बॉडी के साथ अब डिजिटल डिटॉक्स का भी समय आ गया है, इन 6 टिप्स को करें फॉलो

Published on: 10 January 2022, 17:00 pm IST

हम सचमुच अपने स्मार्टफोन के बिना नहीं रह सकते हैं। लेकिन यही समस्या की जड़ है। यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपके दिमाग को शांत करने में मदद कर सकते हैं।

Mental exercise ke liye trykare wordle
मानसिक कसरत के लिए ट्राई करें वर्डल। चित्र : शटरस्टॉक

जब डिजिटल परिवर्तन सही तरीके से किया जाता है, तो यह एक कैटरपिलर की तरह तितली में बदल जाता है। लेकिन जब गलत किया जाता है, तो यह नुकसान कर सकता है। टेक्नोलॉजी आपके रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा बन गई है। इससे ऐसे जीवन की कल्पना करना मुश्किल हो जाता है जहां आपको अपने गैजेट्स के इस्तेमाल से दूर रहना पड़ता है। अपने दोस्तों के संपर्क में रहने, नई चीजें सीखने या ऑफिस का काम करने से, आपके जीवन को और अधिक आसान बनाने के लिए तकनीक आपके लिए एक वरदान के रूप में आई थी।

यह हमारे लिए लगभग अपरिहार्य हो गया है, जहां हम अपने फोन की जांच करते रहने और यहां तक ​​कि “कंपन” का अनुभव करने की इच्छा रखते हैं। इन चीजों ने मिलकर डिजिटलीकरण के गलत पक्ष को भी बढ़ावा दिया है।

आज की दुनिया की तेज रफ्तार के साथ डिजिटाइजेशन (digitisation) का नुकसान भी खुलकर सामने आ गया है। सबसे प्रमुख प्रभावों में से एक अपने आप को आराम करने और शांत करने में कठिनाई है। इसने आपके जीवन की गुणवत्ता से समझौता किया है और उपकरणों के माध्यम से जीवन की खुशियों से ‘मिस आउट’ कर दिया है। दुनिया भर के मनोवैज्ञानिक शांत और आराम के महत्व पर प्रकाश डालते हैं, क्योंकि इससे न केवल शारीरिक रूप से बल्कि मनोवैज्ञानिक रूप से भी कई लाभ मिलते हैं। डिजिटलीकरण के इस युग में रहने से हमारे मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान हो सकता है अगर ब्रेक लेने और खुद पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कदम नहीं उठाए गए।

डिजिटलीकरण के इस युग में शांत होने के कुछ महत्वपूर्ण और सरल तरीके हैं

1. सचेतन (Mindfulness)

बहुत बार आप बिना कारण सोचे अपने फोन को स्क्रॉल कर लेते हैं। अपने आप को शांत करने के लिए, सचेत रहना यानी हम जो काम कर रहे हैं, उससे ब्रेक लेना और वर्तमान क्षण के बारे में पूरी तरह से जागरूक होना जरूरी है। यह आपके कार्यों और पर्यावरण को पूरी तरह से संसाधित करने की क्षमता है। केवल एक बार जब आप चीजों को पूरी तरह से संसाधित कर लेते हैं तो आप शांत महसूस कर पाते हैं क्योंकि यह आपके व्यस्त कार्यक्रम से ब्रेक लेने की अनुमति देता है।

2. सांस लेना (Breathing)

जब आप डिजिटल दुनिया में अत्यधिक शामिल हो जाते हैं और वास्तविक जीवन से संपर्क खो देते हैं, तो शांत होने का एक आसान तरीका सिर्फ सांस लेना है। यह सुनने में जितना आसान लगता है, उतनी ही बार आप अपने आप में इतने लीन हो जाते हैं कि अपनी सांस पर ध्यान देना भूल जाते हैं। इसका अभ्यास करने के लिए, बस एक मिनट का समय लें और डिजिटल उपकरणों से दूर रहते हुए गहरी सांसें लें।

Halkiexercise jaroori hai, jaise pranayam
हल्की एक्सरसाइज ज़रूर करें, जैसे प्राणायाम। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. डिजिटल डिटॉक्स (Digital Detox)

आप सभी कहते हैं कि गैजेट्स आपकी रोजमर्रा की जिंदगी का इतना सामान्य हिस्सा बन गए हैं कि यह कल्पना करना लगभग असंभव है कि आप उनके बिना क्या करेंगे। हालांकि, कुछ समय निकालना महत्वपूर्ण है। यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए एक दिन या कुछ दिन पूरी तरह से हो सकता है। अक्सर, इस समय को निकालने से आप अपने जीवन के नियंत्रण में अधिक महसूस करते हैं। उसी समय, ब्रेक आराम करने और शांत होने में मदद करता है।

4. लक्ष्य की स्थापना (Goal Setting)

डिजिटाइजेशन के इस दौर में अक्सर आप अपने आस-पास हो रही बहुत सी चीजों से खुद को अभिभूत महसूस करते हैं। शांत और अधिक आराम महसूस करने के लिए, लक्ष्य निर्धारित करें, आवश्यक चीजों को प्राथमिकता दें और धीरे-धीरे उनकी ओर काम करें। डिजिटलीकरण के कारण, आप बहुत सी चीजें एक साथ घटित होते हुए देख सकते हैं, और ये काफी तनावपूर्ण हो सकती हैं।

5. बाहर जाना (Go outside)

प्रौद्योगिकी की आसानी के साथ, आपके पास सब कुछ आपकी उंगलियों पर है। लेकिन क्या इसका मतलब है कि यह हमेशा स्वस्थ है? एक ब्रेक लेने के लिए, बाहर जाएं और ताजगी महसूस करें। किसी काम के लिए बाहर निकलें या टहलने जाएं। गैजेट्स के उपयोग से मुक्त होकर दुनिया का अनुभव करें।

6. रीलैक्स टूलकिट (Relaxation Toolkit)

आप में से प्रत्येक के पास अलग-अलग चीजें होती हैं जो आपको शांत महसूस करने में मदद करती हैं। कुछ के लिए यह संगीत सुनना, किताब पढ़ना या लंबे समय तक स्नान करना हो सकता है। आप अपने लिए एक आरामदेह किट बना सकते हैं, जहां आप कुछ चीजों की पहचान करते हैं जो आपको बेहतर महसूस करने में मदद करती हैं। लेकिन शांत होने और आराम महसूस करने के लिए चीजों को डिजिटल मीडिया से दूर खोजना महत्वपूर्ण है। इसलिए, जब भी चीजें भारी लगती हैं, तो आपके पास प्राथमिक उपचार होता है।

Stress release ke liye apni favourite hobby apnaye
तनाव दूर करने के लिए अपनाएं मंडल आर्ट। चित्र- शटर स्टॉक।

सारांश

डिजिटाइजेशन के दौर में जहां सब कुछ इतना तेज और अलग लगता है, ऐसे में जरूरी है कि आप अपने मानसिक स्वास्थ्य पर नियंत्रण रखें। जब चीजें बहुत भारी और बहुत तेज महसूस होती हैं, तो ब्रेक लेना एक लंबा रास्ता तय कर सकता है। कई चीजें जो आप अपने गैजेट्स के माध्यम से देखते हैं। वे हमेशा सही या वास्तविक नहीं होती हैं, इसलिए शांत और तनावमुक्त महसूस करने के लिए बार-बार ब्रेक लेना याद रखें।

यह भी पढ़ें: Motor Neuron Disease : आखिर क्या है यह बीमारी जिससे स्टीफन हॉकिंग ने किया था मुकाबला

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें