एसीवी हम्मस है हमारी फैमिली का फेवरिट डिप, क्या आप जानते हैं इसके फायदे और बनाने का तरीका?

स्वाद में कमाल होने के साथ सेहत के लिए बेहद खास होते हैं ACV हम्मस, जानें इसे किस तरह तैयार करना है। आप इसे ब्रेड, रोटी, सैंडविच, सलाद आदि के साथ एंजॉय कर सकती हैं।
jaane ACV hummus banane ki vidhi
आप इसे ब्रेड, रोटी, सैंडविच, सलाद आदि के साथ एंजॉय कर सकती हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 11 Mar 2024, 06:59 pm IST
  • 123

अगर आप वेट लॉस डाइट पर हैं, या अपने लिए कुछ हेल्दी और टेस्टी डिश की तलाश में हैं, तो आपको ACV हम्मस जरूर ट्राई करनी चाहिए। ये एक तरह की चटनी है जो बेहद स्वादिष्ट होती है। इसका सेवन आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है, साथ ही इसमें कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद खास होते हैं। आप इसे ब्रेड, रोटी, सैंडविच, सलाद आदि के साथ एंजॉय कर सकती हैं। तो चलिए आज हेल्थ शॉट्स के साथ जानते हैं, एप्पल साइडर विनेगर बनाने की विधि, साथ ही जानेंगे ये किस तरह हेल्दी हो सकती है (acv hummus recipe)।

जानें ACV हम्मस बनाने की विधि (acv hummus recipe)

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए:

400 ग्राम कबूली चना (सूखा हुआ)
2 बड़े चम्मच / 40 ग्राम ताहिनी
40 ml एप्पल साइडर विनेगर
1 बड़ा चम्मच / 20 ml वर्जिन ऑलिव ऑयल
स्वादानुसार सी सॉल्ट और काली मिर्च
पानी, आवश्यकतानुसार

How to add apple cider vinegar in diet
जानिए वेट लॉस के लिए कैसे करना है एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल। चित्र : शटरस्टॉक

इस तरह तैयार करें ACV हम्मस

कबूली को सबसे पहले रात भर के लिए भिगोकर छोड़ दें, उसके बाद कुकर में दोगुना पानी डालें और इसे उबालें।

उबले हुए चने को मिक्सर में डालें और इसे अच्छी तरह ब्लेंड कर दें।

उनको ब्लेड करने के बाद एक थिक पेस्ट तैयार करें, अब कंसिस्टेंसी के अनुसार इसमें पानी डालें।

अब इस पेस्ट में ताहिनी, एप्पल साइडर विनेगर, ऑलिव ऑयल, साल्ट और काली मिर्च को एक हैंड ब्लेंडर कप या फूड प्रोसेसर में डाल दें।

स्मूद होने तक इन्हे ब्लेंड करें, हम्मस को अपनी कंसिस्टेंसी के अनुसार पतला करने के लिए पानी डालें।

ह्यूमस को मसाले के रूप में सर्व करें, या इसे बाउल में ऊपर से थोड़ा ऑलिव ऑयल डालकर सर्व करें।

कुछ जरूरी टिप्स:

1. एप्पल साइडर विनेगर – बहुत सारे विनेगर के साथ हमम्स शार्प बनता है। आप चाहें तो इसकी आधी मात्रा से शुरुआत कर सकती हैं, फिर अपने स्वाद के अनुरूप इसमें और विनेगर मिला सकती हैं।

2. बनाए इसे अधिक पौष्टिक – आप चाहें तो इसे अधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक बना सकती हैं। आप इसमें उबले हुए बीटरूट ब्लेंड कर सकती हैं। इससे स्वाद और और सुंदरता दोनो बढ़ जाती है, साथ ही इसमें फाइबर और अन्य पोषक तत्वों की गुणवत्ता भी ऐड हो जाएगी।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

3. फूड स्केल – इस हमम्स को बनाने का सबसे अच्छा तरीका डिजिटल फूड स्केल का उपयोग करना है। सीधे अपने ब्लेंडर कप या प्रोसेसर बाउल में प्रत्येक सामग्री को ग्राम में माप कर डालें। इससे इसे बनाना बहुत आसान हो जाता है।

4. स्टोरेज – हमम्स को फ्रिज में एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें। इसे 3-4 दिन तक ऐसे ही स्टोर कर सकते हैं।

जानें क्यों इतने खास हैं हम्मस

1. फाइबर का एक अच्छा स्रोत है

हम्मस में प्राकृतिक रूप से पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इसका आपके पाचन क्रिया पर बेहद सकारात्मक असर पड़ता है, क्युकी ये आपके आंत में हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ा देता है। ये हेल्दी बैक्टीरिया आपके आंतों को स्वस्थ रखते हैं, और पाचन प्रक्रिया को बढ़ावा देते हैं।

Diabetes se jude kuchh myths ki sachchai
यहां जानें डायबिटीज में किस तरह फायदेमंद हो सकता है ACV हम्मस। चित्र: शटरस्टॉक

2. ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करे

प्रोटीन और फाइबर हम्मस को सुपाच्य बनाते हैं। इसके साथ ही इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स लो होता है, और ये बॉडी में अधिक ऊर्जा का संचार करता है। इस प्रकार के फूड्स के सेवन से ब्लड शुगर लेवल संतुलित रहता है।

यह भी पढ़ें: Millet Milk : ये 5 तरह के मिलेट मिल्क बन रहे हैं वीगन डाइट का नया ट्रेंड, आप भी जानिए इनके फायदे

3. वेट मैनेज करे

हम्मस आपके बॉडी वेट को मैनेज करने में मदद करता है। इसमें मौजूद फाइबर और प्रोटीन, आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है, जिससे आपको बार बार भूख नहीं लगती साथ ही आप सीमित मात्रा में कैलोरी इंटेक करती हैं। वहीं आप इसे प्रोसेस्ड बटर, मायोनिज, आदि के हेल्दी सब्स्टीट्यूट के तौर पर इस्तेमाल कर सकती हैं।

4. इंफ्लेमेशन को कम करे

सूजन शरीर का खुद को संक्रमण, बीमारी या चोट से बचाने का तरीका है। हालांकि, कभी-कभी सूजन आवश्यकता से अधिक समय तक बनी रह सकती है। इसे क्रोनिक सूजन कहा जाता है और इसे कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से जोड़ा गया है। हम्मस स्वस्थ तत्वों से भरपूर होते हैं, जो पुरानी सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। ऑलिव ऑयल में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इनफ्लेमेट्री प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो इसे अधिक खास बना देती हैं।

यह भी पढ़ें: गूगल ने बनाया फ्लैट व्हाइट कॉफी का डूडल, हमारे पास है इसकी रेसिपी और कुछ रोचक तथ्य

  • 123
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख