क्या फर्मेंटेड लहसुन और शहद से हो सकता है सर्दी-जुकाम का उपचार? आइए चेक करते हैं

शहद और लहसुन को अपनी इम्युनिटी बूस्टिंग प्रोपर्टीज के लिए जाना जाता है। मेरी मम्मी कहती हैं कि यह सर्दी-चुकाम का भी प्रभावी उपचार है। क्या वास्तव में ऐसा है? चलिए चेक करते हैं कि साइंस इस बारे में क्या कहता है।
fermented garlic and honey ke fayde
औषधीय गुणों वाला माना गया है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 16 Jan 2024, 02:40 pm IST
  • 145

लहसुन मेरी मम्मी का और शहद मेरे पापा का फेवरिट इंग्रीडिएंट है। वे किसी न किसी बहाने से इस अपने आहार में जरूर शामिल करते हैं। फिर चाहें लहसुन के तड़के वाली दाल-सब्जी हो या नींबू के साथ शहद मिला गुनगुना पानी पीना। ये दोनों इंग्रीडिएंट लगभग हर मौसम में हमारी रसोई में उपलब्ध रहते हैं। इन दिनों कुछ ऐसे वीडियोज आ रहे हैं, जो दावा करते हैं कि फर्मेंटेड लहसुन और शहद खाने से सर्दी और फ्लू का उपचार किया जा सकता है। क्या वास्तव में लहसुन और शहद फ्लू और सर्दी से बचाव कर सकते हैं? चलिए चेक करते हैं।

आयुर्वेद में लहसुन और शहद दोनों को ही औषधीय गुणों वाला माना गया है। वहां अलग-अलग तरीके से इन दोनों ही सामग्रियों के सेवन के लाभ बताए गए हैं। पर इन्हें मिलाकर फर्मेंट करने से भी कोई फायदा होता है या नहीं चलिए जानते हैं।

शहद और लहसुन के बारे में क्या कहते हैं शोध

लहसुन और शहद दोनों के अपने अलग-अलग लाभ हैं। शहद का उपयोग सदियों से औषधि के रूप में किया जाता रहा है। शहद में सूजनरोधी, रोगाणुरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के साथ फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं।

2021 में कई अध्ययनों में पाया गया है कि शहद सर्दी, खांसी के लक्षणों को कम करने में प्रभावी साबित होता है। शहद आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ा सकता है। इस बात का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है कि आप कौन से शहद का इस्तेमाल कर रहें है। मनुका शहद फ्लू वायरस से लड़ने के लिए काफी अच्छा माना जाता है।

honey or garlic ke flu mei fayde=
लहसुन और शहद दोनों के अपने अलग-अलग लाभ हैं।चित्र- अडोबी स्टॉक

जबकि लहसुन के अर्क की गोलियां आपके रक्त में टी कोशिकाओं को बढ़ा सकती हैं। ये कोशिकाएं आपके शरीर से वायरस को दूर रखती हैं। एक अध्ययन यह भी बताता है कि लहसुन का अर्क सर्दी और फ्लू की गंभीरता को कम कर सकता है। हालांकि लहसुन पूरी तरह से सर्दी को रोक नहीं सकता है या उसका इलाज नहीं कर सकता है, लेकिन यह एक निवारक के रूप में जरूर काम कर सकता है।

क्या बताया जा रहा है फर्मेंटेड लहसुन और शहद लेने का तरीका

सबसे सरल शब्दों में समझें तो फर्मेंटेड लहसुन-शहद कच्चे शहद और लहसुन की कलियों का मिश्रण है, जिसे कई हफ्तों तक खमीर के लिए छोड़ दिया जाता है। यह महत्वपूर्ण है कि शहद कच्चा और बिना किसी प्रोसेस के उपलब्ध हो। शहद में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले बैक्टीरिया बहुत कम या बिल्कुल नहीं होते हैं। जो खमीर के लिए आवश्यक होते हैं।

क्या फर्मेंटेड शहद और लहसुन सर्दी, फ्लू में काम करते हैं?

डॉ. राजेश्वरी पांडा मेडिकवर अस्पताल, नवी मुंबई में पोषण और आहार विज्ञान विभाग की एचओडी है। वो बताती है कि ऐसा कोई शोध नहीं है जो शहद और लहसुन को फर्मेंटेड करके सर्दी और फ्लू के लिए सही बताता है। कच्चे शहद और लहसुन दोनों में बोटुलिज़्म का जोखिम हो सकता है। शहद में कीटनाशक, एंटीबायोटिक्स, धातुएं और अन्य जहरीले पदार्थ कंटैमिनेट हो सकते हैं। जिससे ये आपके लिए जहरीला भी हो सकता है।

एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों को शहद का सेवन नहीं करवाना चाहिए। यह उन लोगों के लिए भी सुरक्षित नहीं है जिनकी प्रतिरक्षा कमजोर है। जिन्हें मधुमक्खी पोलन से एलर्जी है, उन्हें भी इससे बचने की जरूरत है।

अगर आपको सर्दी और फ्लू है, तो राहत के लिए आप इन उपायों को अपना सकते हैं

चिकन सूप

जब आप बीमार हों तो चिकन सूप मदद करता है। शोध से पता चलता है कि चिकन सूप आपके ऊपरी श्वसन संक्रमण को कम करने में सबसे प्रभावी है। कम सोडियम वाला सूप आपको हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है। ये आपको अंदर से गर्म करने का काम भी करता है।

Garlic benefits
सुखी खांसी से रहत दिलाने में फायदेमंद है लहसुन। चित्र:शटरस्टॉक

शहद

लेमन टी जिसमें शहद को मिलाया गया हो, आपके गले के दर्द को शांत करने में मदद करती है। शहद कफ निवारक के रूप में भी काम करता है। सोने से पहले शहद का सेवन करें, यह गले में दर्द और जलन को कम करने और आरामदायक नींद देने में सहायता कर सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

नमी को बढ़ाएं

आपके आस-पास नमी बढ़ने से इन्फ्लूएंजा का जोखिम कम हो जाता है, जो सूखे वातावरण में आसानी से फैलता है। ह्यूमिडिफ़ायर नाक की सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही आप भाप भी ले सकते है। ये खांसी को कम कर सकती है और गले में नमी बना सकती है।

ये भी पढ़े- बीमार होने के बावजूद काम करते रहते हैं, तो इन गंभीर स्वास्थ्य जोखिमों के लिए रहें तैयार

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख