फास्टिंग डाइट में भी शामिल किया जा सकता है क्विनोआ, यहां हैं इसके 5 सेहत लाभ

क्विनोआ (Quinoa) से बने व्यंजन नवरात्रि के व्रत (navratri fasting) में शरीर के जरूरी पोषक तत्वों (nutrition) की कमी को पूरा कर सकते हैं। यह सुपाच्य भोजन आपके पेट के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

quinoa ek faayde anek
किनोआ एक फायदे अनेक . चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated on: 25 April 2022, 15:08 pm IST
  • 100

नौ दिनों के इस नवरात्रि (Navratri) का त्योहार आज सांतवें दिन के साथ अपने समापन की ओर बढ़ रहा है। मां दुर्गा की उपासना में आप में से कई लोग उपवास (fasting) पर होंगे। जबकि कुछ लोग सप्तमी या अष्टमी को भी व्रत रखते हैं। उपवास के साथ-साथ अपनी सेहत का भी ख्याल रखना जरुरी है। इसलिए यह जरूरी है कि हम उन फूड्स को भी अपनी डाइट में शामिल करें जो आपको पोषण दे सकें। ज्यादातर लोग इन दिनों में सिर्फ आलू पर ही फोकस करते हैं। जबकि और भी कई सुपरफूड हैं, जिनका आप नवरात्रि उपवास में सेवन कर सकती हैं। ऐसा ही एक सुपरफूड है क्विनोआ। क्योंकि यह अनाज नहीं एक बीज है, इसलिए नवरात्रि व्रत में इनका सेवन किया जा सकता है। आइए जानते हैं क्विनोआ के स्वास्थ्य लाभ (Quinoa health benefits)। 

अनाज नहीं सीड्स हैं क्विनोआ 

नवरात्रि उपवास में स्वच्छ और शुद्ध भोजन करने की परंपरा है। इस दौरान आपके शरीर को जरूरी पोषण नहीं मिल पाते। ऐसे में पोषक तत्वों (nutrition) की कमी को पूरा करने के लिए आहार में क्विनोआ के बीज (quinoa seeds) से बने व्यंजनों को शामिल कर सकती हैं। क्विनोआ आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह अवधारणा बानी हुई है की क्विनोआ अनाज है, परन्तु आपको बता दें कि यह अनाज नहीं स्यूडोसिरियल (pseudo cereal) है, जो एक प्रकार के अमरांथ पौधे का बीज होता है।

quinoa aapke liye faydemand hai
क्विनोआ सुपरफूड है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्विनोआ पर्वत और जंगलों में पाए जाने बाले एक प्रकार के फूलदार पौधे का बीज (quinoa seeds) होता है। ज्यादातर यह दक्षिण अमेरिका के एंडीज पर्वत पर पाया जाता है। क्विनोआ के पौधों (quinoa plant) की ऊंचाई करीब एक से दो मीटर लम्बी होती है। खाने में मुख्य रूप से इसके बीजों को उपयोग किया जाता है। इस बीज में कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते है। वहीं आयुर्वेद में इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की औषधियों को बनाने में किया जाता है।

नवरात्रि व्रत (Navratri fasting) में भी कर सकती हैं क्विनोआ का सेवन

उपवास (fasting) में हल्का और सुपाच्य भोजन लेना चाहिए। क्योंकि लंबे समय तक पेट खाली रहने के कारण आपको गैस, एसिडिटी और कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। बढ़ती गर्मी में उपवास के दौरान शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषण  (nutrition) देना बहुत जरूरी है। ऐसा न केरने से आपको डिहाइड्रेशन, कमजोरी के साथ कई अन्य समस्याएं हो सकती हैं। 

आपको बता दें कि प्रोटीन, फाइबर और कई अन्य पोषक तत्वों से भरपूर क्विनोआ आपको इन सभी परेशानियों से निजात दिला सकता है। व्रत (navratri fasting) के दौरान इसका सेवन आपके शरीर को ताकत देने के साथ पेट की समस्यायों को भी दूर रखता है। आगे जानेंगे इसमें मौजूदा पोषक तत्व और उनके स्वास्थ्य लाभ के बारे में।

क्विनोआ खाने से इन पोषक तत्वों की कमी होगी पूरी

प्रोटीन से भरपूर क्विनोआ (quinoa) में एमिनो-एसिड (amino acid), लाइसिन मौजूद होता है, जो पूरे शरीर में स्वस्थ ऊतकों के विकास को बढ़ावा देता है। कीनुआ आईरन, मैग्नीशियम, विटामिन ई, पोटेशियम और फाइबर का भी एक अच्छा स्रोत होता है। यह सभी पोषक तत्व आपके शरीर के लिए अधिक महत्वपूर्ण है। आपको बता दें कि पोषक तत्वों से युक्त इस बीज को अमेरिका, यूरोप, चीन और कनाडा में एक प्रमुख भोजन के तौर पर उपयोग किया जाता है।

wazan ghtaane ke liye faydemand hai quinoa
क्विनोआ में पाए जाते है यह पोषक तत्व। चित्र : शटरस्टॉक

सेहत के लिए फायदेमंद हैं क्विनोआ के ये तीनों प्रकार 

देखा जाए तो पूरे विश्व में लगभग 120 प्रकार का क्विनोआ पाया जाता है। परंतु आज हम बात करेंगे सबसे ज्यादा उपयोग होने वाले वह 3 किस्म के क्विनोआ के बारे में। जिनमें मौजूद पोषक तत्व हमारी सेहत के लिए अधिक महत्वपूर्ण होते हैं।

  1. लाल क्विनोआ (Red quinoa)

लाल रंग का यह कीनुआ सलाद जैसे व्यंजनों के साथ लिया जाता है। लाल कीनुआ पकने के बाद भी अपने रंग और आकार को बनाए रखता है। साथ ही यह आपकी सेहत के लिए भी अधिक फायदेमंद है। 

  1. सफेद क्विनोआ (White quinoa)

सफेद क्विनोआ को आम भाषा में हाथीदांत कीनुआ और आइवरी कीनुआ के नाम से जाना जाता है। यह आमतौर पर किसी भी बाजार में आसानी से मिल जाएगा। हालांकि, सफेद कीनुआ को पकाने में बहुत कम समय लगता है। 

  1. काला क्विनोआ (Black quinoa)

काला क्विनोआ स्वाद में मीठा होता है। साथ ही यह पकने में काफी लंबा समय लेता है। खाने में पकने के बाद भी इसका मूल रंग बना रहता है।

जानिए क्यों आपको अपने उपवास के आहार में जरूर शामिल करना चाहिए क्विनोआ 

पब मेड द्वारा क्विनोआ (quinoa) पर किये गए एक रिसर्च में देखा गया कि क्विनोआ के पौधे (quinoa plant) में यूनिक फाइटोकेमिकल कंपोजिशन और हाई न्यूट्रीशनल वैल्यू पाए जाते हैं। इसमें मौजूदा न्यूट्रीशन ह्यूमन बॉडी के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते हैं। इसीलिए विश्व में कई जगहों पर मालनूट्रिशन (कुपोषण) और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में कीनुआ का प्रयोग दवाईयों के तौर पर किया जाता है। 

motape ki samasya se dilaye rahat
मोटापे की समस्या से दिलाये राहत। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. वेट लॉस में मददगार है क्विनोआ 

क्विनोआ का सेवन बढ़ते वजन और मोटापे की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें मौजूदा बीटाइन (Betaine) मोटापे को नियंत्रित रखने में मदद करता है। गेहूं, चावल और ओट्स खाने से अधिक भूख लगती है और आप बार-बार खाना खाती हैं। जिसके कारण वजन बढ़ने जैसी समस्या हो सकती है। परंतु क्विनोआ भूख को नियंत्रित रखता है। साथ ही शरीर को जरूरी पोषक (nutrition) देने का भी काम करता है। यदि आप वजन बढ़ने की समस्या से परेशान हैं, तो इसका सेवन कर सकती हैं।

  1. कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) को कंट्रोल करने और हृदय की समस्यायों में कारगर

क्विनोआ हृदय की समस्याओं (heart disease) में भी कारगर होता है। क्वीनोवा में ट्राइग्लिसराइड सीरम को कम करने का प्रभाव होता है। जिससे हृदय संबंधित समस्याओं को नियंत्रित रखा जा सकता है। वहीं, दूसरी ओर क्वीनोआ में मौजूदा पोटेशियम हृदय की धड़कन को नियंत्रित रखने का काम करते हैं। वहीं यह बॉडी में गुड कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) को बढ़ाने में मदद करता है। 

  1. डायबिटीज को नियंत्रित रखें

क्विनोवा डायबिटीज (diabetes) की समस्या में अधिक फायदेमंद माना जाता है। इसके बीज शरीर मे ग्लूकोज स्तर और लिपिड प्रोफाइल के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं। दिन में दो बार इसके सेवन से डायबिटीज के मरीज अपने शरीर में इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाकर ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकते हैं।

Blood sugar level ko control krta hai.
डायबिटीज में फायदेमंद होता है किनुआ का सेवन। चित्र शटरस्टॉक।
  1. पाचन की समस्या से दिलाए राहत

क्विनोआ में मौजूद फाइबर आंत में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ा देता हैं,  जो आपके खाने को जल्दी और ठीक तरह से पचाने में मदद करता हैं। इसलिए यह पाचन क्रिया (digestion) को मजबूत करने के लिए प्रयोग किया जाता है। वहीं, क्विनोआ एक ग्लूटेन फ्री फूड है इसलिए जिन लोगों को ग्लूटेन से एलर्जी है, वह इसको अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

  1. मेटाबॉलिज्म में सुधार के लिए फायदेमंद

क्विनोआ पाचन के साथ-साथ शरीर को पर्याप्त ऊर्जा और पोषण देने का भी काम करता है। इसमें मौजूदा अमीनो एसिड, कार्बोहाइड्रेट, लिपिड और मैक्रोन्यूट्रिएंट्स शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का काम करते हैं।

यह भी पढ़ें:   Black Pepper Vs Red Chilli : जानिए स्वास्थ्य के लिए क्या है बेहतर लाल मिर्च या काली मिर्च

  • 100
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी- नई दिल्ली में जर्नलिज़्म की छात्रा अंजलि फूड, ब्लॉगिंग, ट्रैवल और आध्यात्मिक किताबों में रुचि रखती हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory