Makar Sankranti Superfoods : मकर संक्रांति ये 5 सुपरफूड्स हैं सेहत का रक्षा कवच, जानिए इनके फायदे

मकर संक्रांति के दिन कई हेल्दी सुपरफूड्स खाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। चलिए जानते हैं, इन सुपरफूड्स के नाम साथ ही जानेंगे इनके फायदे।
Health Conditions hai to makar sankranti par bhi na khaye dahi
मकर संक्रांति में खाए जाने वाले कुछ खास सुपरफूड्स। चित्र: शटरस्‍टॉक
अंजलि कुमारी Published: 7 Jan 2024, 06:30 pm IST
  • 124

ठंड के मौसम का बेहद खास त्यौहार मकर संक्रांति आने वाला है। इस त्यौहार में हम सभी कई महत्वपूर्ण सुपरफूड्स और उनसे बने व्यंजनों की गुणवत्ता को सेलिब्रेट करते हैं। इसे आमतौर पर नॉर्थ इंडिया में मनाया जाता है। इस दिन कई हेल्दी सुपरफूड्स खाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। तो आज हम बात करेंगे ऐसेही कुछ खास सुपरफूड्स के बारे में, जिनका सेवन हमे स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है (Makar Sankranti foods)।

यहां हैं मकर संक्रांति में खाए जाने वाले कुछ खास सुपरफूड्स (Makar Sankranti foods)

1. तिल (sesame seeds)

मकर संक्रांति में काले और सफेद दोनों ही प्रकार के तिल का इस्तेमाल किया जाता है। इन दोनों तिलों की मदद से तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन की माने तो इनमें भरपूर मात्रा में विटामिन, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, सहित हेल्दी फैट्स और एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा पाई जाती है।

इनका सेवन ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सामान्य रखता है। साथ ही साथ ब्लड प्रेशर और इन्फ्लेमेशन को भी कम कर देता है। इतना ही नहीं तिल में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो पाचन क्रिया के लिए बेहद कारगर होते हैं। यह शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान कर आपको लंबे समय तक सक्रिय रहने में मदद करता है।

Adhik gud ki mithaiyo se badh sakta hai wajan
गुड़ का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बॉडी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

2. गुड़ (Jaggery)

मकर संक्रांति में गुड का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। इसे दही चुरा के साथ खाया जाता है, साथ ही साथ तमाम तरह के व्यंजनों को बनाने में इसे मुख्य सामग्री के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। रिफाइंड शुगर की जगह ऑर्गेनिक गुड का इस्तेमाल आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: ऑमलेट या उबले अंडे खा कर ऊब गई हैं? तो इन 5 आसान रेसिपीज़ के साथ करें अंडे को अपनी डाइट में शामिल

डायबिटीज के मरीज भी सीमित मात्रा में गुड़ का सेवन कर सकते हैं। साथ ही साथ यह कोलेस्ट्रॉल को मैनेज करता है और वेट लॉस में फायदेमंद होता है। यदि आप उचित मात्रा में सही क्वालिटी का गुड खाती हैं, तो इससे लंग्स डैमेज को भी प्रीवेंट किया जा सकता है।

3. मूंगफली (Peanuts)

मूंगफली मकर संक्रांति में खाए जाने वाला एक बेहद प्रचलित सुपरफूड है। वहीं इसे विंटर सुपरफूड के नाम से भी जाना जाता है। सर्दियों में यह सेहत के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। मूंगफली में भरपूर मात्रा में फाइबर, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक, विटामिन बी, विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा पाई जाती है।

इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बेहद कम होता है, और इसके सेवन से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है। इसके साथ ही इसमें मौजूद विटामिन ई हृदय संबंधी समस्याओं के खतरे को कम कर देती हैं।

dahi ka sevan hai faydemand
विटामिन बी12 का एक अच्छा स्रोत है दही। चित्र : अडॉबीस्टॉक।

4. दही चूड़ा (curd and rice flakes)

दही चूड़ा एक पारंपरिक डिश है, जिसे आमतौर पर यूपी और बिहार में बेहद पसंद किया जाता है। यह मकर संक्रांति में खाए जाने वाला सबसे आम डिश है। दही कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, विटामिन B2, विटामिन B12, का एक बेहतरीन स्रोत है। यह पाचन एवं हड्डियों की सेहत के लिए बेहद कारगर होता है। वहीं चुड़ा में स्टार्च और कार्ब दोनों की मात्रा बेहद कम होती है, इस प्रकार इन्हें पचाना बेहद आसान हो जाता है।

5. पोंगल (Pongal)

पोंगल एक बेहद खास साउथ इंडियन डिश है। यह चावल, मूंग दाल और महत्वपूर्ण मसाले जैसे कि जीरा, काली मिर्च, हींग, कड़ी पत्ता और अदरक से तैयार किया जाता है। लोग इसे मकर संक्रांति के मौके पर खाते हैं। मूंग दाल प्रोटीन, फाइबर, फोलेट, विटामिन के और विटामिन सी का एक बेहतरीन स्रोत है। यह डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है, साथ ही साथ इम्यूनिटी को बूस्ट करता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

इसके अलावा हींग पाचन क्रिया को संतुलित रखता है, और खाद्य पदार्थों को आसानी से पचाने में मदद करता है। वहीं कड़ी पत्ता में एंटी डायबिटिक प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो इसे डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत खास बना देती है। अदरक की एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज इसे सर्दी-खांसी के संक्रामक को ट्रीट करने में मदद करते हैं। साथ ही साथ हाई ब्लड प्रेशर की स्थिति में कारगर होता है।

यह भी पढ़ें: ज्यादा देर तक बैठना कूल्हों की मांसपेशियों में ला देता है तनाव, हिप मोबिलिटी बढ़ाने के लिए करें इन 3 योगासनों का अभ्यास

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख