Black Pepper Vs Red Chilli : जानिए स्वास्थ्य के लिए क्या है बेहतर लाल मिर्च या काली मिर्च

Published on: 8 April 2022, 19:30 pm IST

मम्मी कहती हैं मॉडरेशन में काली मिर्च है लाल मिर्च से बेहतर। जानिए क्या है इन दोनों के बीच का अंतर और स्वास्थ्य लाभ।

aapke swaasthy ke liye kya hai behatr laal mirch ya kaali mirch
जानिए स्वास्थ्य के लिए क्या है बेहतर लाल मिर्च या काली मिर्च. चित्र : शटरस्टॉक

आपने अक्सर देखा होगा कि जब भी भारतीय खानपान की बात आती है, तो घरों में खाना पकाने में लाल मिर्च (Red Chili Powder) का ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है। दूसरी ओर विदेशी खानपान में काली मिर्च (Black Pepper) का ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है। कहने को हैं, दोनों मिर्च ही और तीखी भी हैं, लेकिन दोनों का स्वाद, पोषण और गुण एक दूसरे से बिल्कुल अलग हैं।

मेरी मम्मी कहती है कि लाल मिर्च पेट में जलन का कारण बन सकती है। इसके अलावा, काली मिर्च के औषधीय लाभ भी होते हैं। हालांकि, दोनों मिर्च हैं और ज़्यादा इस्तेमाल करने पर एक सा ही काम करती हैं। मगर दोनों के गुण – दोष अलग – अलग हैं। कई लोग हैं जो मिर्च को काली मिर्च के साथ भ्रमित करते हैं लेकिन करीब से देखने पर दोनों के बीच एक बड़ा अंतर देखा जा सकता है।

तो आइये पता करते हैं कि मिर्च और काली मिर्च में क्या अंतर है? (Difference between chili and pepper in hindi)

सूखी लाल मिर्च वजन में हल्की होती है, लंबे समय तक चलती है और इसमें बीज होते हैं। लाल मिर्च का उपयोग खाद्य पदार्थों के साथ-साथ सॉस में भी किया जाता है ताकि उनमें तीखा स्वाद आ सके, विशेष रूप से मीट। लाल मिर्च पाउडर को भोजन के ऊपर नहीं छिड़का जा सकता क्योंकि यह बहुत तेज होता है और जलन का कारण बनता है।

जहां लाल मिर्च भोजन में तेज स्वाद जोड़ती है। इसका उपयोग खाना पकाने में किया जाता है ताकि यह मांस या सब्जियों में अच्छी तरह से अवशोषित हो जाए। वहीं काली मिर्च स्वाद में हल्की होती है लेकिन अधिक स्वादिष्ट होती है और इसे आमतौर पर खाने पर ऊपर से छिड़कने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसे व्यक्तिगत पसंद के अनुसार इस्तेमाल किया जाता है।

लाल हो या काली मॉडरेशन में मिर्च स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है

लाल मिर्च के फायदे (Benefits of Lal Mirch)

मिर्च में इस शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो घाव भरने और प्रतिरक्षा समारोह के लिए महत्वपूर्ण है। इसमें मौजूद B विटामिन ऊर्जा चयापचय में भूमिका निभाता है। फाइलोक्विनोन के रूप में भी जाना जाने वाला विटामिन K1 रक्त के थक्के और स्वस्थ हड्डियों और गुर्दे के लिए आवश्यक है। पोटेशियम पर्याप्त मात्रा में सेवन करने पर आपके हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है। लाल मिर्च में बीटा कैरोटीन की मात्रा अधिक होती है, जिसे आपका शरीर विटामिन A में बदल देता है।

aapke swaasthy ke liye faydemand hai kali mirch
आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है काली मिर्च। चित्र : शटरस्टॉक

काली मिर्च के फायदे (Benefits of kaali Mirch)

काली मिर्च पोटैशियम से भरपूर होती है। पोटेशियम हृदय गति को नियंत्रित करने में मदद करता है और रक्तचाप को नियंत्रित करने में उपयोगी है। काली मिर्च आयरन से भरपूर होती है और निम्न रक्तचाप से निपटने में उपयोगी होती है। काली मिर्च मैंगनीज से भरपूर लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में उपयोगी है और एक एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम है। यह विटामिन बी जैसे राइबोफ्लेविन, थायमिन, नियासिन और जिंक से भी भरपूर है। काली मिर्च कैल्शियम के समृद्ध स्रोतों में से एक है। यह विटामिन K से भी भरपूर होती है।

जानिए स्वास्थ्य के लिए है कौन सी मिर्च ज़्यादा नुकसानदायक

यूं तो ज़्यादा मिर्च खाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। लेकिन फिर भी लाल मिर्च ज़्यादा नुकसानदायक है। अगर आप लाल मिर्च पाउडर ज्यादा खा रहे हैं तो पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। वास्तव में, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ से पता चला है कि मसालेदार भोजन किसी व्यक्ति के भोजन में पोषक तत्वों को नष्ट कर सकता है और विभिन्न पाचन समस्याओं को जन्म दे सकता है।

लाल मिर्च पाउडर का अधिक मात्रा में सेवन करने से मुंह में छाले हो सकते हैं। दरअसल, लाल मिर्च बहुत तीखी होती है और कई लोगों को तीखा खाना पसंद होता है।

यदि आप बहुत अधिक लाल मिर्च पाउडर खाते हैं, तो आपके पेट में अल्सर होने का खतरा हो सकता है। यह बीमारी आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकती है। लाल मिर्च में एफ्लाटॉक्सिन नामक रसायन पाया जाता है, जो कुछ मामलों में पेट के अल्सर, लिवर सिरोसिस और यहां तक कि पेट के कैंसर के विकास के जोखिम को बढ़ा सक है।

यह भी पढ़ें : पानी में मिलाएं या सलाद पर निचोड़ें, हर तरह से आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है नींबू

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।