हमें प्राकृतिक रूप से ठंड से बचाने के लिए मम्मी बना रहीं हैं आजकल अलग-अलग आटे की रोटियां

Updated on: 18 December 2021, 11:13 am IST

आप सब्जी या दाल कोई भी बनाएं, रोटी हर भोजन का प्रमुख हिस्सा है। पर क्या ये रोटियां आपको ठंड से बचाने में मददगार हो सकती हैं?

immunity booster aata
मेरी मम्मी आजकल हर दिन हमारे लिए एक अलग आटे की रोटियां बना रहीं हैं। चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों का मौसम हमारी इम्यूनिटी के लिए किसी चेतावनी से कम नहीं है। गिरते तापमान में ठंड से संबंधित कई बीमारियां हमें घेर सकती हैं। हालांकि कुदरत ने हमें इन छोटे-मोटे संक्रमणों से निपटने के लिए पर्याप्त साधन दिए हैं। सर्दियों में इम्यूनिटी बढ़ाने वाली कई सब्जियों और फलों के बारे में आपने सुना होगा। पर मेरी मम्मी आजकल हर दिन हमारे लिए एक अलग आटे की रोटियां बना रहीं हैं। जी हां, अगर आप भी सर्दी के मौसम में शरीर को नेचुरली गर्म रखना चाहते हैं, तो मेरी मम्मी की तरह बाजरा, ज्वार, रागी और कुट्टू के आटे को भी करें दैनिक आहार में शामिल। 

क्यों जरूरी है सर्दियों में मोटे अनाज के आटे का इस्तेमाल 

लोग अक्सर गेहूं का आटा खाते हैं। लेकिन सर्दियों के मौसम में कई और आटे बाजार में मिलते हैं जो आपकी सेहत को और बेहतर बना सकते हैं। विंटर डाइट में कुछ खास आटों को शामिल करने से या बदल-बदल के सेवन करने से आप सर्दियों में होने वाले आम वायरस से बच सकते हैं। खास बात यह है की इस तरह के आटे से बनी रोटियां ठंड के मौसम में काफी स्वादिष्ट लगती हैं। साथ ही हमारे शरीर को गर्मी पहुंचाने का काम भी करते हैं।

आज हम आपको ऐसे चार सेहतमंद आटे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी रोटियां आपको बेहद स्वादिष्ट लगेंगी। साथ ही यह आपके शरीर को गर्म रखने में भी आपकी सहायता करेगा।

1 बाजरे का आटा 

बाजरे का आटा ग्लूटेन मुक्त होता है। इसलिए इस आटे का इस्तेमाल वे लोग भी कर सकते हैं जिन्हें गेहूं के आटे से परहेज है। यह आटा फाइबर पोटैशियम से भरपूर होता है और ओमेगा 3 और आयरन का भी अद्भुत स्रोत है। सर्दियों में बाजरे की रोटी का सेवन आपके शरीर के लिए काफी लाभदायक हो सकता है इसके साथ ही शरीर को गर्म रखने में यह आपकी मदद भी करता है।

बाजरा एक और हेल्‍दी विकल्‍प है। चित्र: शटरस्‍टॉकबाजरा एक और हेल्‍दी विकल्‍प है। चित्र: शटरस्‍टॉक

2 ज्वार का आटा 

आईएफटी के अनुसार ज्वार एक प्राचीन अनाज है, जो पोएसी घास परिवार से संबंधित है। यह छोटा, गोल और आमतौर पर सफेद या पीला होता है। हालांकि कुछ किस्में लाल, भूरे, काले या बैंगनी रंग की भी होती हैं। ज्वार भी ग्लूटेन मुक्त आटा है, जो हमारे पाचन के लिए काफी फायदेमंद है। साथ ही हमारे शरीर को गर्म रखने का भी काम करता है। यह आटा शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है और हृदय स्वास्थ्य के लिए यह अद्भुत है। 

3 रागी आटा 

रागी का आटा गेहूं के आटे का बेहतरीन विकल्प है। यह बनावट में मोटा और भूरे रंग का होता है। खास बात यह है कि रागी का आटा जल्दी पक जाता है। इससे बनी रोटी वजन घटाने के काम आ  सकती हैं। यह कैल्शियम से भरी होती है। ज्यादातर मल्टीग्रेन आटे में रागी शामिल होती है।

Raagi ya Naachni aapke weight loss ke liye hai faydemandरागी या नाचनी आपके वेट लॉस के लिए है फायदेमंद। चित्र: शटरस्टॉक

 

4 कूट्टू का आटा

वैसे तो कूटू का आटा हर मौसम में उपलब्ध होता है, लेकिन सर्दियों के मौसम में भी यह अनेक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसमें विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन बी 2, राइबोफ्लेविन और नियासिन होता है। 

यह काफी शुद्ध माना गया है ,इसीलिए व्रत में इसका सेवन करना उचित होता है। इस आटे से बनी रोटी में प्रोटीन, फैट, कार्ब्स, फाइबर, पौटेशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम और आयरन भी होता है। कुट्टू के आटे की तासीर गर्म होती है, इसलिए सर्दी में इस आटे को खाना काफी फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़े : जानिए क्यों खास है मिथिला का मखाना, इसका पोषण मूल्य और स्वास्थ्य लाभ

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में