माइंड को डिटॉक्स कर, शांत महसूस करना है तो ट्राय करें ये 7 महत्‍वपूर्ण उपाय

हमारे आस-पास बहुत कुछ होने के कारण अच्‍छी चीजों को नजरंदाज करते जाना स्‍वभाविक है। यही कारण है कि अपने माइंड को डिटॉक्स करना और आंतरिक शांति खोजना महत्वपूर्ण है।
कॉम्‍बुचा टी बेहतरीन डिटॉक्‍स है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कॉम्‍बुचा टी बेहतरीन डिटॉक्‍स है। चित्र: शटरस्‍टॉक
Devina Kaur Updated: 12 Oct 2023, 06:04 pm IST
  • 78

हम एक वैश्विक महामारी के साथ जी रहे हैं, जिसने माहौल को काफी हद तक बदल दिया है। विशेष रूप से जब हमारा सामाजिक संपर्क टूट जाता है। हम वास्तव में लगातार भय, असुरक्षा और अनिश्चितता के साथ जी रहे हैं।

बदलाव ही सबसे बड़ा सच है। इसके अलावा कुछ मायने नहीं रखता है। जब हम अपनी भावनाओं को अपनी वास्तविकता से अलग करना सीखते हैं, तो हम वास्तव में शक्तिशाली बन जाते हैं।

सवाल यह है कि क्या आप इसे हासिल कर सकते हैं? सरल भाषा में कहें तो आप अपने माइंड को डिटॉक्सिफाई करके ऐसा कर सकती हैं। हम बता रहे हैं खुश रहने के सात आसान तरीके

1. ध्यान लगाएं

आपके आस-पास और आपके भीतर मौन और शांति आपको उन सभी जवबाों को खोजने की अनुमति देती है, जिन्हें आप स्वयं के बाहर देख रहे हैं। इसलिए ध्यान और प्रार्थना की कोशिश करें। अगर आपने पहले कभी ऐसा नहीं किया है, तो अभी से इसकी शुरुआत करें।

2. काम

चलिए इसका सामना करते हैं, हम में से ज्यादातर लोग घर के काम करना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी माइंडफुलनेस के साथ गृह कार्य के संयोजन के बारे में सोचा है? अपने दैनिक कामों को डिटॉक्स करने के तरीके के रूप में करें।

आप दैनिक कार्यो में भी अपने लिए खुशी ढूंढ सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
आप दैनिक कार्यो में भी अपने लिए खुशी ढूंढ सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

व्यंजन बनाते हुए, खाना बनाते समय या यहां तक कि सफाई करते समय, आप अतीत के बारे में सोचने या भविष्य के बारे में चिंता करने के बजाय, चेतना में मौजूद होने की कोशिश कर सकते हैं। जितना अधिक आप इसे करते हैं यह उतना आसान हो जाता है।

3. अहंकार

अपने मन के साथ दोस्ती करें। जब हम अपने अहंकार के साथ दोस्ती करते हैं, तो हम खुद के दोस्त बन जाते हैं। पर तभी जब हम अपनी ताकत और कमजोरियों को समझकर उन पर काम करना शुरू कर देते जानते हैं। इस तरह हम वास्तव में अपने दिमाग को डिटॉक्स कर सकते हैं और मानते हैं कि हमारा खुद का कोई भी हिस्सा दुश्मन नहीं है।

अपने बारे में बात करें, अपने स्‍वाभिमान से दोस्ती करें और इस आत्म-खोज के साथ मज़े करें। उदाहरण के तौर पर, जैसे मेरे अहंकार का मान क्लाउडिया है, और वह बहुत नाटकीय है। मुझे लगातार उसे और अधिक ज़ेन (zen) होने की याद दिलानी पड़ती है।

4. फोकस

अपने स्वास्थ्य पर फोकस करें! एक्सरसाइज करना उस पल में होने का सबसे आसान तरीका है। चाहे वह एक दैनिक योग अभ्यास हो, मार्शल आर्ट या बस मानसिक स्वास्थ्य को फिर से जीवंत करने के लिए टहलना। यह जानने के बाद कि व्यायाम अपने आप से जुड़ने का सबसे अच्छा तरीका है, जब आप टहलने के लिए निकलते हैं, तो वह ज्‍यादा अच्‍छे प्रभाव देता है।

पैदल चलने से आपको रात में अच्छी नींद आती है। चित्र-शटरस्टॉक।

टहलते हुए एक पेड़ को गले लगाना, गुलाबों को सूंघना, घास पर नंगे पांव चलना न भूलें। अगर आप नंगे पैर चल सकते हैं, तो इससे हमें पृथ्वी की ऊर्जा से संबंध बनाने में मदद मिलती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. लगातार आभार व्यक्त करना

आपके पास जो कुछ भी है उसके लिए आभार व्यक्त करना वास्तव में एक शक्तिशाली सहयोगी है। इसलिए अक्सर मैं अपने कुत्ते को देखती हूं, जिसे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं, और मैं उन्हें इसके लिए उनका धन्यवाद करती हूं कि उन्होंने मुझे अपनी देखभाल के लिए चुना।

मेरे कुत्ते से बात करने और उसका धन्यवाद करने के पाठ की इस छोटी सी कार्रवाई से मुझे आघात और कठिन स्वास्थ्य स्थितियों से निकलने में मदद मिलती है। साथ ही मुझे अपनी भावनाओं और अपने बारे में बेहतर महसूस करने में सहायता करता है।

6. स्वयंसेवक बनें

सेवा करें! जब हम दूसरों को कुछ देते हैं, तो यह हमें पूर्ण और सशक्त होने का अहसास करवाता है। ऐसे में हम उन लोगों के बारे में सोचते हैं जो हमसे खराब स्थिति में हैं और जिनकी हम मदद कर सकते हैं। यह विचार अपने आप में आपके दृष्टिकोण को बदलने में मदद कर सकता है।

आप दूसरों की किस तरह मदद कर सकते हैं, उसके ब्‍यौरा भी यहां है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आप दूसरों की किस तरह मदद कर सकते हैं, उसके ब्‍यौरा भी यहां है। चित्र: शटरस्‍टॉक

7. अपनी भावनाओं को स्वीकार करें

जान लें कि भावनाएं कभी सही या गलत नहीं होती हैं, वे बस मौजूद होती हैं। मनुष्य के रूप में, हमें कार्य करने के लिए एक से अधिक प्रकार की भावनाओं की आवश्यकता होती है। स्वयं को अपनी सभी भावनाओं से अलग रखना याद रखें, और अधिक सांस लेने और अपने भावनाओं को स्वीकार करने का अभ्यास करें। इसे अपनी आत्म-स्वीकृति का विकल्प बनाएं।

जब हम बाहर की दुनिया के बारे में सोचते हैं, जहां दुनिया अराजकता और अनिश्चितता से भरी है, उस पर हम नियंत्रण नहीं कर सकते हैं। केवल एक चीज जिसे आप नियंत्रित कर सकते हैं वह है आप कौन हैं और जीवन में आपका क्या उद्देश्य है। तो अपने भीतर दाखिल हों, अपने माइंड को डिटॉक्स करें। अपने आप को अपनी संपूर्णता में जानें और आंतरिक प्रकाश को पाएं।

अंदर की ओर ट्यून करें। अपनी भावनाओं पर भरोसा रखें, और प्यार को महसूस करें।

यह भी पढ़ें – <a title="चिंता या अवसाद से पीड़ित हैं, तो जानें कैसे इसके बारे में अपने बॉस को बताएं” href=”https://www.healthshots.com/hindi/mind/heres-how-you-can-tell-your-boss-youre-suffering-from-anxiety-and-or-depression/”>चिंता या अवसाद से पीड़ित हैं, तो जानें कैसे इसके बारे में अपने बॉस को बताएं

  • 78
लेखक के बारे में

Devina Kaur is an inspirational speaker, radio host, and producer. She is also the author of the self-help book called "Too Fat Too Loud Too Ambitious". ...और पढ़ें

अगला लेख