कई बार बात करना वाकई मुश्किल होता है, ऐसी स्थिति में आपकी मदद कर सकते हैं ये 8 टिप्स

सोचिए आप तनाव में हैं, तो सामने वाला भी तो तनाव में हो सकता है। इसलिए गुस्सा छोड़कर सभ्य तरीके से बातचीत शुरू करें।

tips-for-having-difficult-conversations
वाद-विवाद को हमेशा शांति से सुलझाएं। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 8 November 2022, 12:30 pm IST
  • 148

बदलती लाइफस्टाइल में तनाव बहुत बढ़ता जा रहा है। इसलिए लोगों को काफी जल्दी गुस्सा भी आ जाता है। गुस्सा और नाराज़गी में झगड़े होना आम बात है। किसी दोस्त से, परिवार के व्यक्ति से या पार्टनर से किसी भी वजह से वाद-विवाद हो सकता है। झगड़ा होना सरल है, लेकिन इसके बाद फिर से बातचीत शुरू करना काफी जटिल काम होता है। यदि आप भी अपने किसी अजीज से नाराज़गी में मुंह फुला कर बैठे हैं और अब कैसे बातचीत शुरू करें नहीं समझ पा रहे हैं तो आज हेल्थशॉट्स के इस लेख में हम आपके लिए एक्सपर्ट द्वारा दी गयी कुछ टिप्स लेकर आए हैं। जो मुश्किल मुद्दों पर भी बातचीत आसान (tips for having difficult conversations) बना सकती है।

डॉक्टर ललिता, मेन्टल हेल्थ एक्सपर्ट हैं। वे प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ से जुड़े मुद्दों पर अकसर अपने विचार साझा करती रहती हैं। मुश्किल मुद्दों पर बातचीत के बारे में वे कहती है कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस विवाद के बाद फिर से बातचीत शुरू करना चाहते हैं। कुछ टिप्स ऐसे होते हैं जो हमेशा आपके काम आ सकते हैं। जिनकी मदद से आप किसी भी मुद्दे पर सरलता से बातचीत कर सकते हैं और समाधान पा सकते हैं।

Procrastination dur karne ke tarike
अच्छी सेहत के लिए ज़रूरी है दिमाग का काबू होना। चित्र : शटरस्टॉक

1. स्पष्ट इरादे से बातचीत शुरू करें

आप जब भी किसी लड़ाई झगड़े के बाद फिर से बातचीत करना चाहते हैं। तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आप जिस मुद्दे पर बात करना चाहते हैं। उस टोपिक से बातचीत शुरू करें। जब आप बात कर रहे हो तो मुद्दे पर रहे मुद्दे से भटकने पर आप किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते। बल्कि आपकी लड़ाई और अधिक बढ़ सकती है।

2. सभ्य भाषा का प्रयोग

आप हमेशा इस बात को अपने जहन में रखें कि आप एक अच्छी और सभ्य भाषा का प्रयोग करें।यदि आप के लहजे में नम्रता होगी तो कोई भी लड़ाई झगड़ा आसानी से खत्म किया जा सकता है।

यह भी पढ़े- ग्रे हेयर को छुपाकर झड़ने से भी राेकती है कॉफी, यहां जानिए कॉफी से हेयर डाई करने का तरीका

3. बोलने का मौका दें

जब आप किसी से बात कर रहे होते हैं। तो यह हमेशा याद रखें की सिर्फ खुद नहीं बोलना है। बल्कि सामने वाले को भी बोलने का अवसर देना है। यदि सामने वाला आपको बोलने का अवसर नहीं देता है, तो आप स्वयं सामने वाले की बात खत्म होने पर बोलने का मौका लें। तब स्पष्ट तरीके से अपनी बात रखें। ऐसा करने से भी किसी नतीजे पर आसानी से आ सकते हैं।

4. सामने वाले को सुनें

लड़ाई-झगड़े को किसी भी बात को खत्म करने के लिए बेहद जरूरी है कि हम सामने वाले को सुनें कि वो क्या कहना चाहता है। और लड़ाई झगड़े को लेकर उसके मन में क्या चल रहा है। क्या आप दोनों इस मुद्दे एक ही नजरिए से देख रहे हैं या आप दोनों लड़ाई को लेकर अलग-अलग विचार रखते हैं यदि ऐसा है तो सबसे पहले सामने वाले को सुनकर फिर अपनी बात रखें।

Relation ko harm karta hai stress
रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकता है तनाव। चित्र : शटरस्टॉक

5. चीजों को वक़्त दें

किसी बात को होने के बाद जरूरी है कि आप उस बात को और पार्टनर को कुछ समय दें। जिससे आप परिस्थितियों को अच्छी तरह समझ पाए। यदि आप किसी भी तरह की जल्दबाजी करते हैं। तो उससे आपका रिश्ता खराब हो सकता है साथ ही विवाद और अधिक बढ़ सकता है।

6. समस्या पर ध्यान दें, व्यक्ति पर नहीं

एक्सपर्ट कहती हैं जब हम कभी किसी बहस में होते हैं तो हम अक्सर कुछ समस्या पर बात नहीं करते बल्कि जिस व्यक्ति से हमारी बहस हो रही होती है उसकी कमियां बताने बैठ जाते हैं। जोकि सबसे गलत है यदि आप ही यह गलती करते हैं। तो हमेशा ध्यान रखें कि बात करते वक्त अपनी समस्या पर ध्यान दें। ना कि व्यक्ति पर ऐसा करने से आप विवाद को समाप्त करके फिर से खुशहाल रिश्ता आ सकती है।

7. ईमानदार रहें

किसी भी रिश्ते में ईमानदार रहना सबसे जरूरी होता है। यदि हम अपने पार्टनर, दोस्त या फिर परिवार के किसी व्यक्ति के साथ उस रिश्ते को लेकर ईमानदार नहीं है तो हम कभी भी झगड़ा खत्म नहीं कर सकते।

8. एक वक़्त में एक विषय पर चर्चा करें

जब आप किसी विवाद के बाद बात कर रहे हैं। तो यह सुनिश्चित करें कि आप किस मुद्दे पर चर्चा करना चाहते हैं। क्योंकि अक्सर लोग किसी एक बहस में कई सारे मुद्दों को लेकर बात करने लगते हैं। जिससे ये होता है कि आप जिस मुद्दे को खत्म करना चाहते थे। वो तो नहीं सुलझता बल्कि कई पुराने मुद्दे फिर से एक बड़े विवाद के लिए कारण बन जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप एक समय में किसी एक मुद्दे पर चर्चा करें।

यह भी पढ़े- अस्थमा और फेफड़ों की सूजन से राहत दे सकता है सीताफल, आइए जानते हैं इसके 5 सेहत लाभ

  • 148
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory