सलाद में भी एड किया जा सकता है हर्ब्स का जादू, यहां हैं इम्युनिटी और गट हेल्थ बूस्ट करने वाले 4 हर्ब्स के फायदे

पोषक तत्वों से भरपूर जड़ी-बूटियां जोड़ दी जाए तो सलाद की गुणवत्ता और अधिक बढ़ जाती है। अजमोद, पुदीना और तुलसी जैसे हर्ब्स में छिपे स्वास्थ्य लाभों का फायदा उठाने के लिए इन्हे अपने सलाद में ऐड करें।
सभी चित्र देखे Jaane kuch khas salad herbs ke baare me
यहां जानें त्वचा के लिए सलाद किस तरह है फायदेमंद। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 29 Nov 2023, 05:00 pm IST
  • 120

हरी सब्जियों की गुणवत्ता से तैयार हुआ सलाद सेहत के लिए कितना महत्वपूर्ण है, इस बात से तो आप सभी परिचित होंगी। यदि इनमें पोषक तत्वों से भरपूर जड़ी-बूटियां जोड़ दी जाए तो सलाद की गुणवत्ता और अधिक बढ़ जाती है। मेरी मां ने कभी बिना हर्ब्स की गार्निशिंग के मुझे सलाद सर्व नहीं किया। ऐसे में मैं हमेशा यह सोचती थी की वे सलाद के ऊपर हर्ब्स (best herbs for salads) को क्यों स्प्रिंकल करती हैं? अजमोद, पुदीना और तुलसी जैसे हर्ब्स में छिपे स्वास्थ्य लाभों को जानने के बाद मुझे यह एहसास हुआ की सलाद को हर्ब्स से गार्निश करना कितना फायदेमंद हो सकता है। मैंने सोचा क्यों न इस हेल्दी ईटिंग टिप को आपके साथ भी शेयर किया जाए।

मां के इस भरोसेमंद रिचुअल को लेकर मैंने एक्सपर्ट से सलाह ली। सेलिब्रिटी न्यूट्रीशनिस्ट और हेल्थ टोटल की फाउंडर अंजली मुखर्जी ने सलाद में कुछ महत्वपूर्ण पोषक तत्वों को जोड़ने की सलाह देते हुए इनके फायदे भी बताए हैं (salads with the superpowers of herbs)। तो चलिए जानते हैं सलाद को हर्ब्स से गार्निश करना आपकी सेहत के लिए किस तरह से हो सकता है फायदेमंद।

जानें सेहत के लिए कौन-कौन से हर्ब्स होते हैं फायदेमंद (best herbs for salads)

1. मिन्टी मैजिक: पुदीना

पुदीना में कार्मिनेटिव प्रॉपर्टी पाई जाती है, जिन्हे पाचन प्रक्रिया को सूद करने के लिए जाना जाता है। इसके साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्व अपच, श्वांस संबंधी समस्याएं आदि में भी बेहद कारगर होते हैं। पुदीने की पत्तियों में क्लोरोफिल पाया जाता है, जिससे यह प्राकृतिक ब्लड प्यूरीफायर की तरह काम करती हैं। वहीं सर्दियों में इनका सेवन गले की खराश को कम करने के साथ ही छाती में जमे कफ को भी बहार निकालने में मदद करते हैं।

rasoi ke masale ke fayde
एंटी ऑक्सीडेंटस और एंटीमाइक्रोबिय गुणों से भरपूर पुदीना शरीर को डिटॉक्स करने का काम करता है। चित्र: शटरस्टॉक

2. पार्सले पर्क्स: अजमोदा

अजमोदा में ड्यूरेटिक प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं, जो इसे वॉटर रिटेंशन से पीड़ित व्यक्ति के लिए खास बना देती हैं। इसमें मौजूद फ्लेवोनॉयड, खासकर लुटोलीन एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हुए सेल्स को डैमेज होने से बचाते हैं। इसके साथ ही अजमोदा विटामिन ए, विटामिन सी, आयरन और फोलिक एसिड का एक अच्छा स्रोत है। यह सभी पोषक तत्व सेहत के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते हैं, और आपको स्वस्थ रहने में मदद करते हैं। इन्हे सलाद में ऐड करने से आपकी त्वचा स्वास्थ्य में भी सुधर देखने को मिलेगा।

यह भी पढ़ें : कोलेजन को नेचुरली बढ़ाना है, तो आज ही से अपनी डाइट में शामिल करें ये खास फूड्स

3. बेसिल ब्रिलिएंस: तुलसी

तुलसी की पत्तियां लंग्स क्लिंजर की तरह काम करती हैं और जमें म्यूकस को कम करने के साथ ही अस्थमा अटैक को रोकती हैं। इसके साथ ही ये कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व जैसे आयरन, वियामिन बी6, मैग्नीशियम और विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत हैं। तुलसी की पत्तियां पाचन क्रिया को संतुलित रखते हुए शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद करती हैं। इतना ही नहीं यह तमाम तरह के संक्रमण, खासकर सर्दी और खांसी से शरीर को प्रोटेक्ट करती हैं। इनका नियमित सेवन त्वचा स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

dhaniya ke fayde
भोजन तैयार करने के लिए धनिया का प्रयोग व्यंजनों की गुणवत्ता बढ़ा सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

4. कोरिएंडर क्रेव: धनिया की पत्तियां

सर्दी हो या गर्मी धनिया की पत्तियां सदाबहार होती हैं, वहीं इन्हे हर मौसम डाइट में शामिल किया जा सकता है। धनिया की पत्तियों में मौजूद प्रॉपर्टीज इसे इम्युनिटी को बढ़ावा देने में मदद करती हैं, जिससे शरीर तमाम स्वास्थ्य समस्यायों से लड़ने के लिए तैयार रहता है, खासकर आपको मौसमी संक्रमण परेशान नहीं करते। वहीं यह पाचन क्रिया को संतुलित रखते हुए, अपच, गैस, कब्ज आदि की स्थिति में कारगर होते हैं। इनके सेवन से ब्लड प्रेशर और ब्लड ग्लूकोज लेवल दोनों ही स्थिर रहता है। साथ ही साथ यह त्वचा स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देते हैं।

कैसे करें इन हर्ब्स को सलाद में शामिल

इन हर्ब्स को सलाद में शामिल करने के लिए आपको कुछ भी खास नहीं करना है। नियमित सलाद तैयार कर लें, फिर इन हर्ब्स में से कोई भी एक या दो हर्ब की पत्तियों को साफ़ करके, छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और अपने सलाद के ऊपर स्प्रिंकल करें। यह आपके सलाद का स्वाद बढ़ाने के साथ ही आपकी सलाद की गुणवत्ता को भी बढ़ावा देता है।

यह भी पढ़ें : क्या नॉन वेजिटेरियन फूड्स हो सकते हैं बढ़ते मोटापे के लिए जिम्मेदार? आइये एक्सपर्ट से जानते हैं

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 120
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख