और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

बच्चों को मानसून से जुड़ी बीमारियों से बचाने के लिए डॉक्टर बता रहे हैं ये 8 टिप्स

Updated on: 9 July 2021, 17:32pm IST
मानसून के दौरान बच्चों के बीमार होने की आशंका होती है, लेकिन डॉक्टर द्वारा सुझाए गए ये 8 टिप्स बारिश के मौसम में भी उन्हें सुरक्षित और स्वस्थ रखने में आपकी मदद कर सकते हैं।
Dr Suresh Kumar Panuganti
  • 82 Likes
bacchon mein viral fever
विरल फीवर के बढ़ रहे हैं मामले।चित्र -शटरस्टॉक

बारिश से प्रकृति में जान आ जाती है। जितना हम बरसात के मौसम से प्यार करते हैं, वह अपनी चुनौतियों के साथ आता है, खासकर जब आपके घर में एक बच्चा होता है।

मानसून में बच्चों को बीमार पड़ने से बचाना

यहां 8 सुझाव दिए गए हैं, जो मानसून के दौरान बच्चों की देखभाल करने में सहायक हो सकते हैं:

1. कपड़े

बारिश में मौसम बदलता रहता है। दिन का समय गर्म और उमस भरा हो सकता है, जबकि रात में यह थोड़ा सर्द हो सकता है। दिन के समय नरम और हल्के कपड़े बेहतर होते हैं और पूरी बाजू वाले कपड़ों की एक अतिरिक्त परत बच्चों को रात में गर्म रखेगी।

2. उन्हें गर्म और सूखा रखें

नमी से संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए, यह उचित है कि हम बच्चों को बाहर निकलते समय रेनकोट और छाते ले जाने के लिए प्रोत्साहित करें। यदि बच्चा भीग जाता है, तो हमें उसे घर पहुँचने के तुरंत बाद साफ और सूखे कपड़े बदलने के लिए कहना चाहिए।

बच्चों को बारिश में होने वाली बीमारियों से बचाएं. चित्र : शटरस्टॉक
बच्चों को बारिश में होने वाली बीमारियों से बचाएं. चित्र : शटरस्टॉक

3. डायपर बदलें

मानसून में बार-बार पेशाब आना एक आम बात है। यदि आपके छोटे बच्चे हैं, तो गीलेपन और फंगल संक्रमण से बचने के लिए डायपर को बार-बार बदलना ज़रूरी है।

4. मच्छरों से सुरक्षा

बरसात के मौसम में मच्छर पनपते हैं जिससे बच्चों को डेंगू और मलेरिया जैसे खतरनाक संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए, अपने बच्चे को ढीले, पूरी बाजू के कपड़ों से ढँक दें, जिससे त्वचा कम से कम उजागर हो। मच्छरों के काटने से बचने के लिए आप मच्छरदानी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। बड़े बच्चों पर मच्छर भगाने वाली क्रीम का इस्तेमाल किया जा सकता है।

5. दस्त रोकें

बारिश से पेयजल दूषित होता है। गंदा पानी पीने से डायरिया का संक्रमण बढ़ जाता है। हमेशा फिल्टर्ड आरओ वाटर का इस्तेमाल करें। आप पानी को उबाल भी सकती हैं और ठंडा होने पर इसका सेवन कर सकते हैं। बार-बार हाथ धोना दस्त से दूर रहने की कुंजी है। बाहर के खाने से परहेज करें और बच्चों को घर का बना ताजा खाना ही दें।

6. स्वच्छता

बारिश के दौरान जमा पानी, कीचड़ और गंदे फर्श को साफ करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। जब भी बच्चा घर आता है तो हाथ-पैर धोना बहुत ज़रूरी है। बारिश के मौसम में फर्श को कम से कम दो बार साफ करना पड़ता है। फर्श की सफाई करते समय पानी में एंटीसेप्टिक लिक्विड के साथ कुछ फ्लोर क्लीनर मिलाएं। सुनिश्चित करें कि बच्चा साफ कपड़े, मोजे और जूते पहने। बच्चे के मोजे रोजाना धोएं। सप्ताह में कम से कम एक बार बच्चों के खिलौनों को धोएं और सुखाएं।

बच्चों को संतुलित आहार दें। चित्र : शटरस्‍टॉक
बच्चों को संतुलित आहार दें। चित्र : शटरस्‍टॉक

7. संतुलित आहार

सुनिश्चित करें कि बच्चों के पास स्वस्थ आहार है, और स्ट्रीट फूड से बचने की भी कोशिश करें। अपने आहार में पर्याप्त साग और मौसमी फल जैसे केला, पपीता और अनार शामिल करें। अपने बच्चे के आहार में चुकंदर को शामिल करें, क्योंकि यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। पहले से कटे हुए फल और सलाद खाने से बचें। सूखे मेवे मानसून के दौरान इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक हैं।

8. फ्लू से बचाव

अपने बच्चे के नियमित टीकाकरण शॉट्स को मिस न करें। अपने बच्चे को फ्लू से बचाने के लिए आप जो सबसे अच्छी चीज कर सकते हैं, वह है उन्हें इन्फ्लुएंजा का टीका लगवाना। इसके अलावा, बच्चे को बीमार माता-पिता या किसी रिश्तेदार से दूर रखना जरूरी है।

आप अपने बच्चे की छतरी हैं! सभी आवश्यक सावधानियां बरतते हुए और कोविड-19 गाइडलाइन्स को ध्यान में रखकर उन्हें मानसून का आनंद लेने दें।

यह भी पढ़ें : अपने बच्चे के दैनिक आहार में शामिल करें ये 5 खाद्य पदार्थ, तेजी से बढ़ेगी लंबाई

Dr Suresh Kumar Panuganti Dr Suresh Kumar Panuganti

Dr Suresh Kumar Panuganti, Lead Consultant Pediatric Intensivist, Yashoda Hospitals Hyderabad