एक-दूसरे से बातें छिपाना भी है अनहेल्दी रिश्ते का संकेत, जानिए रिश्ते को नुकसान पहुंचाने वाली 5 आदतें

व्यस्तता के कारण कई बार हम अपने रिश्ते की नकारात्मक चीजों को नजरअंदाज कर देते हैं, जो लांग टर्म में हमारे मानसिक स्वास्थय (mental health) के लिए बेहद हानिकारक हो सकते हैं।
unhealthy relationship
जानें अनहेल्दी रिलेशनशिप के संकेत। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 24 Jul 2023, 03:58 pm IST
  • 124

इस भागदौड़ की जिंदगी में हम सभी कहीं न कहीं अपने रिश्तों को पीछे छोड़ आगे की और बढ़ रहे हैं। ऐसे में व्यस्तता के कारण कई बार हम अपने रिश्ते की नकारात्मक चीजों को नजरअंदाज कर देते हैं, जो लांग टर्म में हमारे मानसिक स्वास्थय (mental health) के लिए बेहद हानिकारक हो सकते हैं। ऐसे में अस्वस्थ रिश्ते (unhealthy relationship) के संकेत को पहचानना और समय रहते इनपर काम शुरू करना बेहद महत्वपूर्ण है, अन्यथा यही छोटी-छोटी चीजें आगे चलकर आपके मेन्टल हेल्थ को प्रभावित करने के साथ-साथ रिश्ते के टूटने का भी कारण बनती हैं।

हेल्थ शॉट्स ने सीनियर क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट डाॅ आशुतोष श्रीवास्तव से बात की। उन्होनें अनहेल्दी रिलेशनशिप (signs of unhealthy relationship) के कुछ ऐसे संकेत बताएं हैं जिसकी जानकारी सभी को होनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं इन संकेतो के बारे में।

यहां हैं अनहेल्दी रिलेशनशिप के कुछ संकेत (signs of unhealthy relationship)

1. पार्टनर का कंट्रोलिंग व्यवहार

अनहेल्दी रिश्तों में, एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के जीवन को नियंत्रित करने का प्रयास कर सकता है। आपके पार्टनर आप पर नियंत्रण पाने के लिए आपको डराने-धमकाने की कोशिश कर सकते हैं। कभी-कभी आपके पार्टनर ऐसे व्यवहार में संलग्न हो सकते हैं जो अत्यंत स्नेहपूर्ण और प्रेमपूर्ण प्रतीत हो। वास्तव में, वे ऐसा इसलिए कर रहे होते हैं ताकि आपके ऊपर नजर रख सके। जब कभी आप उनके नियंत्रण से बाहर आने की कोशिश करती हैं, तो हो सकता वे अधिक आक्रोशित नजर आएं या अधिक नम्र।

relationship
मेंटल हेल्थ खराब होने पर संबंधों में दरार आ सकती है चित्र : एडोबी स्टॉक

कंट्रोलिंग व्यवहार स्वामित्व और ईर्ष्या का रूप भी ले सकता है। हालांकि, ये दोनों सामान्य मानवीय भावनाएं हैं जिन्हें लोग समय-समय पर अनुभव कर सकते हैं। परंतु इसकी अधिकता और अपनी इनसिक्योरिटी को पार्टनर पर थोपना कंट्रोलिंग पार्टनर होने की निशानी है।

2. रिश्ते में विश्वास की कमी

अस्वस्थ रिश्ते की सबसे बड़ी पहचान है विश्वास की कमी। इस तरह के रिश्ते में विश्वास की कमी के कारण आप दोनों एक-दूसरे से बातें छिपाना शुरू कर देते हैं। ऐसी स्थिति में दोनों में से किसी एक को भी यह महसूस हो सकता है कि वे आपसे बातें छिपा रहे हैं।

स्वस्थ विश्वास विकसित करने के लिए, किसी भी रिश्ते में दोनों पार्टनर को एक- दूसरे से खुलकर बातचीत करने और सामान्य समझदारी बनाएं रखने की आवश्यकता होती है। समय के साथ रिश्ते में विश्वास स्थापित करने के लिए दोनों पार्टनर को उनके जीवन से जुड़ी बातों पर चर्चा करनी चाहिए। बातें साझा करने और सुनने की प्रक्रिया भावनात्मक अंतरंगता और नजदीकियों में योगदान करती है।

लेकिन अगर आपको ऐसा लगता है कि आप अपनी अंतरतम भावनाओं को लेकर अपने पार्टनर पर भरोसा नहीं कर सकती हैं, तो आप उनके सामने अपने आंतरिक विचार प्रकट नहीं करती, जो दर्शाता है कि आप एक अस्वस्थ रिश्ते में हैं।

disrespect in relationship
रिश्तों में सम्मान की न करें अनदेखी, उसे बनाए रखने के लिए इन बातों का रखें ख्याल। चित्र शटर स्टॉक

3. गलत तरीके से बात करना

एक उचित कम्युनिकेशन किसी भी स्वस्थ रिश्ते की नींव होती है। किसी एक जोड़े के बात करने के तरीके से ही लोग यह अंदाजा लगा लेते हैं कि उनका रिश्ता अस्वस्थ है। यदि आपका पार्टनर समस्याओं के बारे में बात नहीं करता, कठिन मुद्दों से बचना चाहता है, दूसरे व्यक्ति की भावनाओं की उपेक्षा करता है, आपकी बात नहीं सुनना, रक्षात्मक होना, या रिश्ते में समस्याओं का सामना करने से बचने के लिए टाल-मटोल करना, सभी एक अनहेल्दी कम्युनिकेशन के संकेत हैं। जो किसी भी रिश्ते के लिए उचित नहीं।

रिश्ते में बातचीत की कमी आपके अस्वस्थ रिश्ते की सबसे बड़ी पहचान है। इस विषय पर जितनी जल्दी हो सके अपने पार्टनर से चर्चा करें अन्यथा यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है।

4. आपके असल व्यक्तित्व में लगातार बदलाव आना

स्वस्थ रिश्ते में एक पार्टनर अपने पार्टनर को विकास और आत्म-बेहतरी के लिए प्रोत्साहित करता है, लेकिन उनमें दो ऐसे लोग भी शामिल होने चाहिए, जो बिना किसी उपहास के एक-दूसरे से प्यार करते हैं और एक दूसरे की खामियों को भी स्वीकार करते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें : Headache : तनाव से लेकर ट्यूमर तक हो सकता है सिर दर्द का कारण, सावधान रहना है जरूरी

ऐसे में यदि आपको असल व्यक्तित्व या जीवनशैली में जबरन बदलाव करना पड़ रहा है तो यह दर्शाता है कि आप एक अस्वस्थ रिश्ते में हैं। इसके अलावा अपने साथी को खुश करने के लिए अपने रूप या शैली में बदलाव कर रही हैं या अपने जुनून का त्याग कर रही हैं, या अपने साथी के विचारों और राय को अधिक महत्व देना कभी स्वस्थ रिश्ते की निशानी नहीं होता।

स्वस्थ रिश्ते में दोनों की भावनाएं महत्व रखती हैं आपको किसी और के लिए खुदमें बदलाव लाने की आवश्यकता नहीं होती। हालांकि, रिश्ते में आने के बाद सकारात्मक बदलाव जरूरी है, परंतु जब आपको लगे कि ये बदलाव आपके व्यक्तित्व को प्रभावित कर रहे हैं, तो फौरन वहीं पर रुक जाना चाहिए।

toxic relationship ko kaise krna hai deal
ये लक्षण बताते हैं कि आपका पार्टनर है हिंसक और गुस्सैल, जानिए इससे कैसे निपटना है। चित्र शटरस्टॉक।

5. पार्टनर द्वारा शारीरिक अथवा भावनात्मक चोट पहुंचाया जाना

यदि दोनों में से कोई भी अपनी बात मनवाने या अपना गुस्सा शांत करने के लिए सामने वाले व्यक्ति पर हाथ उठा रहा या उन्हें शारीरिक रूप से किसी प्रकार की चोट पहुंचाता है, तो यह एक अस्वस्थ रिश्ते की निशानी है। यही नहीं अपनी बातों और प्रक्रियाओं से अपने पार्टनर को भावनात्मक रूप से आहात करना भी स्वस्थ रिश्ते की निशानी नहीं है।

यदि आपका पार्टनर आपकी मर्जी के बगैर या आपसे बिना पूछे किसी भी प्रकार की सेक्सुअल गतिविधि के लिए आप पर दबाव बना रहा है, तो यह दर्शाता है की आप एक अस्वस्थ रिश्ते में हैं। बात बढ़ने का इंतजार किये बगैर शुरुआत में ही इन गतिविधियों पर रोक लगाएं।

यह भी पढ़ें : अवसाद और चिंता की स्थिति से बाहर आने में मदद कर सकती हैं ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्स, जानें कैसे करती हैं काम

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख