Energy booster foods: बच्चों की डाइट में शामिल करें ये 3 तरह के एनर्जी फूड्स, नहीं होगी थकान और बीमारी

क्या फिजिकल एक्टिविटीज करते वक़्त बच्चा समय से पहले थक जाता है, तो उसकी डाइट में शामिल करें एनर्जी और स्टैमिना बूस्टर कुछ खास खाद्य पदार्थ।

bacchon ko khilaen strawberry pancakes
यह बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद है। चित्र:शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 24 October 2022, 17:00 pm IST
  • 146

वर्कआउट, एक्सरसाइज करने से लेकर ऑफिस जाने और घर का कामकाज करने या फिर किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधियों में भाग लेने के लिए बॉडी को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा की जरूरत होती है। परंतु आजकल के खानपान और लाइफस्टाइल के कारण लोग कम समय में ही अधिक थकान महसूस करने लगते हैं। जिसके कारण कई बार लोगों को अपने कार्य को अधूरा छोड़ना पड़ता है।

हालांकि, ऐसी स्थिति में यदि आप शरीर में ऊर्जा शक्ति को बनाए रखना चाहती हैं, तो आपके पास पोषक तत्वों से भरपूर कई खाद्य स्रोत मौजूद हैं। अनाज, फल हो या सब्जी स्टैमिना बूस्ट करने के लिए आपके पास यह सभी विकल्प उपलब्ध हैं। यदि आपको ऑफिस से आते आते जरूरत से ज्यादा थकान महसूस होती है, तो इन खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। साथ ही यदि आपका बच्चा फिजिकल एक्टिविटीज करते वक्त समय से पहले थक जाता है, तो उनके लिए भी यह काफी कारगर रहेगा।

तो चलिए जानते हैं, इन महत्वपूर्ण खाद्य स्रोत के बारे में थोड़ा और विस्तार से।

oats and weight gain
क्या ओट्स आपका वज़न बढ़ा सकते हैं? चित्र : शटर स्टॉक

यहां हैं कुछ खाद्य पदार्थ, जो आपको इंस्टेंट एनर्जी प्रदान कर सकते हैं

स्टैमिना बूस्टर अनाज

1. ओटमील

जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार ओटमील में मौजूद मिनरल, विटामन और अन्य फेनोलिक कंपाउंड शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं और स्टैमिना बूस्ट करने में भी मदद करते हैं। इसके साथ ही यह आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता हैं और बार बार भूख नहीं लगने देता।

2. क्विनोआ

क्विनोआ को अनाज के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। प्रोटीन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर यह अनाज आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं। इसी के साथ अन्य अनाज की तुलना में अमीनो एसिड और कार्बोहाइड्रेट से युक्त क्विनोआ आपके शरीर को अधिक ऊर्जा प्रदान करता है।

3. पॉपकॉर्न

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार स्नैक्स के तौर पर आलू के चिप्स इत्यादि की जगह पॉपकॉर्न का सेवन आपके लिए ज्यादा हेल्दी होता है। वहीं पॉपकॉर्न कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। साथ ही यह फाइबर का भी एक अच्छा स्रोत है। और यह आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है।

healthy popcorn
पॉपकॉर्न को आप अपने स्‍वाद के अनुसार जैसा चाहें वैसा बना सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

स्टैमिना बूस्टर वेजिटेबल

1. हरी पत्तेदार सब्जियां

कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे कि पालक, पत्ता गोभी, इत्यादि प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट का एक बेहतरीन स्रोत होती हैं। जो शरीर को फौरन ऊर्जा देती हैं और लंबे समय तक एक्टिव रहने में मदद करती हैं। हालांकि, सुबह खाली पेट इनका सेवन न करें।

2. बीट रूट

पब मेड सेंट्रल के मुताबिक चुकंदर में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो ब्लड फ्लो को इंप्रूव करते हैं और आपको पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करते हैं। आप इसे कच्चा या फिर जूस के रूप में ले सकती हैं।

स्टैमिना बूस्टर फ्रूट्स

1. केला

केला का सेवन शरीर को इंस्टेंट एनर्जी प्रदान करता है। इसमें नेचुरल शुगर मौजूद होते हैं, साथ ही इसमें मौजूद फाइबर शुगर के डाइजेशन प्रोसेस को धीमा कर देती है। जिस वजह से आपका शरीर लंबे समय तक उर्जा से भरपूर रह सकता है। कई डाइटिशियन वर्कआउट या किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधियों में भाग लेने से पहले केला खाने की सलाह देते हैं।

Banana shake poshan ka khazana hai
बनाना शेक पोषण का खजाना है। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. सेब

सेब उन खास फलों में से है जो शरीर को लंबे समय तक ऊर्जा को बनाये रखता है। वहीं नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन में हॉर्टिकल्चर रिसर्च द्वारा प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक सेब एंटीऑक्सीडेंट का एक बेहतरीन स्रोत है, जो शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और इन्फ्लेमेशन से लड़ता है और शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है।

3. संतरा

संतरा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं। साथ ही शरीर को थकान से बचाते हैं। यदि शरीर में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट की पर्याप्त मात्रा बनी रहे तो आपका मूड अच्छा होता है और आप एंग्जाइटी और गुस्से से दूर रहती हैं।

यह भी पढ़ें :  मिठाइयों की ओवरलोडिंग कड़वी न कर दें दिवाली, पेट से लेकर हार्ट हेल्थ तक के लिए खतरनाक हैं ज्यादा मिठाइयां

  • 146
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें