सुबह फ्रेश होने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है, तो मम्मी के बताए ये 5 नुस्खे आ सकते हैं काम

अगर आपका पेट ठीक नहीं है, तो आपका सारा दिन खराब हो सकता है। असल में कब्ज की समस्या आपके मूड और प्रोडक्टिविटी दोनों को प्रभावित कर सकती है।

kabj ka karan cancer
यदि कॉन्सटिपेशन है तो सनफ्लावर सीड ज़रूर ट्राई करें । चित्र: शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 6 October 2022, 21:00 pm IST
  • 149

पेट हमारे शरीर का वो हिस्सा है जिसके स्वस्थ होने पर हमारी पूरी बॉडी हेल्दी रहती है। इसमें थोड़ी सी भी परेशानी आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए समस्या पैदा कर सकती है। कुछ लोग हर रोज घंटो टॉयलेट में बैठे रहते है, लेकिन फिर भी उनका पेट क्लियर नहीं होता है। ऐसा कॉन्स्टिपेशन की वजह से होता है। अगर आपको भी ये परेशानी रहती है, मेरी मम्मी की रसोई में आपके लिए कुछ आसान उपाय हैं। आइए जानते हैं कब्ज और अनियमित शौच की समस्या (5 Home remedies to get rid of constipation) को दूर करने वाले 5 घरेलू उपाय।

कुछ खाद्य पदार्थों को खाने से आपको कब्ज़ हो सकता है. चित्र : शटरस्टॉक
कुछ खाद्य पदार्थों को खाने से आपको कब्ज़ हो सकता है. चित्र : शटरस्टॉक

सुबह-सुबह अगर पेट साफ़ हो जाए तो पूरा दिन सुकून भरा होता है लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है और अपने काम पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाता है। मेरी मम्मी इसके लिए खराब आदतों को जिम्मेदार ठहराती हैं।

यहां हैं वे खराब आदतें जो कब्ज का कारण बनती हैं

1. अनहेल्दी ईटिंग
2. मसालेदार, तले और फास्ट फूड का अत्यधिक सेवन
3. पर्याप्त पानी नहीं पीना
4. आहार में कम फाइबर लेना
5. खराब मेटाबॉलिज्म (metabolism)
6. अपर्याप्त नींद
7. रात में देर से डिनर करना
8. गतिहीन लाइफस्टाइल
पर समाधान क्या है

आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर दीक्षा भावसार सवालिया ने हाल ही में अपनी इंस्टा पोस्ट में बताया कि कब्ज मुख्य रूप से वात दोष में असंतुलन की वजह से होती है लेकिन इसके और भी बहुत से कारण हो सकते हैं।

लैक्सेटिव (Laxatives) का सेवन करना कोई स्थायी समाधान नहीं है, अगर आप नहीं चाहते कि आपको इन दवाओं की आदत हो, तो डॉक्टर सवालिया ने कब्ज से राहत दिलवाने के लिए कुछ साधारण से घरेलू उपाय बताये हैं।

मम्मी की रसोई में मौजूद ये 5 सामग्री हो सकती है कब्ज का उपचार

1. मेटाबॉलिज्म में सुधार के लिए इस्तेमाल करें गाय का घी

गाय का घी आपके मेटाबॉलिज्म में सुधार करता है। पेट की समस्या के लिए भैंस के घी का सुझाव नहीं दिया जाता है क्योंकि यह हर किसी को सूट नहीं करता है। गाय का घी सभी के लिए उत्तम होता है क्योंकि यह आसानी से पच जाता है। डॉ दीक्षा सुझाव देती हैं कि इसके लिए आप सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ एक चम्मच गाय का घी लें। अगर समस्या ज्यादा है तो आप रात को साेते समय भी इस उपाय को आजमा सकती हैं।

यह भी पढ़े- मस्तिष्क की समस्याओं से बचाव कर सकता है माइंड फ़ूड, क्या है यह माइंड फ़ूड

2. गाय का दूध है प्राकृतिक लैक्सेटिव

गाय का दूध एक प्राकृतिक लैक्सेटिव है। यह बच्चों से लेकर वरिष्ठ नागरिकों तक लगभग सभी के लिए काम करता है। प्रेग्नेंट औरतें भी इसका सेवन कर सकती है। इसके लिए आपको सोते समय एक गिलास गर्म दूध की पीने की जरूरत है। अगर सिर्फ दूध कारगर नहीं है, तो आप इसमें 1 चम्मच गाय का घी मिला सकते है।

ghee ke fayde
खाली पेट घी पीने से पूरा शरीर डिटॉक्स हो जाता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. फाइबर का अच्छा स्रोत है भीगी हुई किशमिश

मेरी मम्मी कभी-कभी किशमिश की सबसे बड़ी फैन लगती हैं। उनके पास हर समस्या के समाधान के लिए किशमिश सुपरइफैक्टिव उपाय है। असल में किशमिश फाइबर से भरपूर है और कब्ज से राहत दिलाने में मददगार है। पर इसे खाने से पहले भिगोना इसलिए आवश्यक है क्योंकि सूखे खाद्य पदार्थ आपके वात दोष को बढ़ा देते हैं और गैस्ट्रिक की परेशानी हो सकती है। इसे भिगोने से पचाना काफी सरल होता है।

4. आंवला शॉट

आंवला एक अद्भुत लैक्सेटिव है और नियमित रूप से इसका सेवन आपको कब्ज के साथ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी राहत दिलाता है। इसके लिए आपको बस आंवले के पाउडर या ताजे आंवले का सेवन कर सकते हैं।

5. रात भर भीगे मेथी के बीज

1 चम्मच मेथी के बीज को रात भर के लिए भिगो दें और सुबह सबसे पहले इसे खाएं। अगर समस्या ज्यादा है तो आप इस उपाय को रात में खाना खाने के बाद भी दोहरा सकती हैं।

यह भी पढ़े- दूध और रेड मीट भी हो सकता है आपके पेरेंट्स के जोड़ों में दर्द का कारण, जानिए गाउट बढ़ाने वाले फूड्स के बारे में 

  • 149
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory