैं। गर्मी के मौसम में यह समस्या बिल्कुल आम हो जाती है और ज्यादातर लोग इसका अनुभव करते हैं। यह त्वचा पर नजर आने वाले लाल रंग के छोटे-छोटे दाने होते हैं, जिनकी वजह से उन पर और उनके आसपास की त्वचा पर अत्यधिक खुजली और जलन महसूस होता है।

पसीना और गर्मी के अलावा हमारे द्वारा बरती गई लापरवाही इसके खतरे को बढ़ा देती है। इसलिए पहले इसके कारण समझना जरूरी है, ताकि उन पर कम इसके खतरे को कम किया जा सके। इसके साथ ही आज हम बात करेंगे कुछ खास घरेलू नुस्खे की जिन्हें, आप अपनी घमौरी पर अप्लाई कर उसकी हीलिंग स्पीड को बढ़ा सकती हैं। तो चलिए जानते हैं इस बारे में अधिक विस्तार से।

जानें किन कारणों से बढ़ जाता है हीट रैशेज का खतरा

गर्मी के मौसम में त्वचा पर पसीने का बना रहना घमौरियों का एक बड़ा कारण हो सकता है। इसके अलावा सनस्क्रीन न लगाना, हैवी मेकअप करना, पसीना आने के बाद स्किन को साफ न करना, अधिक टाइट कपड़े पहनना, सिंथेटिक के कपड़े पहनना और लबे समय तक गर्मी में घर के बाहर सूरज की किरणों के संपर्क में रहने से हीट रैशेज का खतरा बढ़ जाता है।

heat rashes
सूजन और घाव की समस्या का सामना करना पड़ता है।चित्र- अडोबी स्टॉक

जानें घमौरियों के लिए कुछ खास घरेलू उपचार (Heat Rashes Home Remedies)

1. कोल्ड कंप्रेस

हिट रैशेज को कम करने के लिए प्रभावित एरिया पर कोल्ड कंप्रेस अप्लाई करने से स्थिति में सुधार देखने को मिल सकता है। कोल्ड कंप्रेस जैसे कि आइस पैक, यदि आइस पैक नहीं है, तो कॉटन के कपड़े में बर्फ के टुकड़े लपेटकर प्रभावित एरिया पर अप्लाई करें। इससे इचिंग, स्वेलिंग और रेडनेस कम होगी और धीरे-धीरे घमौरी हील होना शुरू हो जाएगी। हालांकि, आइस क्यूब हो या आइस पैक किसी भी चीज को डायरेक्ट स्किन पर अप्लाई न करें, उन्हें कपड़े से कवर करना जरूरी है।

2. एलोवेरा

एलोवेरा में कई मेडिसिनल प्रॉपर्टीज पाई जाती है, इसके अलावा इसमें कूलिंग और एंटी इन्फ्लेमेटरी इफेक्ट होते हैं। एलोवेरा जेल को हीट रैशेज पर अप्लाई करें, इससे घमौरियां हील होती हैं, और आपको इनसे फौरन राहत मिलती है।

skin rashes treat kre
घमौरियों में कारगर है एलोवेरा। चित्र : एडॉबीस्टॉक

3. चंदन का लेप

चंदन में एंटी इन्फ्लेमेटरी का एनालिसिस इफेक्ट पाए जाते हैं, जो दर्द को कम करने के साथ ही रेडनेस और इचिंग से भी राहत प्रदान करती है। इसके अलावा सालों से चंदन को इसकी कूलिंग प्रॉपर्टी के लिए तरह-तरह की समस्याओं में इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रकार गर्मी में घमौरियों पर इसे अप्लाई करने से उन्हें हील होने में मदद मिलती है। चंदन स्टिक को गुलाब जल की मदद से रगड़ते हुए इसका लेप तैयार करें, यदि आप चाहें तो चंदन पाउडर में गुलाब जल मिलकर प्रभावित एरिया पर अप्लाई कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: स्किन को समय से पहले बूढ़ा बना सकती हैं आपकी ये 4 आदतें, जानिए क्या होता है त्वचा पर इनका प्रभाव

4. खीरे का रस लगाएं

खीरे के रस में कूलिंग प्रॉपर्टीज पाई जाती है, साथ ही इसके एंटी इन्फ्लेमेटरी इफेक्ट इसे अधिक खास बना देते हैं। इस प्रकार इन्हें हिट रैशेज पर अप्लाई करना फायदेमंद साबित हो सकता है। यह घमौरी पर होने वाले खुजली और रेडनेस को कम करने में मदद करते हैं और प्रभावित एरिया को ठंडक प्रदान करते हैं। जिससे कि हिट रैशेज की हीलिंग स्पीड बूस्ट होती है।

5. मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल

मुल्तानी मिट्टी को तमाम ब्यूटी ट्रीटमेंट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे बालों से लेकर त्वचा तक पर अप्लाई करते हैं। खासकर गर्मी के मौसम में इसका इस्तेमाल स्कैल्प और स्किन के एक्स्ट्रा ऑयल को निकालने में मदद करता है। वहीं इसे घमौरियों के लिए भी एक प्रभावी घरेलू नुस्खे के तौर पर जाना जाता है।

multani mitti for skin problem
बारिश में स्किन की समस्या से राहत दिलाने के लिए मुल्तानी मिट्टी काफी फायदेमंद है। चित्र- अडोबी स्टॉक

गुलाब जल या प्लेन पानी में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें और इसे प्रभावित एरिया पर अप्लाई करें। फिर लगभग 15 से 20 मिनट तक लगा हुआ छोड़ दें, उसके बाद इन्हें सामान्य पानी से साफ कर लें। परिणामस्वरुप आपके स्किन का सूजन कम हो जाएगा, साथ ही इचिंग और इरीटेशन से भी राहत मिलेगी।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

6. ओटमील बाथ

ओटमील इन्फ्लेमेशन और इचिंग से फौरन राहत प्रदान करता है। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी और सूदिंग प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो इसे घमौरियों का एक बेहद खास घरेलू नुस्खा बनाती हैं। ओटमील बाथ से स्किन रैशेज को कम करने में मदद मिलती है। एक कप ओटमील को अपने नहाने के पानी में मिला लें। यदि आपके पास बाथ टब है, तो उसमें ओटमील मिलाएं और फिर कुछ देर बॉडी को रेस्ट दें।

यह भी पढ़ें: Green tea in summer : वेट लॉस से लेकर त्वचा की चमक बढ़ाने तक, गर्मियों में भी आपके लिए फायदेमंद हैं ग्रीन टी

  • 111
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख