वेट लॉस से लेकर डायबिटीज तक में फायदेमंद हैं ये 6 रूट वेजिटेबल्स, मानसून डाइट में जरूर करें शामिल

बरसात के मौसम में जब हरी पत्तेदार सब्जियां कम खानी हैं, टमाटर-गोभी के दाम बढ़ते ही जा रहे हैं, तब ये कुछ खास रूट वेजिटेबल्स आपके खाने का स्वाद और सेहत दोनों बढ़ा सकती हैं। खासतौर से अगर आप शुगर या वेट कंट्रोल करना चाहती हैं।
root vegetable ke fayde
इन 6 रूट वेजिटेबल्स के साथ करें डायबिटीज और वेट कंट्रोल। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 10 Jul 2023, 03:53 pm IST
  • 124

रुट वेजिटेबल यानि की जड़ में उगने वाले पौधे। जड़ से साफ जाहिर होता है कि ये सब्जियां जमीन के अंदर उगती हैं। आमतौर पर रूट वेजिटेबल सर्दी के मौसम में उपजती हैं। परंतु इनमें से कई सब्जियों को स्टोर करके रख लिया जाता है। वहीं इन्हें गर्मी में भी खाया जाता है। ऐसी कई और रूट वेजिटेबल हैं जिन्हें गर्मी के मौसम में भी आसानी से उपजाया जा सकता है। इन सब्जियों में बेहद महत्वपूर्ण पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो डायबिटीज, मोटापा, ब्लड प्रेशर इत्यादि जैसे तमाम लाइफस्टाइल डिसऑर्डर की स्थिति में फायदेमंद होते हैं।

आज हेल्थ शॉट्स आपको बताएगा क्यों इन खास रुट वेजिटेबल्स को डाइट में शामिल करना महत्वपूर्ण है। साथ ही जानेंगे सेहत के लिए इनके कुछ महत्वपूर्ण लाभ (root vegetables to lose weight)।

यहां हैं 6 महत्वपूर्ण रुट वेजिटेबल के नाम (root vegetables to lose weight)

1. चुकंदर

सबसे स्वास्थ्यप्रद जड़ वाली सब्जियों में चुकंदर भी शामिल है। मैंगनीज, फाइबर और फोलेट से भरपूर चुकंदर को पका कर खाया जाता है, इनका जूस बनाया जाता है, यहां तक कि इन्हें कच्चा भी खाया जाता है। यह शरीर के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन की माने तो चुकंदर रक्त वाहिकाओं को फैलाने में मदद करता है और हाई ब्लड प्रेशर के स्थिति में कारगर होता है। वहीं यह बेहतर हृदय स्वास्थ्य को भी बढ़ावा दे सकता है। इसके अलावा, यह त्वचा में रक्त के प्रवाह को भी बढ़ा देता है जिससे कि त्वचा बेदाग और ग्लोइंग नजर आती है।

beetroot ke fayde
यहां जाने किस तरह फायदेमंद होती है बीटरूट। चित्र शटरस्टॉक।

2. लहसुन

अपने जीवंत स्वाद और औषधीय गुणों के लिए जाना जाने वाला लहसुन एक ऐसा रुट वेजिटेबल है जिसका उपयोग भारतीय और दुनिया भर के व्यंजनों में फ्लेवर ऐड करने के लिए किया जाता है। यह न सिर्फ स्वाद बढ़ाता है बल्कि सेहत के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं है।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार यह शरीर में ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। वहीं यह इम्युनिटी को बढ़ावा देता है और शरीर को संक्रमित करने वाले जर्म्स और बैक्टीरिया से प्रोडक्ट करता है।

3. आलू

आलू भारत भर की रसोई में सबसे अधिक खपत होने वाली सब्जियों में से एक है। क्या आप जानते हैं कि दुनिया भर में 2000 से अधिक किस्मों की आलू की खेती की जाती है? पब मेड सेंट्रल के अनुसार यह न केवल बहुमुखी है बल्कि आलू विटामिन सी, विटामिन बी 6, फाइबर, पोटेशियम और मैंगनीज का भी एक अच्छा स्रोत है।

आलू आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है और आपको बार वह भूख नहीं लगने देता, जिससे कि आप सीमित मात्रा में कैलोरी इनटेक करती हैं। वहीं यह वेट मैनेजमेंट में भी असरदार होता है।

wajan kam krta hai aaloo.
आलू वसा रहित, कोलेस्ट्रॉल मुक्त होने के साथ-साथ सोडियम में भी कम होता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

4. मूली

मूली देखने में साधारण लग सकती है लेकिन यह पोषण से भरपूर होती है। रिसर्च गेट में मूली को लेकर प्रकाशित स्टडी की मने तो इसमें कैलोरी की सीमित मात्रा मौजूद होती है, वहीं कार्ब्स भी कम होते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन सी के साथ-साथ फाइबर की भरपुर मात्रा पाई जाती है। मूली में एंटी-फंगल गुण होते हैं और यह एक अद्भुत और कुरकुरा नाश्ता बन सकता है।

यह भी पढ़ें : क्या टमाटर की जगह रेडीमेड टोमेटो प्यूरी का इस्तेमाल करना सही है? जवाब है ‘नहीं’, कारण हम बताते हैं

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. प्याज

प्याज एक सबसे लोकप्रिय रुट वेजिटेबल है, जिसका उपयोग भारत में लगभग सभी व्यंजनों को बनाने में किया जाता है। इसका इस्तेमाल कई व्यंजनों में मुख्य सामग्री के तौर पर किया जाता है। इतना ही नहीं यह स्वाद के साथ साथ कई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन की माने तो प्याज में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी और फाइबर मौजूद होते हैं। वहीं प्याज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट शरीर में फ्री रेडिकल्स से होने वाले ऑक्सीडेटिव डैमेज से सेल्स को प्रोटेक्ट करती हैं। प्याज के सेवन।से ब्लड शुगर का स्तर भी नियंत्रित रहता है।

pyaaj ke fayde
एंटी-फंगल गुण होते हैं और यह एक अद्भुत और कुरकुरा नाश्ता बन सकता है। चित्र : एडोवीटॉक

6. शलजम

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार शलजम में विटामिन सी की भरपूर मात्रा मौजूद होती है, जो स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करता है और संक्रमण से लड़ने के लिए शरीर को पूरी तरह से तैयार रखता है। वहीं इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, मैंगनीम और कॉपर मौजूद होता है।

इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही यह हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है और आंख, हड्डी एवं फेफड़ों की सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। यदि आप वेट लॉस डाइट पर हैं तो इसे जरूर खाएं।

यह भी पढ़ें : बरसात के मौसम में 5 संक्रमणों से बच्चे होते हैं सबसे ज्यादा बीमार, जानिए उन्हें कैसे बचाए रखना है

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख