Navel oiling : नाभि में नारियल तेल लगाना इन 5 कारणों से है आपके लिए फायदेमंद, एक्सपर्ट भी करती हैं सिफारिश

नाभि में तेल डालने की प्रथा सदियों पुरानी है। दरअसल, नेवल ऑयलिंग से नाभि के चक्र को बैलेंस करने में मदद मिलती है। जानिए क्या होता है जब आप नाभि में नारियल का तेल लगाते हैं। एक्सपर्ट बता रहे हैं इसके 5 फायदे
coconut oil navel ko moisturize krne ka kaam krta hai
रात में सोने से पहले नाभि में नारियल के तेल की 2 से 3 बूंद डालकर मसाज करें। इससे शारीरिक समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है। चित्र :अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 15 May 2024, 10:28 am IST
  • 141

मॉइश्चराइजिंग गुणों से भरपूर नारियल तेल जहां बालों की मज़बूती और चेहरे के ग्लो को बरकरार रखता है, तो वहीं इसे नाभि पर लगाने पर भी कई फायदे मिलते हैं। दरअसल, नाभि में तेल डालने की प्रथा सदियों पुरानी है। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को मज़बूत बनाए रखने में मदद करने वाला नारियल का तेल मां की रसोई में हर दम मौजूद रहता है। बच्चों से लेकर बड़ों हर कोई इसे अप्लाई कर सकता है।

आयुर्वेद की दृष्टि से बेहद कारगर नारियल के तेल को नाभि पर लगाने से शरीर के संतुलन को बनाए रखने में मदद मिलती है। बचपन में मां नाभि में नारियल के तेल को लगाने के लिए कई फायदे गिनवाया करती थी। दरअसलए नेवल ऑयलिंग से नाभि के चक्र को बैलेंस करने में मदद मिलती है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च डिटॉक्सीफिकेशन के अनुसार पेचोटी ग्लैंड बैली बटन के पीछे स्थित है जिसके ऊपर 72,000 से अधिक नसें होती हैं। नाभि में नारियल का तेल डालने से आंखों का सूखापन, आंखों की कम रोशनी, पैंक्रिया की समस्या और फटी एड़ियों की समस्या को दूर करते हैं। इसके अलावा होंठ, चेहरे की चमक, चमकदार बाल और शरीर को हेल्दी बनाए रखने में मदद करता है। रात में सोने से पहले नाभि में नारियल के तेल की 2 से 3 डालकर मसाज करें। इससे शारीरिक समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है।

जानिए क्या होता है जब आप नाभि में नारियल का तेल लगाते हैं

इस बारे में आयुर्वेद एक्सपर्ट अनिल बंसल बताते हैं कि कोकोनट ऑयल से नेवल ऑयलिंग करने से शरीर के सभी अंगों को फायदा मिलता है। नाभि में नारियल के तेल को लगाने से एब्जॉर्बशन में मदद मिलती है। नारियल का तेल नेवल में अप्लाई करने से त्वचा को हेल्दी बनाने से लेकर दर्द से राहत दिलाने तक मदद करता है। इसके अलावा शरीर को तनावमुक्त रखने में भी सहायता करता है।

दरअसल, गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए नाभि एक जीवन रेखा के समान होती है। गर्भनाल के माध्यम से ही बच्चे भोजन और ऑक्सीजन की प्राप्ति होती है। दरअसल, नाभि रक्त वाहिकाओं की मदद से शारीरिक अंगों और नसों के ज़रिए पूरे शरीर से जुड़ा हुआ है। ऐसे में जब नाभि पर तेल लगाया जाता है, तो यह आपके पूरे शरीर को फायदा पहुंचा सकता है।

navel massage ke fayde
नाभि पर मौजूद मनिपुर चक्र समस्त स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाता है। ऐसे में नाभि में नारियल तेल डालने से वात को रेगुलेट करने में मदद मिलती है। चित्र : शटरस्टॉक

नारियल तेल नाभि में लगाने की क्यों की जाती है सिफारिश

आयुशक्ति की को फाउंडर डॉ समिता नरम बताती हैं कि नाभि में नारियल तेल लगाने से शरीर को कई फायदे मिलते हैं। आयुर्वेद की दृष्टि से नाभि एक महत्वपूर्ण बिंदु है। शिशु नाभि के ज़रिए मां के संपर्क में रहता है और जन्म के दौरान गर्भनाल को अलग कर दिया जाता है।

नाभि पर मौजूद मनिपुर चक्र समस्त स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाता है। ऐसे में नाभि में नारियल तेल डालने से वात को रेगुलेट करने में मदद मिलती है। इससे व्यक्ति का शरीर सुरक्षित, आरामदायक और हेल्दी महसूस करता हैं। नाभि में तेल डालने से वात और पित्त को शांत करने में मदद मिलती है।

जानते हैं नाभि में नारियल का तेल लगाने के फायदे

1. नारियल का तेल त्वचा के रूखेपन से बचाए

नारियल का तेल में मॉइश्चराइजिंग गुण पाए जाते हैं। इसे नाभि में लगाने से त्वचा का रूखापन कम होने लगता है। इसे लगाने के लिए सीधे लेट जाएं और फिर नाभि में 3 से 4 बूंद नारियल का तेल टपकाएं। 10 मिनट तक लेटे रहें औार नाभि के आसपास मसाज करें। 3 से 4 दिन लगातार इस अभ्यास को करने से त्वचा पर दिखने वाला रूखापन, इचिंग और जलन की समस्या से राहत मिलने लगती है।

2. डाइजेशन के लिए नारियल तेल है फायदेमंद

शरीर में पाचनतंत्र को मज़बूत बनाने के लिए नाभि में नारियल का तेल डालकर मसाज करे। इससे पेट में ऐंठन, कब्ज, ब्लोटिंग, एसिडिटी और अपच से राहत मिल जाती है। इसके अलावा गट इंफ्लामेशन और आईबीएस से राहत मिल जाती है। रेगुलर नेवल ऑयलिंग से डाइजेशन को उत्तेजित करने में मदद मिलती है।

Navel oiling se digestion ko karein improve
शरीर में पाचनतंत्र को मज़बूत बनाने के लिए नाभि में नारियल का तेल डालकर मसाज करे।। चित्र: शटरकॉक

3. नारियल तेल तनाव से दिलाए मुक्ति

अपनी भावनाओं को नियंत्रित करने के लिए अन्य थेरेपीज़ के अलावा नारियल तेल का इस्तेमाल कारगर साबित होता है। इसे नेवल में सर्कुलर मोशन में लगाने से शरीर में हार्मोन असंतुलन से मुक्ति मिलती है और शरीर हेल्दी व फिट बना रहता है। इसे नियमित तौर पर लगाने से एकाग्रता, चिंतन और लर्निंग पावर बढ़ने लगती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

4. चेहरे के लिए है नेचुरल मॉइश्चराइज़र

नारियल तेल में मौजूद फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंटस की मात्रा स्किन नरिशमेंट में मदद करती है। इससे त्वचा का रूखापन कम होने लगता है। साथ ही त्वचा में बढ़ने वाली फ्री रेडिकल्स की समस्या हल हो जाती है। नेवल ऑयलिग से त्वचा मॉइश्चराइज़ रहती है और स्किन संबधी समस्याओं से भी मुक्ति मिल जाती है।

जानें नाभि पर तेल लगाने की विधि

इसके लिए सबसे पहल नाभि को क्लीन कर लें और मौजूद डस्ट को साफ कपड़े की मदद से हटा दें। इसके बाद गुनगुने पानी में कपड़े को भिगोकर नाभि के आसपास रगड़े ताकि बैड बैक्टीरिया से बचा जा सके। इसके बाद नारियल का तेल लें और उसकी 3 से 4 बूंदों को नाभि में टपकाएं। अगर खुजली महसूस होने लगे, तो रूक जाएं। नाभि में तेल डालने के बाद 10 मिनट तक लेटे रहें। इससे तेल शरीर में पहुंचने में मदद मिल जाती है।

ये भी पढ़ें- Navel Oiling : नाभि में हींग का तेल लगाने से हर रोग रहता है दूर, ये है मेरी मम्मी का बताया नुस्खा

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख