अपनी ओवरऑल हेल्थ को सुधारना है, तो सप्ताह में एक बार जरूर लें मिक्स सीड्स डाइट

अलग-अलग तरह के बीजों में कई सूक्ष्म पोषक तत्व होते हैं। जिन्हें आप अकसर अपनी रोज़ की दौड़भाग में नजरंदाज कर जाती हैं। इसलिए मेरी मम्मी वीकेंड डाइट में इन्हें जरूर शामिल करती हैं।

mixed seed jar
अपनी वीकेंड डाइट के लिए इन 5 सुपरसीड्स के साथ तैयार करें अपना मिक्स सीड्स जार. चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 17 September 2022, 20:00 pm IST
  • 148

शारीरिक स्वास्थ्य हो या मानसिक सेहत सभी को बनाए रखने के लिए शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत पड़ती है। ऐसे में जरूरी न्यूट्रिएंट्स लेने के लिए हम तरह तरह के खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करते हैं। परंतु कई बार व्यस्तता के कारण मील स्किप हो जाता है। ऐसे में शरीर को आवश्यक न्यूट्रिशन देने के लिए आपके पास एक आसान और प्रभावी उपाय हैं मिक्स सीड्स (mixed seeds)। आप इन सीड्स को किसी भी वक्त कहीं भी ले सकती हैं। पर अगर हर रोज़ इन्हें लेना भूल जाती हैं, तो मेरी मम्मी की तरह आप भी इन्हें वीकेंड डाइट का हिस्सा बनाएं।

मिक्स किड्स में इस्तेमाल किए गए सभी बीज जरूरी पोषक तत्वों का भंडार होते हैं। इनमें पर्याप्त मात्रा में मिनरल और विटामिन पाए जाते हैं जो कि शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने में मदद करते हैं। मिक्स सीड्स का सेवन पेट को साफ रखता है और कॉन्स्टिपेशन जैसी समस्याओं में फायदेमंद होता है। इसके साथ ही यह ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल लेवल से लेकर ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने में मदद करता है। वहीं इज त्वचा से जुड़ी समस्याओं में भी असरदार होता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व आपके शरीर के लगभग सभी आवश्यकताओं को पूरा करने के काम आ सकते हैं।

mixed seeds benefits
मिक्स्ड सीड्स फ़ीट रहने में करेगी आपकी मदद. चित्र शटरस्टॉक।

यह आपके डाइट का एक बेहतरीन प्लांट्स सोर्स हो सकता है। इसके लिए आपको मिक्स सीड्स से भरा एक जार तैयार करना है जिसे आप कहीं भी आसानी से कैरी कर सकें। तो चलिए जानते हैं आखिर वह कौन से सीड्स हैं, जिन्हें आपको अपने जार में शामिल करना है, साथ ही जानेंगे इनके महत्वपूर्ण फायदों के बारे में।

अपनी वीकेंड डाइट के लिए इन 5 सुपरसीड्स के साथ तैयार करें अपना मिक्स सीड्स जार

1. फ्लेक्स सीड्स

रिसर्च गेट द्वारा प्रकाशित एक डेटा के अनुसार फ्लेक्स सीड्स में पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन, डाइटरी फाइबर और ए लिलोलेनिक एसिड (ALA) मौजूद होते हैं। एएलए ब्रेन डेवलपमेंट के लिए काफी जरूरी होता है। वहीं ब्लड लिपिड्स को रिड्यूस करता है और कार्डियोवैस्कुलर डिजीज की संभावना को भी कम कर देता है। इसके सभी न्यूट्रिएंट्स शरीर में सही तरीके से लगे इसके लिए इसे दरदरा पीस लें।

2. चिया सीड्स

इंडियन एसोसिएशन ऑफ डर्मेटालजिस्ट, वेनेरोलॉजिस्ट एंड लेप्रोलॉजिस्ट्स मेरठ के सेक्रेटरी डॉक्टर अनुराग आर्य चिया सीड्स के फायदों के बारे में बताते हुए कहते हैं की “चिया सीड्स ओमेगा 3 फैटी एसिड, एएलए, ओमेगा 6 फैटी एसिड, लिनोलिक एसिड, के साथ ही जिंक, प्रोटीन, कॉपर, पोटेशियम, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, फास्फोरस, कैल्शियम, मैग्नीशियम का भी एक अच्छा स्रोत है। सभी पोषक तत्व समग्र सेहत के साथ हीं त्वचा से जुड़ी समस्याओं में भी काफी फायदेमंद होते हैं।

apne dher saare faaydon ke saath omega3 kaa bhee sors hai chia
अपने ढेर सारे फायदों के साथ ओमेग3 का भी स्रोत है शिया चित्र : शटरस्टॉक

खास कर रूखी और बेजान त्वचा में अक्सर खुजली और रैशेज की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में चिया सीड्स का सेवन आपके लिए लाभदायक हो सकता है।” इसके साथ ही यह लंबे समय तक संतुष्ट रखता है और ब्लड शुगर लेवल को भी रेगुलेट करता है। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं।

3. तिल

रिसर्चगेट द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार तिल में प्रोटीन, डाइटरी फाइबर और कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके साथ ही यह आयरन, मैग्नीशियम, मैंगनीज, कॉपर, कैल्शियम, विटामिन बी और विटामिन ई का एक अच्छा स्रोत होता है। वहीं इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेटिव एजेंट सेल्स में होने वाले ऑक्सीडेटिव डैमेज को रोकते हैं। इसके साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर और हार्ट डिजीज में फायदेमंद होते हैं।

4. सनफ्लावर सीड्स

सनफ्लावर के बीच में मौजूद मैग्नीशियम इसकी गुणवत्ता को काफी ज्यादा बढ़ा देते हैं। वहीं इनमें मौजूद एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी कोलेस्ट्रॉल लेवल, कार्डियोवैस्कुलर डिजीज और हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित में मदद करती हैं। इसके साथ ही इनमें मौजूद विटामिन और मिनरल जैसे कि जिंक और सेलेनियम इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये रखने में मदद करते हैं और बीमारी फैलाने वाले वायरस और बैक्टीरिया को हावी होने से रोकते हैं।

pumpkin-seeds
कद्​दू के बीज डायबिटीज पेशेंट के लिए फायदेमंद होते हैं। चित्र:शटरस्टॉक

5. पंपकिन सीड्स

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के अनुसार पंपकिन सीड्स में कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जैसे कि प्रोटीन, पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन जैसे की कैरोटेनॉइड्स और टोकोफेरॉल। वहीं यह जिंक और सेलेनियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत है। इसका सेवन गठिया, हाइपोग्लाइसीमिया, ब्रेस्ट, लंग्स और कोलोरेक्टल कैंसर, के साथ ही गैस्ट्रिक जैसी समस्या को नियंत्रित रखने में भी मदद करता हैं।

6. हेम्प सीड्स

हेम्प सीड्स प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है। वहीं पब मेड सेंट्रल द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन में हेम्प सीड्स में मौजूद प्रोटीन की क्वालिटी को अन्य प्लांट प्रोटीन सोर्स से बेहतर बताया गया है।

इसके साथ ही इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर, मोनोसैचुरेटेड फैट, पॉलीअनसैचुरेटेड फैट, मैग्नीशियम, थियामाइन (विटामिन b1) और जिंक की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। वहीं इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी फैटी एसिड मौजूद होते हैं। यह स्किन हेल्थ से लेकर समग्र सेहत को बनाए रखने में मदद करता है।

मिक्स किड्स में इस्तेमाल किए गए सभी बीज जरूरी पोषक तत्वों का भंडार होते हैं। चित्र शटरस्टॉक।

इस तरह तैयार करें अपना मिक्स्ड सीड्स जार

सबसे पहले पैन को लो फ्लेम पर चढ़ाएं। सभी चीजों को अलग-अलग रोस्ट करें। क्योंकि इन बीजों का साइज अलग होता है, तो यह रोस्ट होने में भी अलग-अलग समय लेते हैं।

जब सभी बीज रोस्ट हो जाएं, तो इन्हें एक साथ मिला दें और पूरी तरह ठंडा होने दें।

अब यदि आप चाहें तो इनमें हल्का सा काला नमक मिलाकर इनके स्वाद को बढ़ा सकती हैं।

फिर इन्हें एयरटाइट जार में बंद करके रख लें, और दिन में किसी भी वक्त एक चम्मच बीज खाएं।

यदि आप चाहे तो इन्हें दरदरा पीस कर भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

यहां हैं इन्हें डाइट में शामिल करने के अन्य विकल्प

यदि आप इन सीड्स को चबाकर नहीं खा पति हैं, तो इन्हें सलाद में मिलाकर या किसी प्रकार के अनाज में मिलाकर इसका सेवन कर सकती हैं। इसके साथ ही मिल्कशेक और अन्य डेजर्ट जैसे की खीर और सेवइयां पर टॉपिंग्स के रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं। ब्रेड टोस्ट में स्प्रेड करें।

यह भी पढ़ें : वीकेंड की थकान उतारने में मददगार है अखरोट, निखरी त्वचा के लिए इस तरह तैयार करें वॉलनट स्क्रब

  • 148
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory