और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

ओम का जाप दे सकता है आपको मानसिक और आध्यात्मिक शांति

Published on:22 November 2021, 19:30pm IST
ओम एक मंत्र या वाइब्रेशन और एक ध्यान अभ्यास है जो आपके चिंतित मन और थके हुए शरीर को शांत कर सकता है। चलिए जानते हैं इसके और क्या लाभ हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 113 Likes
om for meditation
हिंदू संस्कृति के अनुसार, इसे ब्रह्मांड की पहली ध्वनि कहा जाता है. चित्र : शटरस्टॉक

एक मंत्र है जो आमतौर पर योग या ध्यान सत्र की शुरुआत और अंत में इस्तेमाल किया जाता है।  क्या आप इसके नाम का अनुमान लगा सकते हैं?  हां, यह ॐ है। हालांकि ॐ का जाप एक छोटा शब्द प्रतीत हो सकता है, माना जाता है कि इस मंत्र में उच्च आध्यात्मिक और रचनात्मक शक्ति है। वास्तव में, हिंदू संस्कृति के अनुसार, इसे ब्रह्मांड की पहली ध्वनि कहा जाता है। इसलिए इसे ब्रह्मांड में सबसे महत्वपूर्ण और शक्तिशाली ध्वनि माना जाता है।

यह एक महान अभ्यास है, जो एक ही समय में शरीर और मन को सक्रिय करता है। जब सही ढंग से जप किया जाता है, तो यह शरीर को बहुत अधिक सकारात्मकता, शांति और ऊर्जा से भर देता है। योग विशेषज्ञ अक्षर का कहना है, “ओम के जाप को सामुहिक चेतना का अभ्यास माना जा सकता है। प्रतिदिन ओम का जाप करने से आपकी आवृत्ति और ऊर्जा को बढ़ाने की क्षमता होती है।”

उन्होंने आगे कहा, “ओम का जाप भगवान के करीब लाता है। आपके और भगवान के बीच यह संबंध आपके भीतर एक रसायन को उत्तेजित करता है जो आनंद और खुशी का कारण बनता है।”

मेडिटेशन से पाएं तनाव से छुटकारा चित्र : शटरस्टॉक

इस शक्तिशाली मंत्र के कुछ आश्चर्यजनक लाभ हैं और यह हमें सभी नकारात्मक ऊर्जाओं और विचारों से बचाता है। दरअसल, हाल ही में हुए एक अध्ययन से यह साबित होता है कि 432 हर्ट्ज आवृत्ति पर ओम का जाप सुनना आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।

यहां जानिए ॐ का जाप करने से क्या होते हैं लाभ

  1. यह आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है।
  2. किसी भी तरह के तनाव को दूर करता है और आपको चिंता से मुक्त करता है।
  3. आपको अपनी भावनाओं को संतुलित करने और तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी शांत रहने में मदद करता है।
  4. जाप करने से कंसंट्रेशन बेहतर होता है।
  5. सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण करता है और आपको अधिक आशावादी बनाता है।
  6. क्रोध जैसी नकारात्मक भावनाओं से दूर रहने में आपकी मदद करता है।
  7. अगर आपके पेट में दर्द है तो का जाप करना आपके लिए रामबाण इलाज होगा।
  8. ओम का जाप करने से मन को शांति मिलती है और आपके पूरे अस्तित्व को तंदुरूस्ती मिलती है।
  9. यह आपके शरीर को आराम भी देता है और रक्तचाप को सामान्य स्तर तक नीचे लाता है और हृदय हमारी नियमित लय के साथ धड़कता है।

ओम के जाप के सभी लाभों को प्राप्त करने के लिए आपको कितने समय तक ओम का जाप करना चाहिए?

ओम का जाप करने से आपके पूरे शरीर में वाइब्रेशन पैदा होता है, जो एक ऐसी ऊर्जा पैदा करता है जो आपको शांत और खुश करती है। जितनी बार आप ओम का जाप करते हैं, भगवान से आपका संबंध उतना ही मजबूत होता जाता है।

ग्रैंड मास्टर अक्षर ने सुझाव देते हुए कहा, “शुरुआत में आप 108 बार से शुरू कर सकते हैं और धीरे-धीरे इसे 200-300 तक बढ़ा सकते हैं और महीने में एक बार 1008 बार जाप भी कर सकते हैं। ओम का जाप करने का आदर्श समय सुबह 6, दोपहर 12 बजे और शाम 6 बजे है, इसे संध्या काल या शुभ समय के रूप में जाना जाता है।

मेडिटेशन आपके स्वास्थ के लिए है बेहद फायदेमंद। चित्र: शटरस्टॉक

लेकिन यह भी समझना जरूरी है कि जाप समय या किसी विशेष शुभ अवसर से परे होता है।  आप जितनी बार चाहें उतनी बार ओम का जाप कर सकते हैं और अपनी सुविधानुसार किसी भी समय कर सकते हैं।  

अक्षर ने कहा, “ओम एक सार्वभौमिक प्रतीक और ध्वनि है जो हवा और पानी की तरह ही सभी के लिए है। जब तक आप अपने दिल में विश्वास रखते हैं, तब तक आप जाप का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

यह भी पढ़े : एक मजबूत सपोर्ट सिस्टम आपको कमजोर महसूस करने से बचा सकता, यहां जानिए कैसे

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।