वैलनेस
स्टोर

मन को शांत करने के लिए इन 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों पर कर सकती हैं भरोसा

Published on:25 July 2021, 11:00am IST
आपके मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करने के कई तरीके हैं। अगर आपको शांत होना मुश्किल लगता है, तो आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों की मदद लें और आराम करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 84 Likes
खुद को शांत रखने के लिए अपनाएं ये हर्ब्स. चित्र : शटरस्टॉक
खुद को शांत रखने के लिए अपनाएं ये हर्ब्स. चित्र : शटरस्टॉक

लंबे समय तक काम करने, व्यक्तिगत और व्यवसायिक प्रतिबद्धताओं को पूरा करने और हमारे जीवन के कई अन्य पहलुओं का हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ सकता है। ऐसे में चिड़चिड़ापन और थकान महसूस होना स्वाभाविक है, लेकिन मन की यह स्थिति आपके फैसलों को भी प्रभावित करती है। मगर, इस स्थिति पर विराम लगाने और अपने मूवमेंट्स को नियंत्रित करने का एक समग्र तरीका है।

क्या आप जानते हैं कि आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन आपको आराम करने में मदद कर सकता है, जिससे आपके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिलती है? हां, यह सच है! लेकिन सवाल उठता है कि ये कौन सी जड़ी-बूटियां हैं जो यह कर सकती हैं? आइए जानते हैं।

यहां कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां दी गई हैं, जो आपको शांत महसूस करने में मदद कर सकती हैं

1. अश्वगंधा

आमतौर पर भारतीय अश्वगंधा को जिनसेंग के रूप में जाना जाता है। यह जड़ी-बूटी एडाप्टोजेन्स से भरी होती है, जो शरीर को तनाव को नियंत्रित करने में मदद करती है। यह मस्तिष्क के कार्य को बढ़ाने में भी मदद करती है और कोर्टिसोल के स्तर में सुधार करती है। साथ ही, रक्त शर्करा को कम करती है। स्वस्थ मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बढ़ावा देकर, यह आपके मूड को बेहतर बना सकती है। यह अवसाद और चिंता को दूर रखने में भी सक्षम है।

मन को शांत रखने के लिए अश्वगंधा आपकी मदद कर सकता है आपकी मदद। चित्र-शटरस्टॉक
मन को शांत रखने के लिए अश्वगंधा आपकी मदद कर सकता है आपकी मदद। चित्र-शटरस्टॉक

2. ब्राह्मी

निवारक स्वास्थ्य और समग्र कल्याण चिकित्सक, डॉ संदीप जस्सल का सुझाव है “ब्राह्मी नैदानिक ​​मानसिक स्वास्थ्य रोगों के इलाज और दैनिक जीवन के तनावों से निपटने के लिए एक शक्तिशाली जड़ी-बूटी है।

ब्राह्मी में मौजूद एक जैव-रासायनिक बैकोसाइड मस्तिष्क के ऊतकों के पुनर्निर्माण में मदद करता है और इसलिए स्मृति, एकाग्रता और बुद्धि पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। ब्राह्मी कोर्टिसोल को लक्षित करती है, जिसे व्यापक रूप से “तनाव हार्मोन” के रूप में जाना जाता है, जो तनाव और हल्की एंग्जायटी को प्रबंधित करने में मदद करती है। यह जड़ी-बूटी अल्जाइमर के लक्षणों को भी कम करने का काम करती है।”

3. गुडुचि

गुडुचि को आमतौर पर गिलोय के नाम से जाना जाता है। संस्कृत में, इसका अर्थ है “जो शरीर को रोगों से बचाता है”। यह अवसाद के इलाज में काफी मददगार है, और तनाव को संतुलित करने और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद करती है।

4. हल्दी

हल्दी को व्यापक रूप से भारत में कई खाद्य व्यंजनों और घरेलू उपचारों में इस्तेमाल किया जाता है। यह मसाला एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ एक एंटीऑक्सीडेंट भी है। हल्दी में करक्यूमिन होता है, और यह रक्त प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है जो हृदय रोगों को रोकता है।

यह brain-derived neurotrophic factor (BDNF) को बढ़ावा देने में भी मदद करता है, जो अवसाद और अल्जाइमर जैसी मानसिक बीमारियों से बचाता है।

डार्क अंडरआर्म्स को ठीक खरने के लिए हल्दी का करें इस्तेमाल। चित्र-शटरस्टॉक
हल्दी एक बेहद गुणकारी औषधी है। चित्र-शटरस्टॉक

5. मंडुकपर्णी

मंडुकपर्णी या खुलकुडी एक भारतीय सुगंधित जड़ी-बूटी है, जो मानसिक सतर्कता और अच्छी याददाश्त के लिए अत्यधिक फायदेमंद है। तेज स्मृति शक्ति प्राप्त करने के लिए जड़ी बूटी का नियमित रूप से उपयोग किया जा सकता है। मंडुकपर्णी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने और विनियमित करने में मदद करती है, और दिन में दो बार एक कैप्सूल आपको ब्रेन फ़ॉग से छुटकारा पाने में मदद करेगा।

अंत में

मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से निपटना आसान नहीं है, और यह और भी कठिन हो जाता है, जब समाज इसे स्वीकार नहीं करता है। 21वीं सदी में, लोग बीमारी को केवल उदासी की भावना के रूप में तुच्छ समझते हैं जिसे कोई भी अनदेखा कर सकता है। माता-पिता, दोस्तों और परिचितों के डर से किसी भी पीड़ित व्यक्ति के लिए बात करना मुश्किल हो जाता है।

डॉ जस्सल का मनना है कि “आयुर्वेदिक दवाएं जो इन जड़ी-बूटियों से बनती हैं, समग्र उपचार के विज्ञान पर काम करती हैं। इसका मतलब है कि लंबे समय में अस्थायी परिणाम दिखाने के बजाय व्यक्ति की समस्याएं समय के साथ ठीक हो जाती हैं। आयुर्वेद व्यक्ति के चक्रों को साफ करने में मदद करता है।”

तो, अगली बार जब आप उदास और थका हुआ महसूस करें, तो इन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों की मदद लें और अपनी इंद्रियों को शांत करें।

यह भी पढ़ें : मास्क पहनने में क्या आपको भी संकोच या शर्म महसूस होती है? तो जानिए इसे कैसे छोड़ना है

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।